Home बिज़नेस देश में सोशल कॉमर्स का बाजार 2025 तक 51,700 करोड़ रुपए के...

देश में सोशल कॉमर्स का बाजार 2025 तक 51,700 करोड़ रुपए के GMV तक पहुंच सकता है, अभी 5,600 करोड़ रुपए का है

  • Hindi News
  • Business
  • Social Commerce Market In The Country May Reach A GMV Of Rs 51700 Crore By 2025

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐप

नई दिल्ली11 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

रिपोर्ट के मुताबिक 2020 से 2025 के बीच देश के ई-कॉमर्स बाजार में सोशल कॉमर्स की हिस्सेदारी में भारी बढ़ोतरी होगी

  • रेडसीर कंसल्टिंग की रिपोर्ट के मुताबिक अगले 5 साल में सोशल कॉमर्स मार्केट हर साल 65% से ज्यादा की दर से विकास करेगा
  • सोशल कॉमर्स वैसे ई-कॉमर्स ट्र्रांजेक्शंस को कहते हैं, जिनमें खरीदारी होने से पहले खरीदार और विक्रेता के बीच पारंपरिक ई-कॉमर्स के मुकाबले ज्यादा डायरेक्ट कनेक्शन होता है

देश में सोशल कॉमर्स का बाजार 2025 तक 7 अरब डॉलर (करीब 51,703 करोड़ रुपए) के GMV तक पहुंच सकता है। रेडसीर कंसल्टिंग की मंगलवार की एक रिपोर्ट के मुताबिक ऑनलाइन शॉपर्स (खासकर टियर-2 व उससे छोटे शहरों से) की संख्या में लगातार बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। अगले 5 साल में सोशल कॉमर्स मार्केट हर साल 65 फीसदी से ज्यादा की दर से विकास करेगा। सोशल कॉमर्स वैसे ई-कॉमर्स ट्र्रांजेक्शंस को कहते हैं, जिनमें खरीदारी होने से पहले खरीदार और विक्रेता के बीच पारंपरिक ई-कॉमर्स के मुकाबले ज्यादा डायरेक्ट कनेक्शन होता है।

पारंपरिक ई-कॉमर्स में खरीदार एक डिजिटल कैटलॉग में सर्च कर विक्रेता का चुनाव करते हैं। रेडशीर की इस रिपोर्ट में मीशो जैसे प्लेटफॉर्म को तो शामिल किया गया है, लेकिन सोशल मीडिया और ऑनलाइन मैसेंजर्स के जरिये होने वाले पीयर-टू-पीयर ट्रांजेक्शन को शामिल नहीं किया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक 2020 से 2025 के बीच देश के ई-कॉमर्स बाजार में सोशल कॉमर्स की हिस्सेदारी में भारी बढ़ोतरी होगी।

ई-कॉमर्स बाजार में सोशल कॉमर्स की हिस्सेदारी अभी 1-2%

रेडशीर ने कहा कि 2020 में 38 अरब डॉलर के ई-कॉमर्स मार्केट में सोशल कॉमर्स की हिस्सेदारी महज 1-2 फीसदी है। इसका मतलब यह हुआ कि यह बाजार अभी 38-76 करोड़ डॉलर का है। 2025 तक 140 अरब डॉलर के ई-कॉमर्स मार्केट में सोशल कॉमर्स की हिस्सेदारी बढ़कर 4-5 फीसदी पर पहुंच जाने का अनुमान है। यानी इस हिसाब से सोशल कॉमर्स का मार्केट 5.6-7 अरब डॉलर के GMV पर पहुंच जाएगा। ऑनलाइन रिटेलिंग में GMV का मतलब यह है कि एक निश्चित अवधि में किसी मार्केट प्लेस पर बिके प्रॉडक्ट का ग्रॉस मर्चेंडाइज्ड वैल्यू कितना है।

सितंबर 2020 में सोशल कॉमर्स ने GMV में 3 गुने की बढ़ोतरी दर्ज की

रेडशीर कंसल्टिंग के डायरेक्टर मृगंक गुटगुटिया ने कहा कि 2022 तक देश के 25 करोड़ से ज्यादा ऑनलाइन शॉपर्स का एक बड़ा हिस्सा सोशल कॉमर्स के लिए काफी सहज हो जाएगा ऑर यह मॉडल ई-कॉमर्स को जन-जन तक पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। देश के सोशल कॉमर्स के बाजार में हर साल 65 फीसदी से ज्यादा की दर से विकास होगा। सितंबर 2020 में इस बाजार के GMV की विकास दर 3 गुना थी। सोशल कॉमर्स के ग्राहकों में अनुमानित 20 फीसदी योगदान महानगरों का, 25 फीसदी योगदान टियर-1 शहरों का और बाकी योगदान टियर-2 व अन्य छोटे शहरों का है।

Source link

Most Popular

युवक, युवती का शव मिला, दोनों की ट्रेन से कटकर मौत

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपइटारसी17 दिन पहलेकॉपी लिंकफाइल फोटोयुवती इटारसी तो युवक बाबई का रहने...

सरकार का पता तो फोटोग्राफर ही बता सकता है, बेचारे अफसर क्या जानें

आज का राशिफलमेषमेष|Ariesपॉजिटिव- दिन उत्तम व्यतीत होगा। खुद को समर्थ और ऊर्जावान महसूस करेंगे। अपने पारिवारिक दायित्वों का बखूबी निर्वहन करने में सक्षम रहेंगे।...

पिता ने कुल्हाड़ी से शराबी बेटे की हत्या की, शराब की लत से परेशान था परेशान; गिरफ्तार

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपसिवनीमालवा17 दिन पहलेकॉपी लिंकप्रतीकात्मक फोटोशिवपुर के गुरंजघाट में पिता ने बेटे...

AIDS रिसर्च इंस्टीट्यूट ने कहा- न ब्रिटेन का वायरस हमारे यहां आया, न हमारे यहां का वायरस बदला

Hindi NewsNationalUK New Coronavirus Strain Not Found India News; Updates From ICMR National AIDS Research Institute (NARI)Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के...