Home बिज़नेस स्विस कंपनी लाफार्जहॉलसीम के साथ एसीसी और अंबुजा सीमेंट्स के ऑफिस पर...

स्विस कंपनी लाफार्जहॉलसीम के साथ एसीसी और अंबुजा सीमेंट्स के ऑफिस पर छापे

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐप

मुंबई18 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा सीमेंट उत्पादक है

  • कॉम्पिटिशन कमीशन ऑफ इंडिया के अधिकारी ने भारत में कई स्थानों पर एक साथ छापा मारा
  • एक अन्य सूत्र ने बताया कि भारतीय कंपनी श्री सीमेंट लिमिटेड पर भा छापा मारा गया है

भारत की एंटीट्रस्ट बॉडी ने बुधवार को अल्ट्राटेक सीमेंट के दफ्तरों और दुनिया की सबसे बड़ी सीमेंट निर्माता कंपनी लाफार्जहोल्सीम की दो सहायक कंपनियों पर छापे मारे। दो सूत्रों ने रॉयटर्स को इस बात की जानकारी दी है। अधिकारियों ने बताया है कि स्विस-बेस्ड लाफार्जहॉलसीम, एसीसी और अंबुजा सीमेंट्स के मुंबई ऑफिस पर छापा मारा।

सूत्रों ने बताया कि कॉम्पिटिशन कमीशन ऑफ इंडिया (सीसीआई) के कुछ अधिकारी ने भारत में कई स्थानों पर एक साथ छापा मारा। हालांकि, सूत्रों ने छापे का कारण नहीं बताया। कंपनियों के अधिकारी पूरी तरह से सहयोग कर रही हैं, लेकिन अभी इस मामले में कोई टिप्पणी नहीं कर सकते हैं।

श्री सीमेंट पर भी छापा मारा
एक अन्य सूत्र ने कहा कि भारतीय कंपनी श्री सीमेंट लिमिटेड पर भा छापा मारा गया है। भारतीय सीमेंट कंपनियों में से किसी ने भी रॉयटर्स के सवालों का जवाब नहीं दिया। वहीं, सीसीआई ने भी सवालों के जवाब नहीं दिए।

भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा सीमेंट उत्पादक
भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा सीमेंट उत्पादक है। द इंडिया ब्रांड इक्विटी फाउंडेशन के आंकड़ों के मुताबिक, 2019 में ग्लोबल इंस्टॉल्ड कैपेसिटी का आंकड़ा 8% से अधिक रहा। 2019-20 में भारत में सीमेंट की बिक्री 9 बिलियन डॉलर थी।

भारत के वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने पिछले साल संसद को बताया कि सीसीआई सीमेंट कंपनियों द्वारा कार्टिलेजेशन की शिकायतों की जांच कर रहा है।

छापे से सेक्टर में दबाव बनेगा
भारत के एल एंड एल पार्टनर्स में एक रुद्रेश सिंह ने कहा कि उद्योग पर कोविड-19 के प्रभाव को देखते हुए नवीनतम छापे दबाव में ला सकते हैं। महामारी के कारण इस क्षेत्र में पहले से ही तनाव बना हुआ है।

2012 में सीसीआई ने कई सीमेंट कंपनियों पर अपने प्लांटों को कम इस्तेमाल करने और सीमेंट की आर्टिफिशियल कमी पैदा करने के लिए 1.1 बिलियन डॉलर का कुल जुर्माना लगाया था।

Source link

Most Popular

RBI के लिए महंगाई का दायरे वाला फ्लेक्सिबल टारगेट अपनाए रहना सही रहेगा

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐप18 दिन पहलेकॉपी लिंकफ्लेक्सिबल इनफ्लेशन टारगेटिंग यानी 4 पर्सेंट के पक्के...

जन जागरूकता के लिए 1 सप्ताह तक किए कार्यक्रम

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपखंडवा7 दिन पहलेकॉपी लिंकमातृशक्ति राम रथ यात्रा निकाली, सुंदर कांड और...