Home बिज़नेस 14 दिसंबर से 24 घंटे सातों दिन RTGS होगा उपलब्ध, RBI की...

14 दिसंबर से 24 घंटे सातों दिन RTGS होगा उपलब्ध, RBI की घोषणा

  • Hindi News
  • Business
  • RTGS Payment: Real time Gross Settlement Money Transfer Service Will Be Available 24 Hours From 14 December

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐप

मुंबई11 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

एनईएफटी का इस्तेमाल दो लाख रुपए तक के लेन-देन में किया जाता है। उससे ज्यादा का लेन-देन आरटीजीएस के जरिए होता है। 2 लाख से कम का ट्रांसफर आरटीजीएस से नहीं होता है। इससे भी बड़ी बात यह है कि ट्रांसफर करने पर कोई अतिरिक्त चार्ज भी नहीं देना होता है

  • अभी हर महीने के दूसरे और चौथे शनिवार को छोड़ सप्ताह के सभी कार्य दिवसों में सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक यह सिस्टम काम करता है
  • डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने के लिए रिजर्व बैंक ने जुलाई 2019 से एनईएफटी व आरटीजीएस से किये जाने वाले लेन-देन पर चार्ज लेना बंद कर दिया

बैंकों का रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट सिस्टम (RTGS) अब 24 घंटे सातों दिन उपलब्ध रहेगा। 14 दिसंबर से यह सुविधा शुरू हो जाएगी। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बुधवार को इसकी जानकारी दी। इससे अब ग्राहकों को पैसे भेजने में आसानी हो जाएगी। अभी हर महीने के दूसरे और चौथे शनिवार को छोड़ सप्ताह के सभी कार्य दिवसों में सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक यह सिस्टम काम करता है।

गिने-चुने देशों में शामिल हुआ भारत

RBI द्वारा दी गई इस सुविधा के बाद भारत अब उन कुछ गिने-चुने देशों में शामिल हो गया है जहां पर RTGS राउंड द क्लॉक यानी 24 घंटे सातों दिन उपलब्ध रहता है। इससे पहले भारतीय रिजर्व बैंक ने इसी साल में नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (NEFT) को 24 घंटे सातों दिन उपलब्ध कराने की सुविधा दी थी।

मॉनिटरी पॉलिसी में हुई थी घोषणा

बता दें कि अपनी मॉनिटरी पॉलिसी की बैठक में भारतीय रिजर्व बैंक ने कहा था कि जल्द ही वह RTGS को 24 घंटे उपलब्ध कराएगा। यह छुट्‌टी के दिनों में भी काम करेगा। इसी के बाद इस सुविधा को शुरू करने का निर्णय लिया गया है। 13 दिसंबर की रात 12.30 के बाद यह सुविधा उपलब्ध हो जाएगी। यानी इसी समय पर इसे लांच किया जाएगा।

26 मार्च 2004 में हुई थी शुरुआत

RTGS की शुरुआत 26 मार्च 2004 में की गई थी। उसके 14 साल बाद इसे 24 घंटे सातों दिन के रूप में शुरू किया जा रहा है। वर्तमान में इसके जरिए रोजाना 6.35 लाख ट्रांजेक्शन बैंक करते हैं। इसकी वैल्यू 4.17 लाख करोड़ रुपए है। इसमें कुल 237 बैंक शामिल हैं। इसका औसत टिकट साइज नवंबर में 57.96 लाख रुपए रहा है। यानी एक RTGS के जरिए 57.96 लाख रुपए भेजा जाता है।

लेन-देन में होगी बढ़त

24 घंटे सातों दिन यह सुविधा उपलब्ध होने से इसके लेन-देन में बढ़त होने की उम्मीद है। साथ ही इससे ग्राहकों को सुविधा मिलेगी कि वे कभी भी इसका उपयोग कर सकते हैं। इसके जरिए बिजनेस करनेवालों को प्रभावी रूप से ज्यादा सुविधा होगी। इससे भारतीय वित्तीय बाजार में भी एक नई तेजी मिलेगी। इससे क्रॉस बॉर्डर पेमेंट में भी सुविधा होगी।

ज्यादा लेन-देन के लिए आरटीजीएस

आरटीजीएस प्रणाली का इस्तेमाल अधिक मूल्य के लेनदेन के लिये किया जाता है। गवर्नर शक्तिकांत दास ने मीटिंग में कहा था कि डिजिटल भुगतान को सुरक्षित तरीके से बढ़ाने के लिये यूपीआई अथवा कार्ड के जरिये बिना संपर्क के किये जा सकने वाले लेन-देन की सीमा को एक जनवरी 2021 से दो हजार रुपए से बढ़ाकर पांच हजार रुपए कर दिया जायेगा। देश में डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने के लिए रिजर्व बैंक ने जुलाई 2019 से एनईएफटी व आरटीजीएस के माध्यम से किये जाने वाले लेन-देन पर चार्ज लेना बंद कर दिया।

दो लाख तक के लिए एनईएफटी

एनईएफटी का इस्तेमाल दो लाख रुपए तक के लेन-देन में किया जाता है। उससे ज्यादा का लेन-देन आरटीजीएस के जरिए होता है। 2 लाख से कम का ट्रांसफर आरटीजीएस से नहीं होता है। इससे भी बड़ी बात यह है कि ट्रांसफर करने पर कोई अतिरिक्त चार्ज भी नहीं देना होता है। भारत के अंतरराष्ट्रीय वित्तीय केंद्रों को विकसित करने और घरेलू, कॉरपोरेट संस्थानों को बड़े स्तर पर ऑनलाइन भुगतान की फ्लैक्सिबिटी उपलब्ध कराने के लिए यह फैसला लिया गया है।

Source link

Most Popular

A Wrinkle in Time isn’t for cynics — or adults

A Wrinkle in Time isn’t for cynics — or adultsA Wrinkle in Time isn’t for cynics — or adultsA Wrinkle in Time isn’t for...

वाणिज्य मंत्रालय ने कार्बन ब्लैक पर एंटी डंपिंग ड्यूटी की अवधि 5 साल और बढ़ाने की सिफारिश की

Hindi NewsBusinessCommerce Min For Extension Of Anti dumping Duty On Carbon Black Used In Rubber IndustryAds से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए...

नहीं रहे 'राम जाने' जैसी फिल्मों के प्रोड्यूसर प्रवेश सी. मेहरा, एक महीने से कोविड-19 से जूझ रहे थे

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपएक महीने पहलेकॉपी लिंकशाहरुख खान स्टारर 'चमत्कार' (1992) और 'राम जाने'...

प्याज फसल के लिए जिले का चयन, पांच उद्योग लगेंगे

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपविदिशा9 दिन पहलेकॉपी लिंकप्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उन्नयन योजना के तहत एक...