Home बिज़नेस IPO आने तक ओयो होटल्स 7,200 करोड़ रुपए खर्च करने के लिए...

IPO आने तक ओयो होटल्स 7,200 करोड़ रुपए खर्च करने के लिए तैयार

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐप

मुंबई21 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

रितेश ने कहा कि आईपीओ के लिए कंपनी तैयार है। हमारे शेयर धारक और बोर्ड सदस्य इस मामले में सही फैसला सही समय पर लेंगे। बता दें कि ओयो भारत सहित कई देशों में छोटे होटल की सेवा देती है

  • कोरोना के दौरान कंपनी का बिजनेस पूरी तरह से ठप रहा क्योंकि आवागमन इस दौरान बंद था
  • रितेश अग्रवाल ने कर्मचारियों से कहा कि वे बाहरी शेयर धारकों के किसी दबाव में नहीं हैं

हॉस्पिटालिटी सेवाएं देने वाले ओयो होटल्स ने कहा है कि जब तक उसका प्रारंभिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) नहीं आ जाता है, तब तक उसके पास 7,200 करोड़ रुपए ऑपरेशन पर खर्च करने के लिए हैं। हॉस्पिटालिटी सेक्टर का यह स्टार्टअप कोविड से निकलने की कोशिश कर रहा है। कंपनी को उम्मीद है कि वह बहुत जल्द ही IPO लेकर आ जाएगी।

बोर्ड के सदस्य के साथ चैट में कही यह बात

ओयो के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) रितेश अग्रवाल ने ओयो के बोर्ड सदस्य ट्राय एलेस्टेड के साथ एक चैट में कहा कि ओयो सॉफ्टबैंक ग्रुप कॉर्प के पोर्टफोलियो में सबसे बड़े स्टार्टअप में से एक है। इसका मूल्यांकन कोरोना से पहले 10 अरब डॉलर का था। हालांकि कंपनी ने कोविड के दौरान कर्मचारियों को निकाला भी और बिजनेस भी घाटे में रहा।

कंपनी का फोकस रेवेन्यू बढ़ाने पर

रितेश अग्रवाल ने कहा कि कंपनी का फोकस प्रति उपलब्ध रूम पर रेवेन्यू 60 से 80% पर है। कोरोना से पहले इसी स्तर पर यह था। कंपनी सभी बाजारों में इसे इसी स्तर पर लाना चाहती है। भारत, चीन, जापान और दक्षिण पूर्व एशिया में इस मामले में प्रगति हो रही है। अग्रवाल ने कहा कि हम अभी भी बेस्ट प्लेस पर नहीं हैं। अभी बहुत सारा काम करना है। बातचीत से पता चला है कि कंपनी के पास एक अरब डॉलर का अभी कैश है जिसमें इसकी सभी ग्रुप कंपनियां भी शामिल हैं।

सॉफ्टबैंक का सपोर्ट

ओयो के विस्तार और फाइनेंस को सॉफ्टबैंक सपोर्ट कर रहा है। कंपनी ने हजारों कर्मचारियों की छुट्‌टी कर दी थी। कुल कर्मचारियों की तुलना में दो तिहाई कर्मचारियों की छुट्‌टी की गई जो करीबन 10 हजार है। अग्रवाल ने कर्मचारियों से कहा कि वे बाहरी शेयर धारकों के किसी दबाव में नहीं हैं। निवेशक काफी मजबूत हैं। करीबन 2 अरब डॉलर का अपनी ही कंपनी में शेयर खरीदने वाले रितेश अग्रवाल आईपीओ को लेकर काफी प़ॉजिटिव हैं।

मैनेजमेंट का फोकस

रितेश ने कहा कि हमारे मैनेजमेंट का फोकस यह है कि हम अच्छी तरह से डिजाइन कंपनी हैं। आईपीओ के लिए कंपनी तैयार है। हमारे शेयर धारक और बोर्ड सदस्य इस मामले में सही फैसला सही समय पर लेंगे। बता दें कि ओयो भारत सहित कई देशों में छोटे होटल की सेवा देती है। इसने जिन होटल के साथ अपना टाईअप किया है, वे सभी मिडल क्लास और बजट क्लास वाले होटल हैं। कोरोना के दौरान हालांकि कंपनी का बिजनेस पूरी तरह से ठप रहा क्योंकि आवागमन इस दौरान बंद था। पर 25 मई के बाद से फ्लाइट की सेवा शुरू होने से धीरे -धीरे कंपनी का बिजनेस शुरू हो रहा है।

Source link

Most Popular

12 हाई कोर्ट और जिला अदालतों में अभी भी नहीं शुरू हुआ काम

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपनई दिल्ली15 दिन पहलेलेखक: पवन कुमारकॉपी लिंककोरोनाकाल में 4633 लंबित केसों...

एसबीआई ने अपने ग्राहकों को दी राहत; फ्री में कर सकेंगे इनकम टैक्स रिटर्न फाइल

Hindi NewsBusinessSBI Gives Relief To Its Customers; Will Be Able To File Income Tax Return For FreeAds से है परेशान? बिना Ads खबरों के...

प्रोड्यूसर चार्ल्स रोवन ने कहा- 'वंडर वूमेन 1984' को ग्लोबल बनाना सबसे बड़ा मकसद

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपअंकिता तिवारी24 दिन पहलेकॉपी लिंकएक्ट्रेस गैल गदोत एक बार फिर वंडर...