Home दुनिया संक्रमण के 10 दिन बाद भी लक्षण मिलने पर ब्रिटेन के प्रधानमंत्री...

संक्रमण के 10 दिन बाद भी लक्षण मिलने पर ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन अस्पताल में भर्ती कराए गए, दुनिया में अब तक 69 हजार मौतें

  • अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा- मुश्किल घड़ी में हम सेना और हेल्थ वर्कर्स की टीम तैनात कर रहे हैं
  • इटली के अस्पतालों में शनिवार को गंभीर मरीजों की संख्या 3,994 हो गई, स्पेन में एक दिन में 674 की मौत

हलचल टुडे

Apr 06, 2020, 03:11 AM IST

वॉशिंगटन. कोरोनावायरस से जूझ रहे ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। संक्रमण की पुष्टि होने के 10 बाद भी जॉनसन में लगातार बीमारी के लक्षण दिखाई दे रहे थे। हालांकि प्रधानमंत्री कार्यालय 10-डाउनिंग स्ट्रीट ने उनके अस्पताल जाने के एहतियाती कदम बताया है। इधर, ब्रिटेन के अखबार गार्जियन ने कहा है कि पीएम जॉनसन को अस्पताल में भर्ती कराने से पहले कुछ दिनों से उनकी हालत बिगड़ने की अफवाहें सामने आ रही थीं। प्रधानमंत्री जॉनसन को लंदन स्थित एनएचएस अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

इधर, दुनिया में कोरोनावायरस मरीजों की संख्या रविवार को 12 लाख  66  हजार 782 हो गई। अब तक 69 हजार 177 लोगों की मौत हो चुकी है। दो लाख 61 हजार 132 मरीज अब तक स्वस्थ भी हुए हैं। अमेरिका में 24 घंटे में एक हजार 224 लोगों की जान गई है। एपिसेंटर माने जा रहे न्यूयॉर्क में 24 घंटे में 630 लोगों की मौत हो चुकी है। अमेरिका के सर्जन जनरल के मुताबिक, यह हफ्ता बेहद मुश्किल और दुखदायी साबित हो सकता है। स्पेन में शनिवार को कुल 674 संक्रमितों ने दम तोड़ा। ये संख्या अप्रैल महीने के चार दिनों में सबसे कम है। ब्रिटेन सरकार उन लोगों से बेहद परेशान है जो लॉकडाउन तोड़कर धूप का आनंद लेने के लिए पार्क या दूसरी सार्वजनिक जगहों पर जा रहे हैं। उधर, 58 हजार संक्रमितों और साढ़े तीन हजार मौतों के बावजूद ईरान प्रतिबंधों में ढील देने जा रहा है। 

अमेरिका: यह हफ्ता सबसे मुश्किल 
अमेरिका के सर्जन जनरल एडमिरल जेरोम एडम्स के मुताबिक, यह हफ्ता देश के लिए मुश्किल और सबसे दुखदायी साबित हो सकता है। उन्होंने इस हफ्ते को पर्ल हार्बर और 9/11 जैसा मुश्किल और निर्णायक करार दिया। फॉक्स न्यूज से बातचीत में एडम्स ने कहा, “यह हफ्ता हमारे देश के नागरिकों के लिए बेहद अहम है। हालांकि, हमें इस अंधेरी सुरंग के आखिरी छोर पर उजाले की किरण भी नजर आती है।” कुछ और अमेरिकी विशेषज्ञ भी अगले एक या दो हफ्तों को अमेरिका के लिए बेहद अहम बता चुके हैं। देश में तीन लाख 12 हजार से ज्यादा संक्रमित हैं। 8 हजार 500 से ज्यादा की मौत हो चुकी है।  

अमेरिका के सर्जन जनरल एडमिरल जेरोम एडम्स के मुताबिक, यह हफ्ता देश के लिए मुश्किल और सबसे दुखदायी साबित हो सकता है। कुछ और अमेरिकी विशेषज्ञ भी पहले इसी तरफ इशारा कर चुके हैं।

इटली : दो हफ्ते में सबसे कम मौतें
पिछले दो हफ्तों के मुकाबले इटली में रविवार को सबसे कम मौतें दर्ज की गईं। रविवार को यहां कुल 525 लोगों की मौत हुई। पिछले 14 दिन में मौतों का यह सबसे कम आंकड़ा है। 

अमेरिका : न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्टर पॉजिटिव
कोरोनावायरस की कवरेज कर रहीं न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्टर सारा मेसलिन निर भी संक्रमित हो गई हैं। सीएनएन से बातचीत में सारा ने खुद इसकी पुष्टि की। कहा, “मैं 6 दिन से बिस्तर पर हूं। फोन लगातार कान से लगा हुआ है। बहुत थकान महसूस हो रही है।” सारा के मुताबिक, अमेरिका में पॉजिटिव पाए जाने के बाद जो क्वारैंटाइन पीरिएड रखा गया है, वो कम है। न्यूयॉर्क में तो लोग संक्रमण के लक्षण कम होने के बाद सिर्फ तीन दिन में घर से निकल सकते हैं।  

कोरोनावायरस की कवरेज कर रहीं न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्टर सारा मेसलिन निर भी संक्रमित हो गई हैं।

इटली : चर्च में सन्नाटा

लोम्बार्डी शहर के एक चर्च में प्रीस्ट ने जिन बेंचों पर श्रद्धालु बैठते हैं, वहां उनमें से कुछ की तस्वीरें रखकर संदेश दिया। ईस्टर के पहले यहां चर्च सूने हैं। देश में सख्त लॉकडाउन है। सरकार ने लोगों से कहा है कि वो घर पर ही प्रार्थना करें। चर्च जाने पर रोक है। यहां सिर्फ चर्च का स्टाफ ही रहता है। एक प्रीस्ट फादर गिसुपी कोरबारी ने सीएनएन से कहा- मैं बहुत अकेला महसूस कर रहा हूं। यह सिलसिला 24 फरवरी से ही जारी है। यहां कोई नहीं आता। वैसे जो मैं कर रहा हूं, वही दुनिया के बाकी प्रीस्ट और चर्च भी कर रहे हैं। 

ईरान : बढ़ती मौतें और संक्रमण लेकिन सरकार कम करेगी बंदिशें
बढ़ते संक्रमण और मौतों के बीच ज्यादातर देश लॉकडाउन समेत कई पाबंदियां लगा रहे हैं। ईरान में 58 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। साढ़े तीन हजार से ज्यादा की मौत हो चुकी है। लेकिन, राष्ट्रपति हसन रूहानी पाबंदियां कम करने जा रहे हैं। रविवार को यहां 151 लोगों की मौत हुई। राष्ट्रपति ने प्रिटिंग हाउस, कपड़े और किताबों समेत कई कारोबार बंदिशों के दायरे से बाहर कर दिए। जिन सेवाओं को छूट दी गई है, वे 11 अप्रैल से पहले की तरह काम कर सकेंगी। तेहरान के व्यापारी इसका फायद नहीं उठा सकेंगे। हेल्थ डिपार्टमेंट के आदेशों का पालन करना जरूरी होगा। रूहानी ने माना कि हेल्थ और इंडस्ट्री के बीच इस फैसले को लेकर एकराय नहीं है।

स्पेन : राहत भरी खबर
यहां रविवार दोपहर तक 12 हजार 418 लोगों की मौत हो चुकी है। शनिवार को कुल 674 संक्रमितों ने दम तोड़ा। मार्च के बाद यह एक दिन में मौतों का सबसे कम आंकड़ा है। इटली के बाद सबसे ज्यादा लोग स्पेन में ही मारे गए हैं। इस बीच, प्रधानमंत्री पेड्रो सांचेझ ने यूरोपियन यूनियन यानी ईयू को एक चेतावनी दी। कहा, “संघ के तौर पर ईयू को कंधे से कंधा मिलाकर काम करना होगा। अगर ऐसा नहीं हुआ तो हम साथ डूबेंगे। वक्त रहते सहयोग किया तो जो मुश्किलें आईं हैं, उनसे उबर सकते हैं।” सांचेझ के इस बयान के वाजिब वजह भी है। दरअसल, बीते दिनों स्पेन, इटली, पुर्तगाल और फ्रांस के बीच कई मुद्दों पर बयानबाजी हुई। इससे दुनिया में यह संकेत गया कि ईयू के देशों में एकता का अभाव है। 

इंडोनेशिया सरकार ने देश के हर बॉर्डर एरिया में कोरोना चेकप्वॉइंट बनाए हैं। यहां तैनात हेल्थ वर्कर प्रारंभिक जांच के बाद ही लोगों को शहर में जाने की इजाजत देते हैं। इनके साथ हथियारबंद पुलिसकर्मी भी तैनात किए गए हैं। 

ब्रिटेन : लोगों के रवैये से सरकार परेशान
हेल्थ मिनिस्टर मैट हनूक ने रविवार को देश के कुछ लोगों द्वारा लॉकडाउन का पालन नहीं करने पर दुख जताया। सीएनएन से बातचीत में मैट ने कहा, “मैं हैरान और दुखी हैं कि कुछ लोग इन हालात में भी लॉकडाउन को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। पुलिस और हेल्थ वर्कर इतनी मेहनत कर रहे हैं और कुछ लोग घर में भी रहने को तैयार नहीं हैं। क्या हमारी राष्ट्र के प्रति जिम्मेदारी नहीं है। क्वीन एलिजाबेथ जल्द ही देश के लोगों को संबोधित करेंगी। मैं उम्मीद करता हूं कि उनकी अपील रंग लाएगी।” 

इटली के तूरिन शहर में रविवार को मास्क पहने नर्स। यहां हेल्थ डिपार्टमेंट ने दावा किया है कि देश में धीरे-धीरे संक्रमण कम होगा। लेकिन, इसके लिए लॉकडाउन और सोशल डिस्टैंसिंग सबसे ज्यादा जरूरी हैं। 

अमेरिका : भारत से अपने नागरिकों को निकालेगा
भारत में मौजूद अमेरिकी नागरिक जल्द ही लौट सकेंगे। यूएस मिशन ने रविवार को यह जानकारी दी। एक बयान में मिशन ने कहा, “हम इस हफ्ते भारत में मौजूद अपने नागरिकों को वापस लाने के लिए अभियान चलाएंगे। जो लोग आना चाहते हैं, वो तैयार रहें।”  

चीन की राजधानी बीजिंग में रविवार को मास्क लगाए स्थानीय नागरिक। कोरोनावायरस चीन से शुरू हुआ। सरकार का दावा है कि उसने संक्रमण पर लगभग काबू पा लिया। ये भी कहा गया है कि जो नए मामले आ रहे हैं, उनमें से 90 फीसदी ऐसे लोग हैं जो दूसरे देशों से चीन आए हैं।  

अमेरिका: ट्रम्प ने कहा- अगले दो हफ्ते मुश्किल 

  • राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि अगले दो हफ्तों देश के लिए बेहद मुश्किल भरे हैं। सैकड़ों लोगों की जान जा सकती है। इस मुश्किल घड़ी में हम बड़ी संख्या में सेना और चिकित्साकर्मियों को तैनात कर रहे हैं।
  • ट्रम्प ने कहा- ईस्टर पर हम सोशल डिस्टेंसिंग में थोड़ी ढील देना चाहते हैं। विस्कॉन्सिन और नेब्रास्का के लिए आपदा घोषणाओं को मंजूरी दे दी गई है। ट्रम्प की यह 40वीं और 41वीं घोषणा है, जो उन्होंने कोरोनोवायरस से निपटने के लिए की है।
  • कैलिफोर्निया के गवर्नर गैविन न्यूसॉम ने शनिवार को कहा कि राज्य में एक लाख 26 हजार लोगों की जांच हो चुकी है। 12 हजार से ज्यादा लोग कोरोना पॉजिटिव हैं। दो हजार 300 लोगों को अस्पताल में भर्ती किया गया है। जबकि 1,008 आईसीयू में भर्ती हैं।
  • न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, जनवरी की शुरुआत से मार्च के आखिर तक करीब 4 लाख 30 हजार यात्री चीन से अमेरिका आए। तब तक निमोनिया जैसे लक्षण कुछ यात्रियों में सामने आने लगे थे। पिछले दो महीने में 40 हजार पैसेंजर्स चीन से सीधे अमेरिका आए। इसके बाद राष्ट्रपति ट्रम्प ने यात्रा संबंधी प्रतिबंध लगाए।
  • अमेरिका में न्यूयॉर्क के बाद सबसे ज्यादा मौतें न्यूजर्सी में हुई हैं। यहां शनिवार को 200 लोगों की जान गई। राज्य में अब तक 846 लोग मारे जा चुके हैं।
  • व्हाइट हाउस कार्यबल की सदस्य डेबोराह ब्रिक्स ने शनिवार को कहा कि अगले दो हफ्ते देश के लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं। इसलिए मुझे लगता है कि लोगों को फार्मेसी और ग्रॉसरी की दुकानों में भी जाने से बचना चाहिए।
शनिवार को ब्रुकलिन के वीकॉफ हाइट्स मेडिकल सेंटर में एक अस्थायी मुर्दाघर में शव ले जाते चिकित्साकर्मी। न्यूयॉर्क के अस्पतालों में क्षमता से ज्यादा मरीज हो गए हैं।

इटली: एक दिन में 681 लोगों ने दम तोड़ा

इटली में कोरोनावायरस के अब तक एक लाख 24 हजार 632 मामले दर्ज हुए हैं। 15 हजार 362 लोगों की मौत हुई है। इटली में पिछले 24 घंटों में 681 लोगों की मौत हुई है। नागरिक सुरक्षा विभाग के प्रमुख एंजेलो बोरेली ने कहा कि शुक्रवार की तुलना में कोरोनावायरस के 2,886 नए मामले सामने आए हैं। बोरेली ने कहा कि 29,010 लोग अस्पताल में भर्ती हैं। देश में अब तक 20,996 मरीज ठीक हो चुके हैं। वहीं, बोरेली ने कहा कि यहां के अस्पतालों में क्रिटिकल मरीजों की संख्या में कमी आई है। शुक्रवार को क्रिटिकल मरीजों की संख्या चार हजार 68 थी, जो शनिवार को तीन हजार 994 हो गई। स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि इससे एक उम्मीद की कीरण जगी है और इससे अस्पतालों को थोड़ी राहत मिलेगी।

थाइलैंड के एक अस्पताल में नवजात को आरामदायक फेस शील्ड पहनाया गया। यहां हाल ही में जन्में बच्चों की विशेष निगरानी की जा रही है। डब्लूएचओ के मुताबिक, कोरोनावायरस का सबसे ज्यादा खतरा बुजुर्गों या पहले से बीमार लोगों को है।  

स्पेन: 11 हजार 947 लोगों की मौत
स्पेन में कोरोना से 24 घंटे में 809 लोगों की मौत हो गई। देश में अब तक कुल 11 हजार 947 लोग जान गंवा चुके हैं। आने वाले दिनों में देश में और मौतें हो सकती हैं। स्पेन के प्रधानमंत्री ने देश में लॉकडाउन 26 अप्रैल तक बढ़ा दिया है। वहीं, यहां संक्रमितों की संख्या इटली (1,24,632) से ज्यादा हो गई है। स्पेन में संक्रमण के कुल मामले एक लाख 26 हजार से ज्यादा हैं।

स्पेन: रोंडा में लोगों ने स्वास्थ्यकर्मियों का आभार जताया। संक्रमितों के मामले में स्पेन दूसरे नंबर पर आ गया है। सबसे ज्यादा केस अमेरिका में हैं।

जर्मनी: 96,092 से ज्यादा मामले
जर्मनी में अब तक कोरोना से 1,444 लोगों की मौत हो चुकी है। यहां शनिवार को 169 लोगों की मौत हुई। इसके साथ ही देश में मृतकों की संख्या एक हजार 444 हो गई है। वहीं, एक दिन में संक्रमण के 4,933 मामले बढ़े हैं। कुल संक्रमित 96 हजार 92 हो गए हैं। अधिकारियों के मुताबिक, जर्मनी में संक्रमण का संकट अपनी चरम स्थिति तक नहीं पहुंचा है। आने वाले दिनों में अभी और वृद्धि देखने को मिल सकती है। और कोरोनावायरस संक्रमण के मामलों में अभी तेजी से उछाल देखने को मिलेगा।

जर्मनी: कोरोनावायरस महामारी के बीच डॉयचे पोस्ट डीएचएल ग्रुप एकता दिखाने के लिए ब्लिडिंग पर लाइटिंग की। यहां संक्रमण के मामले चीन से भी ज्यादा हो गए हैं।

फ्रांस: 7500 से ज्यादा मौतें
बीबीसी के मुताबिक, प्रांस में 24 घंटे में 441 लोगों की मौत हुई है। इसके साथ ही देशभर में मौतौं का आंकड़ा सात हजार 560 हो गया है। एक दिन पहले शुक्रवार को 588 लोगों की जान गई थी। देश में अभी 28 हजार 143 लोगों की इलाज चल रहा है। यहां अभी 89 हजार 953 लोग संक्रमित हैं।

फ्रांस: ओर्ली एयरपोर्ट से सेना के विमान से कोरोना मरीज को ले जाते स्वास्थ्यकर्मी। देश में संक्रमितों की संख्या करीब 89 हजार हो गई है।

ताइवान: केवल 400 संक्रमित
कोरोनावायरस से लड़ने में ताइवान की नीति सबसे बेहतर रही है। 25 जनवरी के आसपास चीन और आसपास के देशों में संक्रमण बढ़ना शुरू हुआ था। ऑस्ट्रेलिया और ताइवान में भी एक ही समय में कोरोना का मामला सामने आया। दोनों देशों की जनसंख्या लगभग 2.4 करोड़ के आसपास है। दोनों आइलैंड ने कोरोना का मामला आने के बाद अपनी सीमाएं बंद कर दीं। दोनों का चीन के साथ मजबूत व्यापारिक संबंध हैं। 25 जनवरी के करीब 10 हफ्तों के बाद ऑस्ट्रेलिया में लगभग पांच हजार मामले सामने आ चुके हैं, जबकि ताइवान में केवल 400 मामले ही हैं।

ब्राजील: 10 हजार से ज्यादा संक्रमित

ब्राजील में 24 घंटों में कोरोनावायरस के मरीजों की संख्या 1,222 हो गई। इसके साथ ही संक्रमितों का आकंड़ा बढ़कर 10,278 पहुंच गया। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि 24 घंटों में 73 लोग मारे गए हैं। देश में अब कुल मौतें 445 हो गई है।

ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो मास्क ठीक करते हुए। कुछ दिनों पहले उन्होंने कोरोना को लेकर कहा था कि इससे कुछ लोग तो मरेंगे ही।

यूक्रेन: कोरोना के 1225 मामलों की पुष्टि
यूक्रेन में कोरोनावायरस के 1225 मामलों की पुष्टि हो चुकी है, जबकि मरने वालों का आंकड़ा 32 पहुंच गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि अब तक 25 लोगों का सफलतापूर्वक इलाज किया जा चुका है और इन लोगों को छुट्टी दी जा चुकी है। यूक्रेन ने टेस्ला प्रमुख इलोन मस्क से अपील की है कि वे अपने कोरोनोवायरस मरीजों के लिए वेंटिलेटर्स की आपूर्ति करें। इसके बाद मस्क ने ट्वीट कर कहा था- हम सहयोग के लिए तैयार हैं।

यूक्रेन के चिकित्साकर्मी इटली के लिए रवाना हुए। इससे पहले यूक्रेन के अधिकारी, गृह मंत्री आर्सेन अवाकोव और स्वास्थ्य मंत्री मेक्सिम स्टेपानोव मीडिया को संबोधित करते हुए।

चीन: 10 लाख से ज्यादा छात्र विदेश में फंसे
चीन में शनिवार को संक्रमण के 30 नए मामले सामने आए और तीन लोगों की मौत हो गई। एक दिन पहले भी 19 केस की पुष्टि हुई थी। वुहान के अधिकारियों ने कहा कि लोगों को केवल जरूरी हो तो ही बाहर जाना चाहिए। दो महीने से लॉकडाउन के बाद शहर में हल-चल बढ़ने लगी है। यहां अब तक 81 हजार 669 संक्रमित हुए हैं, जबकि तीन हजार 329 लोगों की मौत हुई है। न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, चीन के 10 लाख से ज्यादा छात्र विदेश में फंसे हुए हैं।

चीन: हुबेई प्रांत में एक परिवार ने अपने पूर्वजों को याद करते हुए शनिवार को पेपर जलाया। यहां 4 अप्रैल को पूर्वजों की याद में किंग मिंग फेस्टिवल मनाया जाता है।

कोरोना से 10 सबसे ज्यादा प्रभावित देश

देश

कितने संक्रमित

कितनी मौतें कितने ठीक हुए
अमेरिका 3,28,662 9,365  16,700
स्पेन 1,30,759 12,418 38,080
इटली 1,28,948 15,887 21,815
जर्मनी 99,862 1,550 28,700
चीन 81,669      3,329  76,964
फ्रांस 89,953   7,560 15,438
ईरान 58,226  3,603  19,736
ब्रिटेन 47,806 4,934  135
तुर्की 23,934 501 786
स्विट्जरलैंड 20,505 666 6,415

स्रोत: https://www.worldometers.info/coronavirus

नोट : आंकड़े रविवार 5 अप्रैल रात 12 बजे तक के हैं। 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

सोनू सूद अपनी बायोपिक में खुद ही निभाना चाहते हैं अपना रोल, सोनू ने कहा- लेकिन अभी बहुत जल्दबाजी होगी

20 घंटे पहलेकॉपी लिंकसोनू सूद ने अपनी बायोपिक को लेकर काफी कन्सर्न हैं। उनका कहना है कि वे अपनी बायोपिक में खुद ही काम...

कमलनाथ बोले- शिवराज महिलाओं-किसानों के लिए रोज 4 घंटे मौन रखें तो भी प्रायश्चित नहीं होगा

Hindi NewsLocalMpBhopalKamal Nath Said: Even If Shivraj Keeps Silence For Four Hours Daily For Women And Farmers, There Will Be No Atonement.भोपाल2 घंटे पहलेकॉपी...

नए केस में 3 महीने की सबसे बड़ी गिरावट, सिर्फ 45 हजार 490 मरीज मिले; करीब 70 हजार ठीक हुए

Hindi NewsNationalCoronavirus Outbreak India Cases LIVE Updates; Maharashtra Pune Madhya Pradesh Indore Rajasthan Uttar Pradesh Haryana Punjab Bihar Novel Corona (COVID 19) Death Toll...