Home दुनिया 83 हजार मौतें: ईरान ने आईएमएफ से 38 हजार करोड़ रुपए की...

83 हजार मौतें: ईरान ने आईएमएफ से 38 हजार करोड़ रुपए की आपातकालीन मदद मांगी; कोविड-19 की वजह से एफएटीएफ ने पाकिस्तान को राहत दी

  • स्पेन में अब तक 14 हजार 555 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि एक लाख 46 हजार से ज्यादा संक्रमित हैं

  • फ्रांस दुनिया का चौथा देश जहां 10 हजार से ज्यादा जान गई, यहां एक दिन में 1,417 लोगों ने दम तोड़ा

हलचल टुडे

Apr 08, 2020, 07:30 PM IST

वॉशिंगटन/रोम/बीजिंग. दुनियाभर में कोरोनावायरस से अब तक 83 हजार लोगों की मौत हो चुकी है। 14 लाख 46 हजार संक्रमित हैं, जबकि तीन लाख आठ हजार से ज्यादा लोग ठीक हो चुके हैं। ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने बुधवार को कोरोनावायरस से निपटने के लिए अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) से 38 हजार करोड़ रुपए का इमरजेंसी फंड देने की अपील की। जेनेवा के इंटरनेशनल लेबर ऑर्गेनाइजेशन ने बुधवार को कहा कि कोरोनावायरस के कारण दुनियाभर में लगाए गए लॉकडाउन के कारण एक अरब से ज्यादा लोगों का रोजगार खतरे में है। रूस में राष्ट्रपति पुतिन ने एक समीक्षा बैठक के बाद कहा कि अगले दो या तीन हफ्ते देश के लिए काफी अहम रहेंंगे। पाकिस्तान के लिए राहत भरी खबर है। एफएटीएफ की जून में होने वाली समीक्षा बैठक टल गई है। यहां उसे आतंकवाद के खिलाफ उठाए गए कदमों पर रिपोर्ट पेश करनी थी। 

रूस : पुतिन बोले- अगले तीन हफ्ते बेहद अहम
राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने बुधवार को कोरोना संकट पर मीटिंग की। कहा, “हम उन देशों पर नजर रख रहे हैं जिन्होंने कोरोना के खिलाफ निर्णायक कदम उठाए और उन्हें सफलता भी मिली। महामारी के शुरुआती चार से पांच हफ्ते बेहद मुश्किल थे। अब हम सही रास्ते पर हैं। लेकिन, अगले दो से तीन सप्ताह बेहद रहेंगे।” रूस में अब तक आठ हजार 600 लोग संक्रमित पाए जा चुके हैं। 60 लोगों की मौत हो चुकी है।  

ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन की हालत स्थिर है। लंदन के सेंट थॉमस हॉस्पिटल में जॉनसन का इलाज चल रहा है। बुधवार को हॉस्पिटल के लॉन में बैठे हेल्थ वर्कर। ब्रिटेन में 6 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। 55 हजार से ज्यादा संक्रमित हैं।  

पाकिस्तान : एफएटीएफ से कुछ राहत
न्यूज एजेंसी के मुताबिक, फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स ने 21 से 26 जून तक बीजिंग में होने वाली समीक्षा बैठक टाल दी है। इस बैठक में पाकिस्तान को आतंकी संगठनों की टेरर फंडिंग और उन पर की गई कार्रवाई की रिपोर्ट पेश करनी थी। पाकिस्तान करीब दो साल से ग्रे लिस्ट में है। अगर एफएटीएफ उसकी रिपोर्ट से संतुष्ट नहीं होता तो उसके ब्लैक लिस्ट में होने का खतरा है। डॉन न्यूज के मुताबिक, यह बैठक कोविड-19 की वजह से टाली गई है। 21 फरवरी को एफएटीएफ ने कहा था कि पाकिस्तान को दी गई 27 सूत्रीय कार्ययोजना की समयसीमा समाप्त हो गई लेकिन इसमें से केवल 14 पर ही अमल किया गया है। 13 लक्ष्य ऐसे हैं जिन पर अब भी काम नहीं किया गया है। अगर वह अब भी टेरर फंडिंग और आतंकी संगठनों पर एक्शन नहीं लेता तो उसका ब्लैक लिस्ट किया जाना तय है। 

फ्रांस में संक्रमण से मरने वालों का आंकड़ा 10 हजार पार कर गया है। सरकार ने कुछ सख्त कदम उठाए हैं। पेरिस जैसे हमेशा गुलजार रहने वाले शहर में सन्नाटा है। यहां बुधवार को एक सुपरमार्केट की कैशियर अपने काम में व्यस्त नजर आ रही है।

अमेरिका: ट्रम्प ने मोदी की प्रशंसा की

ट्रम्प ने भारत के प्रति अपना रुख बदलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा की है। उन्होंने कहा कि मोदी वाकई महान और अच्छे हैं। ट्रम्प ने भारत से 2.9 करोड़ हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन भेजने की जानकारी भी दी। मंगलवार को राष्ट्रपति ट्रम्प ने धमकी देते हुए कहा था कि अगर भारत उनके व्यक्तिगत आग्रह के बावजूद दवा नहीं भेजता तो उस पर कार्रवाई की जाएगी। इससे पहले शनिवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने भारत से गुहार लगाई थी कि बीमारी से निपटने के लिए हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन की खेप भेजें।

  • बीबीसी के मुताबिक, राष्ट्रपति ट्रम्प ने कहा कि डब्ल्यूएचओ को और पहले ही महामारी को लेकर चेतावनी जारी करनी चाहिए थी। उन्होंने कहा कि अमेरिका संगठन की फंडिंग पर रोक लगाएगा। डब्ल्यूएचओ केवल चीन केंद्रित है। हालांकि, थोड़ी देर के बाद ही कहा कि मैं ये नहीं करूंगा।

  • ट्रम्प ने कहा- ब्रिटेन ने हमसे 200 वेंटिलेटर्स मांगे हैं। हमारे पास अभी 8,675 वेंटिलेटर है और अगले कुछ दिनों में एक लाख दस हजार होंगे। इनमें से कुछ विदेशों में भी भेजे जाएंगे।

  • अमेरिका के मौजूदा नेवी चीफ थॉमस मोडली ने इस्तीफा दे दिया है। आरोप था कि उन्होंने नेवी अधिकारी पर कार्रवाई की थी, जो महामारी से जूझ रहे अपने क्रू के सदस्यों की मदद की गुहार लगाई थी।
  • जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के मुताबिक, अमेरिका में 24 घंटे में लगभग दो हजार लोगों ने दम तोड़ा। अब तक 12 हजार 854 लोग जान गंवा चुके हैं। न्यूयॉर्क, न्यूजर्सी और कनेक्टिकट में एक दिन में 1,024 लोगों की जान गई।
  • अमेरिका में चार लाख लाख संक्रमित हैं। सीएनएन के मुताबिक, देश के सबसे ज्यादा प्रभावित न्यूयॉर्क में मंगलवार को 800 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। यहां संक्रमण के एक लाख 40 हजार मामले हैं। राज्य में संक्रमण का पहला मामला एक मार्च को सामने आया था।
  • न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, न्यूयॉर्क के गवर्नर गैविन क्यूमो ने मंगलवार को कहा कि न्यूयॉर्क में 10 हजार से ज्यादा नए केस सामने आए हैं। मरने वाले हर एक संख्या के पीछे एक व्यक्ति, एक परिवार, एक मां, एक पिता, एक बहन और एक भाई है। न्यूयॉर्क के लोग बेहद दुखी हैं। यहां अब तक पांच हजार 489 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि एक लाख 42 हजार से ज्यादा संक्रमित हैं। देश का एपिसेंटर बना न्यूयॉर्क सिटी में संक्रमण के 76 हजार 876 मामले हैं। वहीं, 3,544 मौतें हुई हैं।
  • न्यूजर्सी के गवर्नर फिलिप मर्फी ने कहा- यहां एक दिन में 232 लोगों की जान गई है। रविवार और सोमवार को मौतों का आंकड़ा डबल डिजिट में रहा। वहीं, राज्य में पार्कों और जंगलों को बंद कर दिया गया है। 
  • कनेक्टिकट के गवर्नर नेड लैमॉन्ट ने कहा कि यहां भी सोमवार से मंगलवार तक सबसे ज्यादा 71 लोगों की मौत हुई। इन तीनों राज्यों में एक दिन में 1,034 लोगों की जा गई। पहली बार इस क्षेत्र में एक दिन में मौतों का आंकड़ा एक हजार के पार गया है।
अमेरिका: न्यूयॉर्क के ब्रूकलिन में किंग्सब्रुक ज्यूस मेडिकल सेंटर के बाहर स्वास्थ्यकर्मी। यहां एक लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। 

ट्विटर के सीईओ जैक डोर्सी ने 100 करोड़ डॉलर दान किए
ट्विटर के संस्थापक और कार्यकारी निदेशक जैक डोर्सी ने कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई में 100 करोड़ डॉलर का योगदान देने की घोषणा की। डोर्सी ने मंगलवार को ट्वीट किया, “कोरोना से जुड़े राहत कार्यों के लिए मैं अपनी स्क्वेयर इक्विटी के 100 करोड़ डॉलर (मेरी संपत्ति का 28%) से एक छोटी एलएलसी शुरू करने जा रहा हूं।” उन्होंने अपने ट्वीट में वैश्विक कोरोना संकट से उबरने के बाद दुनियाभर की लड़कियों के स्वास्थ्य और शिक्षा कार्यक्रमों को फंड करने का वादा किया है। उन्होंने कहा कि फंडिंग में पूरी तरह पारदर्शिता बरती जाएगी और इससे जुड़े सभी योगदानों का लेखा-जोखा ट्विटर पर जारी किया जाएगा।

ब्रिटेन: एक दिन में 786 जान गई

ब्रिटेन में एक दिन में 786 लोगों की जान गई है, जबकि 3,634 लोग संक्रमित हुए हैं। यहां अब तक 55 हजार 242 लोग संक्रमित हैं, जबकि छह हजार से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है। लंदन के सेंट थॉमस अस्पताल में भर्ती प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की हालत स्थिर है। उनका कामकाज देख रहे विदेश मंत्री डोमिनिक रॉब ने कहा कि जॉनसन का इलाज बेहतरीन डॉक्टर्स की निगरानी में किया जा रहा है। वे अभी भी आईसीयू में हैं, लेकिन उन्हें पूरा भरोसा है कि जॉनसन जल्द ही ठीक हो जाएंगे। कोरोना मरीजों के लिए बनाए गए नेशनल हेल्थ सर्विस (एनएसएस) के नाइटिंगेल अस्पताल में पहला मरीज भर्ती हुआ। इस अस्पताल में चार हजार आईसीयू है। उधर, यूरोपियन रिसर्च काउंसिल (ईआरसी) के अध्यक्ष प्रो. माफरो फेरारी ने  अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कहा, ‘‘मैं यूरोपीय संघ का समर्थक हूं, लेकिन यूरोपीय देशों ने कोरोना से निपटने के लिए पर्याप्त प्रयास नहीं किए हैं।’’

ब्रिटेन: वेल्स में एम्बुलेंस सेवा एनएचएस ट्रस्ट का सहयोग करने के लिए सैनिकों को प्रशिक्षित किया जा रहा है।

ब्राजील: राष्ट्रपति की मोदी से हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन का निर्यात करने की अपील

ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर मलेरिया की दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन का निर्यात करने का अनुरोध किया है। देश में मंगलवार को 1,851 लोग संक्रमित मिले, जबकि 122 लोगों की मौत हुई। यहां अब तक संक्रमण के 14 हजार मामलों की पुष्टि हुई है, जबकि 688 लोगों की मौत हो चुकी है।

इटली: एक लाख 35 हजार केस की पुष्टि
इटली के सिविल प्रोटेक्शन डिपार्टमेंट के मुताबिक, देश में अब तक एक लाख 35 हजार 586 केस की पुष्टि हो चुकी है। वहीं, 17 हजार 127 लोगों की मौत हुई है। यहां अब तक 24 हजार 392 लोग ठीक हो चुके हैं। इटली में मंगलवार को 604 लोगों ने दम तोड़ा है, जबकि संक्रमण के तीन हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं। महामारी के कारण इटली ने अपने बंदरगाहों को प्रवासी जहाजों के लिए बंद कर दिया है।

यह तस्वीर इटली के ड्यूमो स्क्वायर की है। देश में 13 अप्रैल तक लॉकडाउन है। यहां अब तक 17 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। 

फ्रांस: मैक्रों गुरुवार को देश को संबोधित करेंगे

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों कोरोनावायरस संकट को लेकर गुरुवार को देश को संबोधित करेंगे। पेरिस में सुबह 10 बजे से शाम 7 बजे के बीच घर से बाहर किसी भी व्यक्तिगत गतिविधियों को प्रतिबंधित किया गया है।फ्रांस में 24 घंटे में 1,417 लोगों की मौत हुई है जबकि संक्रमण के 11 हजार 59 नए मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही देश में मौतों का आंकड़ा 10 हजार 328 हो गया है। फ्रांस इटली (17,127), स्पेन (14,045) और अमेरिका (12,854) के बाद दुनिया का चौथा देश बन गया है, जहां मौतों का आंकड़ा दस हजार से ज्यादा है। यहां एक लाख नौ हजार लोग संक्रमित हैं। वहीं, नोट्रेडम कैथेड्रल चर्च में आग लगने के एक साल के बाद गुड फ्राइडे के दिन कुछ ही लोग प्रार्थनासभा में शामिल हो पाएंगे। पेरिस के आर्कबिशप माइकल एपेटिट ने बताया कि केवल कुछ लोग ही पवित्र सप्ताह के दौरान होने वाले जनसमूह में शामिल होंगे। बाकि लोग रेडियो या टेलीविजन पर इसे सून या देख सकेंगे। नोट्रेडम कैथेड्रल चर्च में पिछले साल 15 अप्रैल को आग लगी थी। फ्रांस में 17 मार्च से 15 अप्रैल तक लॉकडाउन है।

जापान: 7 राज्यों में एक महीने का लॉकडाउन

प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने मंगलवार को जापान के टोक्यो समेत सात राज्यों में एक महीने के लिए लॉकडाउन लगा दिया। आबे ने कहा कि देश में संक्रमण रोकने के लिए यह फैसला लिया गया है। देश में अब तक चार हजार 257 संक्रमित हैं, जबकि 93 लोगों की मौत हो चुकी है।

जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने मंगलवार को देश के सात राज्यों में 7 मई तक लॉकडाउन लगा दिया।

उत्तर कोरिया: 500 लोग क्वारैंटाइन
डब्ल्यूएचओ के हवाले से न्यूज एजेंसी रायटर्स ने बताया कि उत्तर कोरिया में 500 लोगों को क्वारैंटाइन किया गया है। हालांकि, यहां अब तक एक भी मामले की पुष्टि नहीं हुई है। यहां सरकार की ओर से आदेश जारी किया गया है कि देश के नागरिक खाने में ज्यादा से ज्यादा लहसून, प्याज और शहद का इस्तेमाल करें। लोगों को शराब के सेवन से बचने की सलाह दी गई है। इससे प्रतिरोधक क्षमता में कमी आती है। लोगों को बिना डॉक्टर के सलाह के कोई भी दवा लेने से मना किया गया है।

सिंगापुर: 4 मई तक पब्लिक और प्राइवेट समारोहों पर प्रतिबंध
सिंगापुर में लोगों के भीड़ लगाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। यह प्रतिबंध चार मई तक सार्वजनिक और निजी दोनों समारोहों पर लागू होगा। देश में अब तक संक्रमण के 1,481 केस सामने आ चुके हैं, जबकि 6 लोगों की मौत हुई है। देश में सात अप्रैल से एक महीने के लिए लॉकडाउन लगा दिया गया है।

चीन: 62 नए मामले
चीन में बुधवार को कोरोनावायरस के 62 नए मामले सामने आए हैं, जिनमें 52 देश के बाहर के हैं। चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने कहा कि मंगलवार को दो मौतें हुई हैं, एक शंघाई में और दूसरी हुबेई प्रांत में। यहां जनवरी के बाद पहली बार सोमवार को एक भी मौत दर्ज नहीं की गई। वुहान से 8 अप्रैल को लॉकडाउन पूरी तरह खत्म हो गया है। करीब 76 दिनों के बाद शहर के लोग अपने घर से निकल रहे हैं। देश में अब तक 81 हजार 802 लोग संक्रमित हैं, तीन हजार 333 की मौत हो गई है। जबकि 77 हजार 279 लोग ठीक भी हुए हैं।

चीन: करीब ढाई महीने के बाद वुहान शहर से लॉकडाउन खत्म होने के बाद लोग अपने घर से निकलने लगे हैं। माना जाता है कि कोरोनावायरस की शुरुआत यहीं से हुई है। 

जर्मनी: संक्रमितों की संख्या एक लाख के पार
जर्मनी में कोरोनावायरस के संक्रमितों की संख्या बढ़कर एक लाख सात हजार 663 हो गई है, जबकि इससे 2,016 लोगों की मौत हो गई है। यहां एक दिन में 206 लोगों ने दम तोड़ा। देश में अब तक 36 हजार 81 लोग महामारी से ठीक हो चुके हैं। देश में 22 मार्च से लॉकडाउन लगा है, जो 19 अप्रैल को खत्म होने वाला है।

जर्मनी: बर्लिन में बेघर लोगों के लिए भोजन तैयार करती महिलाएं। देश में 22 मार्च से ही लॉकडाउन लगा है।

अफ्रीका: 500 लोगों की मौत
डब्ल्यूएचओ ने कहा कि अफ्रीका महादेश में अब तक संक्रमण के 10 हजार से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। जबकि यहां 500 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। सबसे पहला मामला फरवरी में मिस्र में मिला था। मिस्र में अब तक 1450 केस सामने आए हैं। वहीं 94 लोगों की जान जा चुकी है।

कोरोनावायरस : सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देश

देश कितने संक्रमित कितनी मौतें कितने ठीक हुए
अमेरिका 4,00,549 12,857   21,711
स्पेन 1,46,690    14,555   48,021
इटली  1,35,586                17,127 24,392
फ्रांस 1,09,069    10,328   19,337
जर्मनी 1,07,663 2,016 36,081
चीन  81,802 3,331 77,167
ईरान  67,286  4,003   27,039
ब्रिटेन 55,242 6,159 135
तुर्की  34,109   725 1,582
बेल्जियम 23,403     2,240 4,681

स्रोत: https://www.worldometers.info/coronavirus/



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

प्रधानमंत्री आज शाम 6 बजे देश के नाम संदेश देंगे, कोरोनाकाल में ये उनका 7वां संबोधन होगा

Hindi NewsNationalPrime Minister Narendra Modi Will Deliver The Name Of The Country At 6 Pm Today, PMO Tweetedनई दिल्ली3 मिनट पहलेकॉपी लिंककोरोनाकाल में यह...

नेशनल कैम्प छोड़कर 10 दिन पहले लंदन पहुंचीं सिंधु बोलीं- मेरा परिवार या अपने कोच से कोई विवाद नहीं, ट्रेनिंग के लिए लंदन आई

Hindi NewsSportsPV Sindhu In London News Update; Father PV Ramana Speaks On Her Daughter Practice In Hyderabadनई दिल्ली18 मिनट पहलेकॉपी लिंकपीवी सिंधु हैदराबाद में...