Home दुनिया गुरुद्वारे पर हमले के 9 दिन बाद 27 सिखों की जान लेने...

गुरुद्वारे पर हमले के 9 दिन बाद 27 सिखों की जान लेने वाला पाकिस्तानी मूल का आईएसआईएस का आतंकी गिरफ्तार

  • 25 मार्च को काबुल स्थित गुरुद्वारे पर हमले को अंजाम आतंकी मावलवी अब्दुल्लाह इस्लाम फारूकी और उसके साथियों ने दिया था 
  • सुबह 7.30 बजे हुए हमले के वक्त गुरुद्वारे में 150 से ज्यादा लोग शामिल थे, इनमें 27 की मौत हो गई और कई गंभीर घायल हो गए थे

हलचल टुडे

Apr 05, 2020, 11:23 AM IST

काबुल. अफगानिस्तान की राजधानी काबुल स्थित गुरुद्वारे पर 25 मार्च को हमला कर 27 सिखों की जान लेने वाला पाकिस्तानी मूल का आईएसआईएस का आतंकी अपने चार साथियों संग गिरफ्तार कर लिया गया है। नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल के सीनियर अधिकारियों के मुताबिक, आतंकी मावलवी अब्दुल्लाह इस्लाम फारूकी शनिवार को गिरफ्तार किया गया है।

अफगानिस्तान नेशनल डायरेक्टोरेट ऑफ सिक्योरिटी (एनडीएस) यह जानकारी जल्द ही जानकारी भारतीय सुरक्षा एजेंसी के साथ शेयर करेगी। सूत्रों के मुताबिक, फारूकी का संबंध पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा और हक्कानी नेटवर्क से भी रहा है।

अफगानिस्तान में 300 सिख परिवार हैं

25 मार्च की सुबह 7.30 बजे हुए हमले के वक्त गुरुद्वारे में 150 से ज्यादा लोग प्रार्थना के लिए जुटे थे, इनमें 27 की मौत हो गई और कई गंभीर घायल हो गए थे। हमले के बाद सुरक्षाबलों ने गुरुद्वारे की घेराबंदी कर जवाबी कार्रवाई की थी। इसमें चार आतंकियोंं को मार गिराया था। अफगानिस्तान में करीब 300 सिख परिवार रहते हैं। इनकी संख्या काबुल और जलालाबाद में अधिक है। इन्हीं दो शहरों में गुरुद्वारे भी हैं। भारत ने इस हमले की निंदा की थी।

फारूकी की गिरफ्तारी से आतंकी जड़ों की जानकारी मिलेगी

एजेंसियों द्वारा बनाए गए डोजियर के मुताबिक, ‘‘फारूकी का असली नाम अब्दुल्ला उरकजई है। वह पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा के ओरकजई जिले की मामोजई जनजाति से है। अप्रैल 2019 में उसने आईएसआईएस की खोरासन विंग के चीफ के रूप में खुद को घोषित किया था। इससे पहले इस विंग का प्रमुख मावलवी जिआ उल हक था।’’ भारतीय अधिकारियों के उम्मीद है फारूकी की गिरफ्तारी से पाकिस्तान में मौजूद आतंक की जड़ों के बारे में जानकारी मिल सकेगी।

गिरफ्तार चार अन्य आतंकी
अधिकारियों के मुताबिक, आतंकी फारूकी इससे पहीले लश्कर और तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान के लिए काम करता था। फारूकी अफगानिस्तान में भी नाटो (नॉर्थ अटलांटिक ट्रिटी ऑर्गनाइजेशन) सेनाओं पर हमला करने के लिए आतंकी लड़ाके भेजता था। गिरफ्तार किए गए चार अन्य आतंकियों में पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा इस्लामिक स्टेट का वरिष्ठ सदस्य मसूदुल्लाह,  खैबर पख्तूनख्वा इस्लामिक स्टेट की रेड फोर्स यूनिट का सदस्य जाहिद खान; कराची का एक आतंकवादी सलमान और इस्लामाबाद का रहने वाला अली मोहम्मद शामिल हैं।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

इमरान सरकार ने 10 दिन में टिकटॉक से बैन हटाया; 2018 से 2019 के बीच पाकिस्तान में 8 लाख वेबसाइट्स बैन की गईं

Hindi NewsInternationalPakistan TikTok Ban Latest Update; Imran Khan Government Unblock Chinese Compnay Bytedance Video Sharing Appइस्लामाबाद24 मिनट पहलेकॉपी लिंकफोटो पाकिस्तान की टिकटॉक स्टार जन्नत...

सोनू सूद अपनी बायोपिक में खुद ही निभाना चाहते हैं अपना रोल, सोनू ने कहा- लेकिन अभी बहुत जल्दबाजी होगी

20 घंटे पहलेकॉपी लिंकसोनू सूद ने अपनी बायोपिक को लेकर काफी कन्सर्न हैं। उनका कहना है कि वे अपनी बायोपिक में खुद ही काम...

कमलनाथ बोले- शिवराज महिलाओं-किसानों के लिए रोज 4 घंटे मौन रखें तो भी प्रायश्चित नहीं होगा

Hindi NewsLocalMpBhopalKamal Nath Said: Even If Shivraj Keeps Silence For Four Hours Daily For Women And Farmers, There Will Be No Atonement.भोपाल2 घंटे पहलेकॉपी...