Home दुनिया नासा के पूर्व वैज्ञानिक ने कहा- जहां मलेरिया से ज्यादा मौतें हुईं,...

नासा के पूर्व वैज्ञानिक ने कहा- जहां मलेरिया से ज्यादा मौतें हुईं, वहां कोरोना कम फैला

  • नासा के पूर्व वैज्ञानिक रॉय स्पेंसर ने दुनियाभर में 2017 में मलेरिया संक्रमितों की तुलना कोरोना संक्रमितों से की
  • इस आधार पर नतीजा निकला कि जहां मलेरिया संक्रमितों की संख्या ज्यादा थी, वहां पर कोरोना के केस कम आए

हलचल टुडे

Apr 05, 2020, 01:23 PM IST

वॉशिंगटन . नासा के पूर्व वैज्ञानिक, मौसम विज्ञानी और शोधकर्ता रॉय स्पेंसर ने दुनियाभर में 2017 में मलेरिया संक्रमितों की संख्या की तुलना कोरोना की चपेट में आए लोगों की संख्या से की। इस आधार पर उन्होंने नतीजा निकाला है कि जिन देशों में मलेरिया के संक्रमितों की संख्या ज्यादा थी, वहां कोरोना के केस कम आए। जबकि, जिन देशों में मलेरिया के मामले कम या बिल्कुल नहीं थे, वहां कोरोना बड़े पैमाने पर फैला। नतीजों की पुष्टि मलेरिया प्रभावित 11 बड़े देशों में कोरोना के कम मामलों से भी होती है। स्पेंसर ने इसके लिए 234 देशों के आंकड़ों का विश्लेषण किया है। उनकी रिपोर्ट के दो स्तर महत्वपूर्ण हैं।

टॉप 40 मलेरिया प्रभावित देशों में कोरोना का असर

  • 1000 लोगों पर मलेरिया पीड़ित – 212.4
  • 10 लाख लोगों पर कोरोना पीड़ित- 0.2

154 देश जहां मलेरिया है ही नहीं 

  • 1000 लोगों पर मलेरिया पीड़ित- 0.00
  • 10 लाख लोगों पर कोरोनाग्रस्त- 68.7

सर्वे के मुताबिक, 30 देशों के 6 हजार 200 डॉक्टरों ने कोरोना के इलाज में मलेरिया की दवाई को बेहतर माना

कोरोनावायरस के इलाज में मलेरिया की दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन सबसे बेहतर है। दुनिया के 30 देशों के करीब 6 हजार 200 (37%) डॉक्टरों ने इसको स्वीकृति दी है। इन डॉक्टरों ने हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन को कोरोना के लिए सबसे प्रभावी दवा बताया है। हालांकि डब्ल्यूएचओ का कहना है कि कोरोना से संक्रमण के इलाज के लिए दवा नहीं है। यूरोप, अमेरिका और चीन के डॉक्टर कोरोना के मरीजों को यह दवा दे सकते हैं, इसकी अनुमति दी जा चुकी है। ब्रिटेन में इस दवा का क्लीनिकल ट्रायल जारी है। दुनियाभर के डॉक्टरों के प्राइवेट सोशल नेटवर्क सेर्मो के सर्वे के मुताबिक, स्पेन के 72% और इटली के 53% डॉक्टरों ने कहा कि उन्होंने कोरोना मरीजों को यह दवा दी। वहीं चीन में यह आंकड़ा 44% और ब्रिटेन में 13% है।

 शीर्ष 11 देश: कोरोना से 140 मौतें, जबकि मलेरिया से 3.40 लाख                             

देश    कोरोना के मामले  मौतें    मलेरिया से मौतें   
नाइजीरिया        210                       04                      97200
कांगो      22    02 48600

     

मोजांबिक     10    00 16200
युगांडा    48    00  20250
घाना     205        05  60750
माली     39    03 21000
नाइजर    120    05 16200
बुर्किना फासो    302    16 28000
कैमरून    509    08 3000
तंजानिया   20    01 20000
भारत  3450     96 9620 

11 सबसे ज्यादा मलेरिया प्रभावित देशों में भारत भी

डब्ल्यूएचओ के मुताबिक कॉन्गो, घाना, भारत, माली, मौजेम्बिक, नाइजर, नाइजीरिया, युगांडा, बुर्किना फासो, कैमरून और तंजानिया शीर्ष मलेरिया प्रभावित देश है। दुनियाभर में मलेरिया के कुल मामलों में से 70% और कुल मौतों का 71% इन्हीं 11 देशों से है। 2019 में अफ्रीकी देश नाइजीरिया में मलेरिया के सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं।

जर्मनी और ऑस्ट्रेलिया में टीबी की दवा से इलाज 
जर्मनी के माइक्रोबायोलॉजिस्ट टीबी से बचाव के लिए लगाई जाने वाली 100 साल पुरानी वैक्सीन से कोरोना के इलाज में जुटे हैं। उधर ऑस्ट्रेलिया में के मर्डोक चिल्ड्रेन रिसर्च इंस्टिट्यूट के शोधकर्ताओं का दावा है कि बैसिलस कैलमेट गुएरिन (बीसीजी) टीके से कोरोना संक्रमण से लड़ने में मदद मिलती है। वे चिकित्सा कर्मियों पर इसका परीक्षण कर रहे हैं।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

2 मैचों में वरुण की गेंद पर बोल्ड होने वाले धोनी ने उन्हें टिप्स दिए, वीडियो वायरल

दुबईएक घंटा पहलेकॉपी लिंकIPL-13 में गुरुवार को खेले एक मैच में चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को 1 एक रन पर केकेआर के...

अश्विन पूर्णिमा की रात ही क्यों बरसता है अमृत, क्यों रखते हैं चन्द्रमा की रोशनी में चावल की खीर

3 घंटे पहलेकॉपी लिंकशरद पूर्णिमा की रात में चंद्र पूजा और चांदी के बर्तन में दूध-चावल से बनी खीर चंद्रमा की रोशनी में रखने...

फ्लोरिडा के एक ही क्षेत्र में ट्रम्प और बाइडेन की रैलियां, ट्रम्प बोले- ऐतिहासिक जीत मिलेगी

Hindi NewsInternationalDonald Trump Joe Biden US Election 2020; Here's New York Times (NYT) Latest US Election Opinionटाम्पा (फ्लोरिडा)12 मिनट पहलेकॉपी लिंकअमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव...

RIL की इनकम 98 हजार 417 करोड़ और मुनाफा 9,586 करोड़ रुपए रहने का अनुमान

Hindi NewsBusinessRIL's Income Is Estimated To Be Rs 98 Thousand 417 Crore And Profit Is Rs 9,586 Crore.मुंबई15 मिनट पहलेकॉपी लिंकरिलायंस इंडस्ट्रीज आज रिजल्ट...