Home खेल विंबलडन रद्द होने के बावजूद 950 करोड़ रुपए मिलेंगे; बीसीसीआई ने कहा-...

विंबलडन रद्द होने के बावजूद 950 करोड़ रुपए मिलेंगे; बीसीसीआई ने कहा- बीमा का प्रावधान नहीं, भविष्य में ऐसा कर सकते हैं

  • ऑल इंग्लैंड क्लब ने 2003 में सार्स महामारी के बाद अपनी बीमा पॉलिसी को अपडेट किया था
  • कोरोनावायरस के कारण टेनिस ग्रैंडस्लैम विंबलडन रद्द, अब 28 जून से 11 जुलाई 2021 को होगा

हलचल टुडे

Apr 10, 2020, 07:21 AM IST

नई दिल्ली. कोरोनावायरस के कारण विंबलडन टेनिस टूर्नामेंट का मौजूदा सीजन रद्द किया जा चुका है। इसके बाद भी आयोजकों को बीमा के तौर लगभग 950 करोड़ रुपए मिलेंगे। ऑल इंग्लैंड क्लब ने 2003 में सार्स महामारी के बाद अपनी बीमा पॉलिसी को अपडेट किया था। इसमें आतंकी हमले के अलावा महामारी को भी शामिल किया गया था। ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट के रद्द होने से आयोजकों को लगभग 2400 करोड़ रुपए के रेवेन्यू का नुकसान होने का अनुमान है। विंबलडन के चीफ एक्जीक्यूटिव रिचर्ड लेविस ने कहा कि हम भाग्यशाली हैं कि टूर्नामेंट का बीमा है। इससे काफी मदद मिलेगी। आयोजन में शामिल सभी लोग अच्छा काम कर रहे हैं। लेकिन अभी भी बहुत कुछ किया जाना बाकी है। टूर्नामेंट का आयोजन अब जून-जुलाई 2021 में किया जाएगा।

नियम जगह-जगह के हिसाब से बदलते रहते हैं
विंबलडन के बीमा के तौर पर पैसे मिलने के सवाल बीसीसीआई का कहना है कि नियम जगह-जगह के हिसाब से बदलते रहते हैं। बोर्ड के एक अधिकारी ने कहा कि विंबलडन की आईपीएल से तुलना करने से कई बातें ध्यान में रखनी चाहिए। यह देखने की जरूरत है कि भारतीय बाजार में महामारी के कारण कैंसिल होने जैसी कोई धारा है या नहीं। बीमा एक रीजन से दूसरे रीजन में बहुत अलग है। उन्होंने इंग्लिश फुटबॉलर के उदाहरण का हवाला दिया।

जैसे डेविड बेकहम ने अपने पैर का बीमा करवाया था, जबकि बीसीसीआई को भारत के कॉन्ट्रैक्ट पाने वाले खिलाड़ियों की सैलरी वेतन के नुकसान के लिए पॉलिसी के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी थी। मेरी जानकारी के अनुसार हमारे बाजार में ऐसा कुछ नहीं है। लेकिन कोरोनावायरस के कारण स्थिति में बदलाव आ सकता है। भविष्य में हम भी ऐसा कर सकते हैं। टी20 टूर्नामेंट अभी 15 अप्रैल तक के लिए स्थगित है।

दक्षिण अमेरिकी फुटबॉल फेडरेशन ने फीफा से कहा- जल्द बैठक करो
साउथ अमेरिकन फुटबॉल फेडरेशन के चीफ प्रमुख एलेजांद्रो डोमिंगुएज ने फीफा से जल्द बैठक करने को कहा है। इसमें कोरोनोवायरस के दौरान फुटबॉल क्लबों की मदद के लिए ग्लोबल फंड बनाने पर चर्चा होनी है। टूर्नामेंट रद्द होने से क्लबों को नुकसान हुआ है। इसके लिए हमने लगभग 570 करोड़ रुपए उपलब्ध कराए हैं। फीफा ने कोरोनावायरस से सामने आई समस्या से निपटने के लिए वर्किंग ग्रुप भी बनाया है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

पहला क्वालिफायर और फाइनल दुबई में, एलिमिनेटर और दूसरा क्वालिफायर अबु धाबी में होगा

दुबई15 मिनट पहलेकॉपी लिंकआईपीएल प्ले-ऑफ 5 नवंबर से 10 नवंबर तक खेले जाएंगे।बीसीसीआई ने रविवार को आईपीएल 2020 के प्लेऑफ का शेड्यूल जारी कर...

विद्या, विनय, विवेक, साहस, अच्छे काम, सत्य ये सभी बुरे समय के साथी होते हैं, इनकी मदद से हर विपत्ति दूर हो सकती है

16 घंटे पहलेकॉपी लिंकगोस्वामी तुलसीदास ने श्रीरामचरित मानस के साथ ही दोहावली, विनय पत्रिका जैसे ग्रंथों की भी रचना की हैश्रीरामचरित मानस की रचना...

ब्रिटिश कोलंबिया में पंजाब के 8 नागरिकों ने प्रोविंशियल इलेक्शन में जीत हासिल की

ओटावा37 मिनट पहलेकॉपी लिंकचुनाव में 27 भारतवंशी कैंडिडेट मैदान में थे, सभी 7 विजेता सत्तारूढ़ न्यू डेमोक्रेटिक पार्टी से हैंब्रिटिश कोलंबिया की आबादी 50...