Home बिज़नेस ईएमआई रोकने के बहाने फ्रॉड कर सकते हैं साइबर अपराधी, एसबीआई ने...

ईएमआई रोकने के बहाने फ्रॉड कर सकते हैं साइबर अपराधी, एसबीआई ने ग्राहकों से कहा- ओटीपी नहीं बताएं

  • लॉकडाउन को देखते हुए आरबीआई ने ईएमआई पेमेंट में तीन महीने की छूट दी है
  • साइबर अपराधी ईएमआई रोकने के नाम पर लोगों से ओटीपी मांग रहे हैं
  • एसबीआई ने कहा- इसके लिए ओटीपी शेयर करने की जरूरत नहीं

हलचल टुडे

Apr 09, 2020, 01:51 PM IST

नई दिल्ली. आरबीआई ने पिछले दिनों कहा था कि सभी बैंक अपने ग्राहकों को लोन की किश्त के भुगतान में तीन महीने की राहत दें। इस सुविधा के बहाने साइबर अपराधी ग्राहकों से धोखाधड़ी कर रहे हैं। वे लोगों को फोन कर रहे हैं कि आपकी किश्त कटने से रोकने के लिए वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) बताएं। ओटीपी मिलते ही अपराधी खाते से रकम ट्रांसफर कर लेते हैं। एसबीआई ने अपने ग्राहकों को ऐसे फ्रॉड से सतर्क रहने की सलाह दी है।

एसबीआई ने ईएमआई स्कीम की जानकारी शेयर की
एसबीआई ने कहा है कि साइबर अपराधी फ्रॉड के नए-नए तरीके ढूंढ़ते रहते हैं। अलर्ट रहना ही इसका समाधान है। एसबीआई ने ईएमआई रोकने की सुविधा की जानकारी का लिंक भी शेयर किया है। बैंक का कहना है कि ईएमआई रोकने के लिए ओटीपी की जरूरत नहीं पड़ती। आप किसी से ओटीपी शेयर नहीं करें।

ग्राहकों के पास तीन विकल्प
एसबीआई ने बताया है कि ग्राहकों के पास तीन विकल्प हैं। चाहें तो वे ईएमआई का भुगतान जारी रख सकते हैं। आवेदन देकर तीन महीने की ईएमआई रुकवा सकते हैं। अगर ईएमआई डेबिट हो चुकी है तो रिफंड का आवेदन भी कर सकते हैं।
लॉकडाउन को देखते हुए आरबीआई ने राहत दी है
आरबीआई ने पिछले महीने फैसला लिया था कि सभी बैंक अपने ग्राहकों को लोन की किश्त के पेमेंट में तीन महीने की छूट दें। यानी मार्च, अप्रैल और मई की किश्त बाद में चुकाने की सुविधा दी जाए। यह फैसला लॉकडाउन में लोगों को राहत देने के लिए लिया गया है। लेकिन, ऐसा नहीं है कि इन महीनों की किश्त कभी भरनी ही नहीं पड़ेगी बल्कि लोन का समय तीन महीने बढ़ जाएगा।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

रिसर्च में दावा- चैट से सोशल बॉन्डिंग कमजोर होती है, जानिए क्यों बोलकर बात जरूरी है

नई दिल्लीएक घंटा पहलेकॉपी लिंकआप अपने दोस्तों, परिवारवालों और ऑफिस कलीग्स से टेक्स्ट मैसेज में बात करते हैं या फोन कॉल पर? रिसर्च में...

​​​​​​​संसद में इमरान के मंत्री बोले- पुलवामा की कामयाबी हमारी कौम की कामयाबी है

8 मिनट पहलेकॉपी लिंक14 फरवरी 2019 को जम्मू-कश्मीर में पुलवामा के अवन्तीपुरा इलाके में सीआरपीएफ के काफिले पर फिदायीन हमला हुआ था। गोरीपुरा गांव...