Home दुनिया नहीं मानते कि करीमा ने आत्महत्या की है, बलूचिस्तान की आजादी मांगने...

नहीं मानते कि करीमा ने आत्महत्या की है, बलूचिस्तान की आजादी मांगने वालों की हत्या करता रहा है पाकिस्तान: लतीफ जोहर बलूच

  • Hindi News
  • International
  • Pakistan Does Not Believe That Karima Has Committed Suicide, Pakistan Has Been Killing Those Seeking Independence From Balochistan: Latif Johar Baloch

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐप

टोरंटो12 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

करीमा बलोच (बाएं) और एक अन्य दोस्त के साथ लतीफ जोहर बलोच।

  • 22 दिसंबर को बलूचिस्तान की मानवाधिकार कार्यकर्ता की कनाडा में हुई थी मौत

बलूचिस्तान में पाकिस्तानी सेना के जुल्मों के खिलाफ आवाज उठाने वाली मानवाधिकार कार्यकर्ता करीमा बलोच की पिछले सप्ताह कनाडा में मौत हो गई। आशंका जताई जा रही है कि पाकिस्तानी सेना ने उनकी हत्या करवाई है। हालांकि, कनाडा की पुलिस इसे आत्महत्या मानकर चल रही है।

इस मुद्दे पर टोरंटो में करीमा के करीबी दोस्त लतीफ जोहर बलूच से हलचल टुडे के लिए अमित चौधरी ने बातचीत की। लतीफ भी बलूचिस्तान की आजादी के लिए संघर्ष कर रहे हैं। वे करीमा के पुराने पारिवारिक दोस्त रहे हैं। पेश हैं बातचीत के मुख्य अंश…

कनाडा पुलिस किसी साजिश की तरफ इशारा नहीं किया है? आपको लगता है कि यह एक आत्महत्या है? टोरंटो पुलिस पर हमें भरोसा है, लेकिन हम यह नहीं मान सकते कि करीमा ने आत्महत्या की है। वह ऐसी महिला नहीं थी। उसकी जिंदगी में कई बड़ी से बड़ी चुनौतियां आई थी, लेकिन उसने कभी हार नही मानी।

क्या आप मानते हैं कि करीमा बलोच की मौत के पीछे पाकिस्तान की सेना का हाथ है?
नहीं मैं यह नहीं कह सकता कि इसके पीछे किसका हाथ है, लेकिन हम इसे नजरअंदाज भी नहीं कर सकते। इतिहास पर नजर डालें तो बलूचिस्तान के संघर्ष की आवाज उठाने वाले कई लोगों की पाकिस्तान के अंदर और विश्व के कई देशों में हत्या हुई है। इसमें कई हमारे दोस्त भी शामिल हैं।

आपकी करीमा से आखिरी मुलाकात कब हुई थी?
करीमा से मेरी मुलाकात उसके गायब होने के तीन दिन पहले यानी 17 दिसंबर को यूनिवर्सिटी ऑफ टोरोंटो की लाइब्रेरी में हुई थी। हमारे साथ एक अन्य दोस्त भी था। वह पास के रेस्टोरेंट से हमारे लिए खाना लेकर आई थी। हमने पढ़ाई के साथ साथ कई विषयों पर बात की। बलूचिस्तान को लेकर हमारे कई प्रोजेक्ट्स पर बात होती रहती थी और उस दिन भी हुई थी।

यह क्या प्रोजेक्ट थे?
मैं इनको मीडिया के साथ साझा नहीं कर सकता।

क्या पुलिस ने कुछ तथ्य साझे किए हैं? पुलिस ने अब तक परिवार को कोई ठोस सबूत नहीं दिया है। हमें कुछ नही बताया है कि वह इसे आत्महत्या क्यों मान कर चल रही है।

क्या आपने या परिवार ने डेड बॉडी को देखा ?
करीमा की बॉडी अभी भी पुलिस के कब्जे में है, हमें नही देखने दिया गया है।

क्या आप खुद को सुरक्षित महसूस कर रहे हैं?
करीमा की मौत के बाद सिर्फ मेरे ही नहीं, बल्कि ब्लूचिस्तान की आजादी के संघर्ष से जुड़े हर इंसान की सुरक्षा पर सवाल है।

Source link

Most Popular

BSE का बिहार के पाटलीपुत्र सराफा संघ से समझौता हुआ, छोटे ज्वेलर्स सीख सकेंगे गोल्ड की हेजिंग करने का तरीका

Hindi NewsBusinessBSE Signs MOU With Pataliputra Sarafa Sangh Of Bihar Small Jewelers Will Learn How To Hedge GoldAds से है परेशान? बिना Ads खबरों...

'द डर्टी पिक्चर', 'महन्ती' से लेकर 'संजू' तक, एक्टर्स की अनसुनी कहानियां बयां करती हैं ये फिल्में

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐप24 दिन पहलेकॉपी लिंकइंडस्ट्री में जारी बायोपिक के चलन में अब...

मंत्री बोले- इसी साल पूरे रकबे में सिंचाई के लिए पानी दीजिए

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपराजगढ़7 दिन पहलेकॉपी लिंकजल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट ने मोहनपुरा सिंचाई...

दिल्ली में लगातार दूसरे दिन बारिश, राजस्थान के कई इलाकों में ओले गिरने से ठंड बढ़ी

Hindi NewsNationalTourists Stranded After Snowfall In Himachal, Rains In Delhi Rajasthan, Shivering Cold PunjabAds से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें...