Home दुनिया इजराइल में 2 साल में चौथा चुनाव होगा, गठबंधन सरकार सिर्फ 7...

इजराइल में 2 साल में चौथा चुनाव होगा, गठबंधन सरकार सिर्फ 7 महीने चली

  • Hindi News
  • International
  • Benjamin Netanyahu Israel Update | Netanyahu Gantz Israeli Government Latest News Update; Israel Calls Fourth Election In Two Years

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐप

तेल अवीव41 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

इजराइल को संसद की नीसेट (Knesset) में मंगलवार को वोटिंग के बाद सांसद निराश दिखे। गठबंधन की शर्तों के मुताबिक, बेंजामिन नेतन्याहू और ब्लू एंड व्हाइट पार्टी के नेता बेनी गेंत्ज को 18-18 महीने तक प्रधानमंत्री रहना था। हालांकि, सरकार सिर्फ 7 महीने ही चली।

प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार मंगलवार को गिर गई। अब यह साफ हो गया है कि देश में अगले साल फिर चुनाव होंगे। दो साल में यह चौथा मौका है जब इजराइली नई सरकार के लिए वोटिंग करने निकलेंगे। नेतन्याहू की लिकुड और रक्षा मंत्री बेनी गेंत्ज की ब्लू एंड व्हाइट पार्टी ने मई में गठबंधन सरकार बनाई थी, क्योंकि उस चुनाव में किसी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला था।

23 मार्च को हो सकते हैं चुनाव
CNN की एक रिपोर्ट के मुताबिक, नेतन्याहू की सरकार पर संकट पिछले महीने ही मंडराने लगे थे। गठबंधन नेता गेंत्ज का आरोप था कि नेतन्याहू देश से ज्यादा फोकस अपने खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों से निपटने में कर रहे हैं। एक और दिक्कत यह है कि अब तक केंद्रीय बजट भी पास नहीं हो सका है। रिपोर्ट के अनुसार, अगले साल 23 मार्च को नए चुनाव कराए जा सकते हैं।

एक-दूसरे पर ठीकरा
सरकार गिरने के बाद नेतन्याहू ने गठबंधन सहयोगी गेंत्ज पर निशाना साधा। कहा- ब्लू एंड व्हाइट पार्टी और उसके नेता हमारे बीच हुए समझौते से मुकर गए। कोई इजराइली नहीं चाहता कि बार-बार चुनाव हों। कोरोना की वजह से वैसे ही परेशानियां बहुत ज्यादा हैं। इकोनॉमिक चैलेंज भी हैं। लेकिन, चुनाव तो कराना ही होंगे।

इजराइल में वैक्सीनेशन शुरू हो चुका है। खुद नेतन्याहू ने शनिवार को कोरोना वैक्सीन लगवाई। उन्होंने कहा- हम नहीं चाहते कि इस वक्त चुनाव हों। लेकिन, हम इससे डरते भी नहीं, क्योंकि मेरी पार्टी की जीत तय है। गठबंधन में सहयोगी ब्लू एंड व्हाइट पार्टी के नेता बेनी गेंत्ज ने कहा- नेतन्याहू ने अपने फायदे के लिए देश को मुश्किल में डाल दिया है। इस वक्त उन्हें लोगों के भले और देश की इकोनॉमी को बेहतर करने के लिए काम करना चाहिए था।

सरकार गिरना तो तय था
सात महीने पहले जब नेतन्याहू और गेंत्ज ने गठबंधन सरकार का फैसला किया था, तभी कयास लगने लगे थे कि यह सरकार कितने दिन चलेगी। खुद गेंत्ज ने इसे ‘इमरजेंसी अलायंस’ बताया था।
मई में दोनों दलों ने एक कॉमन प्रोग्राम के जरिए सरकार बनाने पर सहमित जताई थी। एक डील भी हुई थी। इसके तहत नेतन्याहू पहले 18 महीने प्रधानमंत्री रहेंगे। अगले 18 महीने गेंत्ज पीएम होंगे। सरकार बनने के बाद से ही दोनों पार्टियों के कई बार मतभेद सामने आ चुके थे।

Source link

Most Popular

अक्टूबर में ESIC से 11.75 लाख नए सदस्य जुड़े, EPFO से जुड़ने वालों में कमी आई

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपनई दिल्लीएक महीने पहलेकॉपी लिंकNSO की रिपोर्ट ESIC, एंप्लॉयीज प्रॉविडेंट फंड...

NCB ने फॉरेंसिक जांच के लिए भेजे 85 गैजेट्स, इनमें दीपिका, सारा, श्रद्धा जैसे बॉलीवुड सेलेब्स के गैजेट्स भी शामिल

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपएक महीने पहलेसुशांत सिंह राजपूत डेथ केस से जुड़े ड्रग्स मामले...

3 माह में 300 मरीजों को चढ़ाया था प्लाज्मा, अब 30 दिन में सिर्फ 1 को

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपग्वालियर11 दिन पहलेकॉपी लिंकप्रतिकात्मक फोटोकारोबारी की मौत के बाद प्लाज्मा चढ़ाना...

अगर किसान संगठनों में आपसी टूट बढ़ी तो सरकार बची हुई दो मांगों पर नहीं झुकेगी

Hindi NewsNationalFarmers Protest: Kisan Andolan Delhi Burari Update | Haryana Punjab Farmers Delhi Chalo March Latest News Today 30 DecemberAds से है परेशान? बिना...