Home बिज़नेस MSME सेक्टर की मदद के लिए Facebook ने लॉन्च किया बिज़नेस रिसोर्स...

MSME सेक्टर की मदद के लिए Facebook ने लॉन्च किया बिज़नेस रिसोर्स हब, लॉक डाउन में व्यापार की चुनौतियों से निपटने में मिलेगी मदद

  • दुनियाभर के 140 मिलियन से अधिक छोटे व्यवसाय हर माह फेसबुक की एप्स का उपयोग करते हैं।
  • भारत में 63 मिलियन से अधिक एमएसएमई हैं।

हलचल टुडे

Apr 12, 2020, 02:33 PM IST

नई दिल्ली. तेजी से बढ़ती कोविड-19 महामारी से हर जगह के समुदाय और अर्थव्यवस्थाएं प्रभावित हो रही हैं। वायरस का प्रकोप वैश्विक और भारतीय अर्थव्यवस्था तथा वित्तीय बाजारों के लिये सबसे बड़े खतरों में से एक बन चुका है और दुनियाभर का उत्पादन धीमा हो गया है। इस सबसे ज्यादा असर MSME सेक्टर पर देखने को मिल रहा है। भारत में 63 मिलियन से अधिक एमएसएमई (सूक्ष्‍म, लघु एवं मध्‍यम उद्योग मंत्रालय की वार्षिक रिपोर्ट 2018-19 के अनुसार) है। इसमें से कई प्रकोप बढ़ने के साथ बुरी तरह प्रभावित हो रहे हैं।

इस आपातकाल की प्रतिक्रिया के तौर पर फेसबुक व्यवसायों के साथ निकटता से काम कर रहा है, ताकि उनकी मदद करने का सर्वश्रेष्ठ तरीका समझ सके और कोविड-19 के प्रकोप के दौरान लोचशीलता का निर्माण कर सके। दुनियाभर के 140 मिलियन से अधिक छोटे व्यवसाय हर माह फेसबुक की एप्स का उपयोग करते हैं। सूक्ष्म, लघु और मध्यम व्यवसायों को इस कठिन समय से उबरने में मदद करने के लिये फेसबुक ने बिजनेस रिसोर्स हब, लॉन्च किया है, जो एमएसएमई के लिये पाँच सरल उपाय बताता है, ताकि वे अपने ग्राहकों को सहयोग दे सकें और व्यवसाय की कुछ चुनौतियों से निपट सकें।

अपने आप को सुरक्षित और सूचित रखें: हर किसी के दिमाग में कोविड -19 के साथ, व्यवसायों को विश्व स्वास्थ्य संगठन और उनके स्थानीय सरकार स्वास्थ्य विभाग जैसी जानकारी के विश्वसनीय स्रोतों का पालन करने की आवश्यकता है, ताकि वे विकसित स्थिति पर अपने उपयोगकर्ताओं के साथ नियमित और पारदर्शी रूप से संवाद कर सकें। साथ ही अपने कर्मचारियों और अपने ग्राहकों के लिए सही निर्णय लें।

अपने उपभोक्ताओं के साथ संपर्क में रहें: व्यवसाय बंद होने या पीड़ित होने पर संचार को रोकना सरल है। लेकिन यह ग्राहकों के साथ संपर्क में रहने, संबंध बनाने और नियमित रूप से संवाद करने का समय है। ईमेल पर, किसी की वेबसाइट पर, और फ़ेसबुक फैमिली ऑफ़ एप्स के पृष्ठों पर अपने ग्राहकों के साथ जानकारी साझा करना महत्वपूर्ण है। संचार चैनलों को खुला रखें, भले ही वे प्रतिक्रिया करने में धीमे हों।

ऑनलाइन इवेंट्स को होस्ट करें: तकनीक और विभिन्न टूल्‍स जैसे ऑनलाइन वेबिनार, या फेसबुक या इंस्टाग्राम पर लाइव सत्र का लाभ उठाएं, न केवल अपने ग्राहकों से जुड़ने के लिए, बल्कि आपके व्यवसाय को गतिमान रखने के लिए, भले ही यह धीमी गति से हो।

ग्राहक सेवा योजना तैयार करें: व्यवसाय में धीमेपन से निराश न हों। आने वाले हफ्तों और महीनों के लिए एक योजना तैयार करें। एक ग्राहक के आधार पर आने वाले प्रश्न और अनुरोध हो सकते हैं। आकस्मिक रूप से प्रतिक्रिया देने और एक दर्शक के साथ पारदर्शी होने के लिए एक आकस्मिक योजना बनाई जानी चाहिए। ईमेल के लिए टेम्पलेट प्रतिक्रियाएं और फेसबुक मैसेंजर और इंस्टाग्राम डायरेक्ट मेसैज जैसी मुफ्त चैट सेवाएं आपके ग्राहकों के साथ गहरे स्तर पर जुड़ने का एक अवसर हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (एफएक्‍यूज) की एक सूची प्रदान करें: आपके ग्राहक प्रश्न करने के लिए बाध्य हैं। विस्तृत प्रतिक्रियाएं और पुन: आश्‍वासन प्रदान करते हुए, उपभोक्ताओं से पूछे जाने वाले प्रश्नों की एक सूची तैयार करें। स्थिति को प्रकट करने के लिए अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्नों को अपडेट करते रहें।

अर्चना वोहरा, निदेशक, लघु और मध्यम व्यवसाय (एसएमबी), फेसबुक इंडिया ने कहा, “फेसबुक पर, हम छोटे व्यवसायों को सक्षम करने के लिए उपाय कर रहे हैं, और कोविड-19 के प्रकोप के दौरान लचीलेपन का निर्माण कर रहे हैं। हमने एक बिजनेस रिसोर्स हब लॉन्च किया है, जो एसएमबी को उन चुनौतियों से उबरने के लिए क्या करना चाहिए, इस पर मार्गदर्शन कर सकता है। हमने अपने कई प्रमुख कौशल और सलाह कार्यक्रमों के लिए आभासी प्रारूप भी शुरू किए हैं। विश्व स्तर पर हमने 30,000 छोटे व्यवसायों को समर्थन देने के लिए 100 मिलियन अमरीकी डॉलर के अनुदान की घोषणा की है। हम अभी भी अपने विज्ञापनदाताओं के साथ मिलकर काम करना जारी रखते हैं ताकि उन्हें अनुकूलित व्यावसायिक समाधान और मार्गदर्शन मिल सके, जिसकी उन्हें अभी आवश्यकता है।”इसके अलावा, फेसबुक ने उपकरण और संसाधन बनाए हैं, जो व्यवसायों को इस चुनौतीपूर्ण समय के दौरान उनकी दिन-प्रतिदिन की गतिविधियों को प्रबंधित करने में मदद करेंगे।

स्‍मॉल बिजनेस रिसाइलिएंस टूलकिट- यह टूलकिट एसएमबी के लिए एक रूपरेखा प्रदान करती है, जिसमें व्यवसाय की रुकावटों से उभरने के लिए एक व्यापक योजना बनाने के लिए समय या संसाधन नहीं हो सकता है। यह टूलकिट सर्वोत्तम प्रथाओं पर आधारित है और बुनियादी व्यापार लचीलापन गतिविधियों और दृष्टिकोणों पर व्यवसायों को शिक्षित करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। ये संसाधन संभावित व्यावसायिक व्यवधानों को संभालने के लिए लचीलेपन का निर्माण करते हुए, तैयारियों के मुद्दों को संबोधित करने की दिशा में एसएमबी का मार्गदर्शन करेंगे। टूलकिट को किसी भी व्यवसाय का नेतृत्व करने के लिए डिज़ाइन किया गया है, चाहे आपदा का अनुभव या ज्ञान न हो, अधिक लचीलापन के लिये।

टूलकिट की मुख्य विशेषताएं
व्यवधान के दौरान निरंतर संचालन के लिए आवश्यक व्यावसायिक गतिविधियों को पहचानना। उन जोखिमों की योजना बनाना, जो आपके व्यवसाय को प्रभावित करते हैं। अपने व्यवसाय के अनुरूप एक आसानी से उपयोग करने योग्य समाधान योजना बनाना, जिससे आपको आपदा की स्थिति में एक योजना मिल सके।

क्विक एक्‍शन गाइड

इस क्विक एक्शन गाइड का उद्देश्य व्यावसायिक व्यवधान के दौरान संदर्भ के लिए एक प्रारंभिक प्रतिक्रिया ढांचा प्रदान करना है। यह गाइड डाउनटाइम को कम करते हुए लोगों और संपत्ति की सुरक्षा पर ध्यान देने के साथ प्रतिक्रिया गतिविधियों को समन्वयित करने के लिए दिशा प्रदान करती है, जो आपके या आपके व्यवसाय के संचालन के सभी हिस्सों को प्रभावित करती हैं।

डब्ल्यूमॉल के संस्थापक ऋषभ वर्मा ने कहा, डब्ल्यूमॉल में हमारे कर्मचारियों की भलाई हमारे लिए सर्वोच्च प्राथमिकता रही है। हम अपने कर्मचारियों को सुरक्षित और घबराहट से दूर रखना सुनिश्चित करने के लिए बहुत जल्दी एक रिमोट सेटअप में चले गए। न केवल हमारे कर्मचारियों के साथ, बल्कि हमारे मंच पर विक्रेताओं और अन्य विक्रेताओं के साथ संचार के लिए इस संक्रमण को सुचारू करने के लिए फेसबुक एप्स का परिवार एक जीवनरक्षक बन गया है। अभी जैसे समय में फेसबुक के स्मॉल बिजनेस रिसोर्स हब जैसे संसाधन एसएमबी के लिए भी मददगार साबित हो सकते हैं।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

पोलैंड में बाबूजी के नाम पर रखा जा रहा चौराहे का नाम, बिग बी ने लिखा- दशहरे पर इससे अच्छा तोहफा कुछ और नहीं...

3 दिन पहलेकॉपी लिंकमहानायक अमिताभ बच्चन के पिता और कवि डॉ. हरिवंशराय बच्चन के नाम पर पोलैंड के व्रोकला शहर में एक चौराहे का...

इंदाैर में सर्विस रोड पर पेड़ से लटके मिले युवक-युवती, लड़की ने अपने दुपट्‌टे से तो लड़के ने गमछे से बनाया फंदा

इंदौर23 मिनट पहलेकॉपी लिंकदोनों ने अलग-अलग फंदे पर लटककर जान दी।बाणगंगा थाना क्षेत्र के लवकुश चौराहा के पास सर्विस रोड पर लटके हुए थे...

पूर्व विधानसभा अध्यक्ष यज्ञदत्त शर्मा के नाती ने अवैध संबंधों के शक में पत्नी की हत्या की

इंदौर24 मिनट पहलेअंशु (बाएं) और आरोपी हर्ष जुलाई में कॉन्टैक्ट में आए थे। एक महीने बाद ही दोनों ने घर से भागकर आर्य समाज...