Home ज्योतिष जब तक पूरी बात मालूम न हो, तब तक किसी पर क्रोध...

जब तक पूरी बात मालूम न हो, तब तक किसी पर क्रोध नहीं करना चाहिए

  • एक वन में महावीर स्वामी ध्यान में बैठे थे, तभी एक ग्वाला वहां पहुंचा और बोला कि मुनिश्री आप मेरी गायों का ध्यान रखना, मैं अभी गांव में दूध बेचकर आता हूं

हलचल टुडे

Apr 05, 2020, 04:52 PM IST

जीवन मंत्र डेस्क. सोमवार, 6 अप्रैल को महावीर जयंती है। महावीर स्वामी के जीवन के कई ऐसे प्रसंग चर्चित हैं, जिनमें जीवन को सुखी और सफल बनाने के सूत्र बताए गए हैं। जानिए एक ऐसा प्रसंग, जिसमें बताया गया है कि बिना पूरी बात जाने किसी पर क्रोध नहीं करना चाहिए।

चर्चित प्रसंग के अनुसार महावीर स्वामी किसी वन में एक दिन पेड़ के नीचे ध्यान कर रहे थे। तभी वहां एक ग्वाला अपनी गायों के साथ पहुंचा। उसने स्वामीजी को वहां बैठा देखा तो उसने कहा कि मुनिश्री मैं गांव में दूध बेचकर आता हूं, मेरे लौटने तक मेरी गायों का ध्यान रखना। मुनिश्री ने कोई जवाब नहीं दिया, लेकिन ग्वाला अपनी गायें वहीं छोड़कर गांव में चला गया।

गांव में दूध बांटने के बाद ग्वाला वापस मुनिश्री के पास पहुंचा। उसने देखा कि स्वामीजी ध्यान में बैठे हैं और उनके आसपास गायें नहीं हैं। उसने महावीर स्वामी से पूछा कि मेरी गायें कहां हैं? स्वामीजी ध्यान में ही थे, उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। वह ग्वाला पास के जंगल में गायों को ढूंढने निकल पड़ा। बहुत कोशिश के बाद भी उसे गायें दिखाई नहीं दीं।

जंगल से लौटकर महावीर स्वामी के पास पहुंचा तो उसने देखा कि उसकी गायें स्वामीजी पास ही खड़ी हुई हैं। ग्वाले थक चुका था, वह गुस्से में था।

ग्वाला सोचने लगा कि इस मुनि ने मुझे परेशान करने के लिए मेरी गायों को छिपा दिया था और अब सभी गायों को यहां लेकर आ गया है। ये बात सोचकर ग्वाले ने अपनी कमर में बंधी रस्सी खोली और महावीर स्वामी को मारने के लिए दौड़ पड़ा, तभी वहां एक दिव्य पुरुष प्रकट हुए और उन्होंने ग्वाले से कहा कि मूर्ख रुक जा, ये पाप न कर। तुने स्वामीजी का उत्तर बिना सुने ही अपनी गायें यहां छोड़ दी थीं। वे तो तब भी ध्यान में थे और अभी भी ध्यान में ही हैं। अब तुझे तेरी गायें मिल गई हैं, फिर किस बात का गुस्सा करता है। मूर्खता न कर। ये बातें सुनकर ग्वाले को अपनी गलती का अहसास हो गया, उसने महावीर स्वामी के चरणों में गिरकर क्षमा याचना की।

जीवन प्रबंधन

इस कथा की सीख यह है कि कभी भी पूरी बात जाने बिना किसी पर क्रोध नहीं करना चाहिए, वरना बाद में पछताना पड़ता है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

होल्डर ने 3 विकेट लेकर राजस्थान की कमर तोड़ी; पांडे-शंकर ने लगा दी चौके-छक्कों की झड़ी

एक घंटा पहलेकॉपी लिंकसनराइजर्स हैदराबाद के विजय शंकर ने 6 चौकों की मदद से नाबाद 52 रन बनाए। वहीं, मनीष पांडे ने 8 छक्के...

कोरोना की वजह से कैंसल टेस्ट मैचों के पॉइंट बांटने पर विचार कर रहा ICC, ऐलान जल्द

दुबई39 मिनट पहलेकॉपी लिंकभारत 360 पॉइंट्स के साथ WTC के पॉइंट्स टेबल में टॉप पर है।इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) ने वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप पूरी...

लोन मोरेटोरियम के ब्याज पर नहीं देना होगा ब्याज, कैबिनेट का फैसला, 2 नवंबर को सुनवाई

Hindi NewsBusinessEMI Loan Moratorium | Loan Moratorium Latest News Update; Narendra Modi Government On Waiver Of Interest On Interest Or Compoundingमुंबई7 घंटे पहलेकॉपी लिंकबैंकों...

पंकज त्रिपाठी ने बताया- ऑफिसों में धक्के खाए, बाहर इतंजार किया और गुहार लगाई कि मैं एक्टर हूं, मुझे काम दे दो

7 घंटे पहलेकॉपी लिंकपंकज त्रिपाठी 'गैग्स ऑफ वासेपुर', 'दिलवाले', 'ओमकारा', 'स्त्री', 'न्यूटन' और 'गुंजन सक्सेना : द कारगिल गर्ल' जैसी कई फिल्मों में काम...