Home दुनिया काबुल में गुरुद्वारे पर हमला करने वाले 37 आतंकी गिरफ्तार, 24 घंटे...

काबुल में गुरुद्वारे पर हमला करने वाले 37 आतंकी गिरफ्तार, 24 घंटे पहले गिरफ्तार हुए इनके सरगना के आईएसआई से गहरे रिश्ते

  • इस्लामिक स्टेट खुरासान मॉड्यूल का सरगना असलम फारुकी पाकिस्तान का रहने वाला है
  • 37 आतंकियों में 14 महिलाएं और बच्चे शामिल हैं, इनमें से भी ज्यादातर पाकिस्तानी है
  • काबुल स्थित गुरुद्वारे में 25 मार्च को हमला हुआ था, इसमें 27 लोगों की जान गई थी

हलचल टुडे

Apr 06, 2020, 11:07 AM IST

काबुल. अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में गुरुद्वारे पर किए गए आतंकी हमले में शामिल 37 आतंकवादियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। यह सभी इस्लामिक स्टेट खुरासान प्रॉविंस मॉड्यूल से जुड़े हुए हैं। इनकी गिरफ्तारी इस मॉड्यूल के सरगना असलम फारुकी की गिरफ्तारी के बाद हुई है। असलम पाकिस्तान का रहने वाला है और उसके पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई से गहरे ताल्लुकात हैं। रविवार को गिरफ्तार किए गए 37 आतंकावादियों में 14 महिलाएं और बच्चे हैं और इनमें भी ज्यादातर पाकिस्तानी ही हैं। 
काबुल में 25 मार्च को हर राय साहिब गुरुद्वारे में आतंकी हमला हुआ था, इसमें 27 लोगों की जान गई थी। मृतकों में एक भारतीय भी शामिल था।

आईएसआईएस की मिलिट्री विंग में कमांडर था फारुकी
टोलो न्यूज के मुताबिक अफगानिस्तान के कांधार में नेशनल डाइरेक्टोरेट ऑफ सिक्युरिटी (एनडीएस) के एक ऑपरेशन में आईएसआईएस के खुरासान माड्यूल के प्रमुख आतंकवादी अब्दुल्ला ओरकजई एलियास असलम फारुकी को 19 साथियों के साथ गिरफ्तार किया गया था। 
 एनडीएस ने बताया कि वह पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा के ओरकजई शहर का मूल निवासी है। उसके पाकिस्तानी आतंकी संगठन हक्कानी नेटवर्क और लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) से गहरे संबंध हैं। बयान के अनुसार, अफगानिस्तान में आईएसआईएस ने अबू सईद बाजावरी की हत्या के बाद उसे वहां का काम सौंपा था। वह पेशावर में आईएसआईएस की मिलिट्री विंग के कमांडर के रूप में काम कर रहा था। एक अधिकारी ने न्यूज एजेंसी एएफपी से कहा कि काबुल में गुरुद्वारे पर हुए हमले का मास्टर माइंट फारूकी ही था। फारूकी ने क्षेत्रीय खुफिया एजेंसियों के साथ संबंध होने की बात कबूल की है, जो कि पाकिस्तान की एजेंसी की ओर इशारा है। 

हमले में शामिल एक आतंकी केरल का भी था
गुरुद्वारे पर हमला करने वालों में भारतीय आतंकी का भी नाम सामने आ चुका है। आईएसआईएस ने इसका नाम अबु खालिद अल-हिंदी बताया था। हालांकि,  इसका असली नाम मुहम्मद मुहसिन था। जो केरल के कासरगोड जिले का तिरकारीपुर का रहने वाला था। वह कुछ समय पहले आतंकी संगठन आईएसआईएस में शामिल हो गया था। हमले के दौरान उसे मार गिराया गया था। उसके परिजनों ने इस बात की पुष्टि की थी कि उन्हें आईएसआईएस से उसके मरने का मैसेज मिला है। 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

बर्थडे बॉय वॉर्नर और साहा ने लगाई फिफ्टी; राशिद ने लिए 3 विकेट, 4 ओवर में 17 डॉट बॉल फेंकी

दुबई28 मिनट पहलेकॉपी लिंकIPL के 13वें सीजन में मंगलवार को सनराइजर्स हैदराबाद ने दिल्ली कैपिटल्स को बैटिंग, बॉलिंग और फील्डिंग तीनों डिपार्टमेंट में फेल...

म्यूजिक लवर्स के लिए जल्द लॉन्च होंगे एंट्री लेवल एयरपॉड्स, नया स्मार्ट स्पीकर और हेडफोन भी लाएगी

Hindi NewsTech autoApple Working On Entry Level AirPods For H1 2021, Next Gen AirPods Pro: Reportनई दिल्ली14 घंटे पहलेकॉपी लिंकएपल अपनी न्यू आईफोन 12...

राहत पैकेज को लेकर वित्त मंत्री के साथ प्रधानमंत्री मोदी की बैठक अब से कुछ देर में

Hindi NewsBusinessNarendra Modi News; Narendra Modi Finance Minister Nirmala Sitharaman Meeting On Relief Packageमुंबई6 घंटे पहलेकॉपी लिंकप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जल्द ही अहम बैठक...