Home ज्योतिष सूर्य के राशि परिवर्तन को कहते हैं संक्रांति, 13 अप्रैल को पूजा...

सूर्य के राशि परिवर्तन को कहते हैं संक्रांति, 13 अप्रैल को पूजा करते समय सूर्य मंत्र का जाप करें

  • मेष संक्रांति पर जरूरतमंद लोगों को तांबे बर्तन और गुड़ का दान करें

हलचल टुडे

Apr 12, 2020, 04:41 PM IST

सोमवार, 13 अप्रैल की रात करीब 10 बजे सूर्य मीन राशि से निकलकर मेष राशि में प्रवेश करेगा। सूर्य के राशि परिवर्तन को संक्रांति कहते हैं। 13 अप्रैल को मेष संक्रांति पर सूर्य पूजा के साथ ही दान-पुण्य करने की भी परंपरा है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार इस अवसर विशेष पूजा-पाठ करनी चाहिए। सोमवार को स्नान के बाद सूर्य को जल अर्पित करें। इसके लिए तांबे के लोटे में जल भरें। जल में चावल, लाल फूल डालकर सूर्य को अर्घ्य चढ़ाएं। जल चढ़ाने के बाद सूर्य मंत्र स्तुति का पाठ करें। इस पाठ के साथ शक्ति, बुद्धि, स्वास्थ्य और सम्मान की कामना से करें।

सूर्य मंत्र स्तुति

नमामि देवदेवशं भूतभावनमव्ययम्। दिवाकरं रविं भानुं मार्तण्डं भास्करं भगम्।।

इन्द्रं विष्णुं हरिं हंसमर्कं लोकगुरुं विभुम्। त्रिनेत्रं त्र्यक्षरं त्र्यङ्गं त्रिमूर्तिं त्रिगतिं शुभम्।। 

इस प्रकार सूर्य की आराधना के बाद धूप, दीप से सूर्य देव का पूजन करें। आप चाहें तो ऊँ सूर्याय नम: मंत्र का जाप भी कर सकते हैं। इस मंत्र का जाप कम से कम 108 बार करें।

इन चीजों का करें दान

सूर्य से संबंधित चीजें जैसे तांबे का बर्तन, पीले या लाल वस्त्र, गेहूं, गुड़, माणिक्य, लाल चंदन आदि का दान करें। अपनी श्रद्धानुसार इन चीजों में से किसी भी चीज का दान किया जा सकता है। सूर्य के निमित्त व्रत करें। एक समय फलाहार करें और सूर्यदेव का पूजन करें।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

पूर्व विधानसभा अध्यक्ष यज्ञदत्त शर्मा के नाती ने अवैध संबंधों के शक में पत्नी की हत्या की

इंदौर24 मिनट पहलेअंशु (बाएं) और आरोपी हर्ष जुलाई में कॉन्टैक्ट में आए थे। एक महीने बाद ही दोनों ने घर से भागकर आर्य समाज...

भारत के खिलाफ वनडे और टी-20 में पहली बार खेलेंगे कैमरून ग्रीन, हेनरिक्स की 3 साल बाद वापसी

Hindi NewsSportsCricketYoung Player Cameron Gets Chance For ODI And T20 Series Against India; Moises Henriques Returns After Three Yearsसिडनीएक घंटा पहलेकॉपी लिंककैमरून ने 17...

चेन्नई में समुद्र किनारे बना है, तीन मंजिला और 32 कलश वाला लक्ष्मीजी का मंदिर

3 घंटे पहलेकॉपी लिंकइस मंदिर में होती है लक्ष्मीजी के आठ स्वरूपों की पूजा, मान्यता है कि यहां देवी को कमल का फूल चढ़ाने...