Home ज्योतिष 118 साल बाद राम नवमी पर शनि की मकर राशि में गुरु,...

118 साल बाद राम नवमी पर शनि की मकर राशि में गुरु, इस दिन बन रहे हैं 2 शुभ योग

  • मकर राशि में 854 साल मंगल, गुरु और शनि का योग बना है, राम दरबार यानी श्रीराम के साथ लक्ष्मणजी, सीताजी और हनुमानजी की पूजा करें

शशिकांत साल्वी

शशिकांत साल्वी

Apr 02, 2020, 07:58 AM IST

जीवन मंत्र डेस्क. गुरुवार, 2 अप्रैल को रामनवमी है। चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की नवमी पर श्रीराम प्राकट्योत्सव मनाया जाता है। त्रेता युग में इसी तिथि पर भगवान विष्णु ने श्रीराम के रूप में अवतार लिया था। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार इस साल राम नवमी पर कई दुर्लभ योग बन रहे हैं। इस समय मकर राशि में गुरु स्थित है। शनि की राशि मकर में गुरु और राम नवमी का योग 118 साल बाद बना है। इस दिन सर्वार्थ सिद्धि योग और अमृत सिद्धि योग भी रहेगा। इन शुभ योगों में की गई पूजा पाठ जल्दी सफल होती है।

रामनवमी पर ग्रहों के दुर्लभ योग

118 साल पहले 16 अप्रैल 1902 को रामनवमी पर गुरु शनि की मकर राशि में था। इसके बाद 2020 में ये योग बना है। इसके अलावा 854 साल बाद मकर राशि में मंगल, गुरु और शनि एक साथ स्थित हैं। इन तीनों ग्रहों के इस युति में राम नवमी का योग 854 साल बाद बना है। गुरु अपनी नीच राशि में, मंगल उच्च राशि और शनि स्वराशि में स्थित है। 17 अप्रैल 1166 को राम नवमी पर गुरु, मंगल और शनि की युति मकर राशि में बनी थी।

ये हैं श्रीराम जन्म की संक्षिप्त कथा

पं. शर्मा के अनुसार त्रेता युग में रावण का आतंक बहुत बढ़ गया था। सभी देवी-देवता और पृथ्वी वासी रावण की वजह से त्रस्त थे। उस समय अयोध्या के राजा दशरथ थे। राजा दशरथ के यहां कोई पुत्र नहीं था। तब उन्होंने पुत्रेष्टि यज्ञ करवाया। इस यज्ञ से खीर उत्पन्न हुई। इस खीर का सेवन दशरथ की तीनों रानियों कौशल्या, कैकयी और सुमित्रा ने किया। इसके प्रभाव से कौशल्या ने श्रीराम को, कैकयी ने भरत को, सुमित्रा ने लक्ष्मण और शत्रुघ्न को जन्म दिया। भगवान विष्णु ने रावण का अंत करने के लिए श्रीराम के रूप में अवतार लिया।

राम दरबार की करें पूजा

राम नवमी पर राम दरबार की पूजा करनी चाहिए। राम दरबार में श्रीराम, लक्ष्मण, सीता और हनुमानजी शामिल रहते हैं। इनके साथ ही भरत और शत्रुघ्न की पूजा करनी चाहिए। इस दिन सुबह जल्दी उठें, स्नान के बाद सूर्य को जल चढ़ाएं। श्रीराम की पूजा करें। श्रीरामचरित मानस का पाठ करें। जरूरतमंद लोगों को धन और अनाज का दान करें। इस दिन देवी दुर्गा की भी विशेष पूजा जरूर करें।

सभी 12 राशियों पर ग्रह योगों का असर

इन ग्रहों का योग मेष, कन्या, वृश्चिक, धनु, मकर और मीन राशि के लिए शुभ रहेगा। इन लोगों को भाग्य का साथ मिलेगा और धन लाभ मिल सकता है। मिथुन, सिंह, तुला और कुंभ राशि के लोगों के लिए ये समय संभलकर रहने का रहेगा। लापरवाही से बचें और धैर्य बनाए रखें। वृषभ और कर्क राशि के लोगों पर इन ग्रहों का सामान्य असर रहेगा। इन्हें अपनी मेहनत के अनुसार फल मिलेगा।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

नेहा कक्कड़ ने रोहन प्रीत से शादी की, दिल्ली में फैमिली और चुनिंदा फ्रेंड्स की मौजूदगी में हुई सेरेमनी

31 मिनट पहलेसिंगर नेहा कक्कड़ और रोहन प्रीत सिंह ने शादी कर ली है। शनिवार को दिल्ली में उनकी पारंपरिक आनंद कारज सेरेमनी हुई।...

हैदराबाद ने पंजाब से टॉस जीतकर बॉलिंग चुनी; मयंक, नीशम और नदीम टीम से बाहर

Hindi NewsSportsCricketIpl 2020KXIP Vs SRH IPL 2020 Live Score Update; KL Rahul David Warner| Kings XI Punjab Vs Sunrisers Hyderabad Match 43rd Live Cricket...

चंद्रमा पर राहु-शनि की अशुभ छाया पड़ने से आज परेशान हो सकते हैं 7 राशि वाले लोग

14 घंटे पहलेकॉपी लिंकअशुभ ग्रह-स्थिति की वजह से कुछ लोगों को जॉब और बिजनेस में रहना होगा संभलकर24 अक्टूबर, शनिवार को चंद्रमा मकर राशि...