Home दुनिया अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन से अंतरिक्ष यात्रियों ने कहा- पृथ्वी हमेशा की तरह...

अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन से अंतरिक्ष यात्रियों ने कहा- पृथ्वी हमेशा की तरह शानदार दिख रही; पर नीचे जो हो रहा, उस पर यकीन करना मुश्किल

  • अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन से अगले शुक्रवार को धरती पर लौटेंगे तीन अंतरिक्ष यात्री
  • एस्ट्रोनॉट्स ने कहा- हम स्पेस स्टेशन से ज्यादा पृथ्वी पर खुद को आईसोलेट महसूस करेंगे

हलचल टुडे

Apr 12, 2020, 02:26 PM IST

वाशिंगटन. अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन (आईएसएस) के अंतरिक्ष यात्रियों ने कहा है कि पृथ्वी हमेशा की तरह शानदार दिख रही है, पर अभी वहां से जो खबरें आ रही हैं, उन पर विश्वास करना मुश्किल हो रहा है। आईएसएस पर तीन अंतरिक्ष यात्री लगभग एक साल से हैं, ये सभी 17 अप्रैल को पृथ्वी पर लौटेंगे। अमेरिका के एंड्रयू मार्गन, जेसिका मीर और रूस के ओलेग स्क्रिपोचका आईएसएस पर हैं।
एंड्रयू मॉर्गन ने आईएसएस से ही हुई एक कांफ्रेंस में बताया कि आईएसएस के क्रू को कोरोनोवायरस महामारी के संबंध में कुछ जानकारी है, लेकिन अभी वे यह नहीं समझ पा रहे हैं कि आखिर वास्तव में चल क्या रहा है। अगले शुक्रवार को उनका नौ महीने का मिशन समाप्त होगा। आर्मी में इमरजेंसी फिजीशियन रह चुके मोर्गन ने बताया कि वह इस मेडिकल क्राइसिस में अपनी वापसी को लेकर वह खुद को दोषी भी महसूस कर रहे हैं। पर वे अभी भी पूरी तरह से स्थिति को समझ नहीं पा रहे हैं।

दोस्तों और परिवार को गले नहीं लगा सकूंगी- जेसिका मीर

पिछले साल ऑल फीमेल वॉक में हिस्सा लेकर इतिहास बनाने वाली अंतरिक्षयात्री जेसिका मीर ने कहा- बहुत मुश्किल होगा जब मैं सात महीने बाद लौटूंगी। तब मैं परिवार और दोस्तों को गले नहीं लगा सकूंगी। अंतरिक्ष से ज्यादा मैं पृथ्वी पर आईसोलेट महसूस करूंगी। हम पृथ्वी पर आकर ही देखेंगे कि कैसे एडजस्ट करते हैं। लेकिन फिर भी अपनी फैमिली और दोस्तों को देखना ही बहुत शानदार होगा। कम से कम कुछ दूर से देखकर बात तो कर सकेंगे।

एंड्रयू मॉर्गन और जेसिका मीर रूस के अंतरिक्षयात्री ओलेग इवानोविच स्क्रिपोचका के साथ सोयुज कैप्सूल से कजाकिस्तान में लैंड करेंगे। इसके बाद आईएसएस पर तीन अंतरिक्षयात्री बचेंगे जो हाल ही में गए हैं। ये तीनों अंतरिक्ष यात्री जिस तारीख को पृथ्वी पर अएंगे उसी दिन अपोलो-13 मिशन के 50 साल पूरे हो जाएंगे। 13 अप्रैल 1970 को मिशन मून के दौरान ओपोलो सर्विस मॉड्यूल का ऑक्सीजन टैंक फट गया था। नासा ने एक रेस्क्यू मिशन बनाकर अपने चालक दल को सुरक्षित बचा लिया था।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

RCB को चीयर करती दिखीं धनश्री, तान्या और अनुष्का; कोहली 200 छक्के लगाने वाले तीसरे भारतीय

दुबई39 मिनट पहलेकॉपी लिंकआईपीएल के 13वें सीजन में रविवार को चेन्नई सुपर किंग्स ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को 8 विकेट से हरा दिया। पर्यावरण...

पहला क्वालिफायर और फाइनल दुबई में, एलिमिनेटर और दूसरा क्वालिफायर अबु धाबी में होगा

दुबई15 मिनट पहलेकॉपी लिंकआईपीएल प्ले-ऑफ 5 नवंबर से 10 नवंबर तक खेले जाएंगे।बीसीसीआई ने रविवार को आईपीएल 2020 के प्लेऑफ का शेड्यूल जारी कर...

विद्या, विनय, विवेक, साहस, अच्छे काम, सत्य ये सभी बुरे समय के साथी होते हैं, इनकी मदद से हर विपत्ति दूर हो सकती है

16 घंटे पहलेकॉपी लिंकगोस्वामी तुलसीदास ने श्रीरामचरित मानस के साथ ही दोहावली, विनय पत्रिका जैसे ग्रंथों की भी रचना की हैश्रीरामचरित मानस की रचना...

ब्रिटिश कोलंबिया में पंजाब के 8 नागरिकों ने प्रोविंशियल इलेक्शन में जीत हासिल की

ओटावा37 मिनट पहलेकॉपी लिंकचुनाव में 27 भारतवंशी कैंडिडेट मैदान में थे, सभी 7 विजेता सत्तारूढ़ न्यू डेमोक्रेटिक पार्टी से हैंब्रिटिश कोलंबिया की आबादी 50...