Home बिज़नेस लाॅकडाउन के बाद माॅल में शाॅपिंग करने से लेकर घूमना-फिरना हो जाएगा...

लाॅकडाउन के बाद माॅल में शाॅपिंग करने से लेकर घूमना-फिरना हो जाएगा मुश्किल, प्रवेश से लेकर बिलिंग तक रहेगी कड़ी सुरक्षा, बुखार होने पर नहीं मिलेगी एंट्री

हलचल टुडे

Apr 11, 2020, 01:13 PM IST

नई दिल्ली. कोविड-19 खत्म होने के बाद भीड़भाड़ वाली जगह पर विजिट करना आसान नहीं होगा। प्रशासन के साथ ही प्राइवेट बॉडी भी ऐतियातन कड़े सुरक्षा मानक लागू करने की योजना बना रही हैं। शॉपिंग मॉल-रिटेलर्स स्टोर भीड़ से बचने के लिए एहतियान बरत सकती है। आने वाले समय माॅल हो या रिटेलर स्टोर यहां प्रवेश से लेकर बिलिंग तक में बदलाव देखा जा सकता है। हो सकता है आप पहले की तरह किसी भी दुकान या माॅल में प्रवेश नहीं कर पाएंगे। दुकान में प्रवेश करने के लिए टोकन का इस्तेमाल करना पड़ सकता है। प्रवेश के लिए फीवर स्क्रीनिंग जरूर हो सकता है। इतना ही नहीं माॅल के फूड कोर्ट से लेकर मूवी स्क्रीनिंग तक में कड़ी सुरक्षा जांच से गुजरना पड़ सकता है। बता दें कि शॉपिंग और मूवी के दौरान मॉल में ग्राहकों की सुरक्षा का खास ध्यान रखा जाएगा।

किसी दुकान में एक बार में सीमित लोग कर सकेंगे प्रवेश
नोएडा स्थित गौर सिटी मॉल के मालिक मनोज गौड़ के मुताबिक, सरकार द्वारा निर्धारित नियमों को आगे भी जारी रखेंगे। माॅल के प्रवेश द्वार पर तापमान रीडिंग की व्यवस्था की जाएगी। अगर किसी व्यक्ति को बुखार हुआ तो उसे माॅल में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। साथ ही हर घंटे सफाई का खास ध्यान भी रखा जाएगा। मनोज गौड़ का कहना है कि गौर के सभी माॅल में कम से कम 6-7 महीने तक सोशल डिस्टेंसिंग को फाॅलो किया जाएगा। इसके लिए सिनेमाघरों के संचालकों और अन्य रिटेलर्स से बातचीत जारी है। सामाजिक दूरी को अनिवार्य करने के लिए कुछ ठोस कदम उठाया जा सकता है। हालांकि सिनेमाघरों को 50% से अधिक सीटों को बुक करने और एक दूसरे के बगल में किसी को बैठने के लिए सुनिश्चित नहीं किया जा सकता है। खुदरा विक्रेताओं को एक समय में स्टोर के अंदर सीमित संख्या में लोगों को सुनिश्चित करने की सलाह दी जाएगी।

लोगों की कमी मंजूर लेकिन स्वास्थ्य से खिलवाड़ नहीं
माॅल संचालकों का कहना है कि भविष्य में माॅल में एंट्री से लेकर बिलिंग तक में हम बदलाव करने की सोच रहे हैं ताकि सोशल डिस्टेंसिंग को हर आगे भी जारी रख सकें। बेशक, इस तरह के एहतियान से लोगों का माॅल में आना कम हो सकता है। कैश फ्लो में भी कमी आ सकती है। लेकिन हमारा मकसद उपभोक्ताओं को यह बताना है कि माॅल में वे बिना किसी खतरे के दोबारा आ-जा सकते हैं।

माॅल में प्रवेश करने वालों की जांच अनिवार्य
दिल्ली के साकेत माॅल से जुड़े एक सदस्य बताते हैं, वे अब सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर अगले एक साल तक सख्ती से नियम अपनाएंगे। माॅल के प्रवेश गेट पर तापमान रीडिंग की व्यवस्था रहेगी और यह सभी ग्राहक तथा माॅल के सदस्यों के लिए अनिवार्य रहेगा।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

RIL की इनकम 98 हजार 417 करोड़ और मुनाफा 9,586 करोड़ रुपए रहने का अनुमान

Hindi NewsBusinessRIL's Income Is Estimated To Be Rs 98 Thousand 417 Crore And Profit Is Rs 9,586 Crore.मुंबई15 मिनट पहलेकॉपी लिंकरिलायंस इंडस्ट्रीज आज रिजल्ट...

कोलावेरी डी के 8 साल बाद फिर सिंगिंग करेंगे धनुष, एआर रहमान बना रहे हैं अतरंगी रे का म्यूजिक

एक घंटा पहलेकॉपी लिंकसाल 2012 का सुपरहिट सॉन्ग कोलावेरी डी तो याद ही होगा। यह गाना उस वक्त जबरदस्त वायरल हुआ था, जब वायरल...

भोपाल में इस साल ठंड 15 दिन ज्यादा पड़ेगी, पारा भी ज्यादा लुढ़केगा

भोपाल2 घंटे पहलेकॉपी लिंकमौसम विभाग का अनुमान है कि इस बार भोपाल में दिसंबर के दूसरे सप्ताह से लेकर जनवरी अंत तक तेज ठंड...

मेडिकल वेस्ट को मैनेज नहीं किया तो नई महामारी आ सकती है, इसे रोकने के 5 तरीके

नई दिल्ली14 मिनट पहलेलेखक: आदित्य सिंहकॉपी लिंकमेडिकल वेस्ट जीव-जंतुओं और पेड़-पौधों के लिए आम वेस्ट से ज्यादा खतरनाकदेश में रोज 101 मीट्रिक टन मेडिकल...