Home मनोरंजन अनिल कपूर से भिड़ गए अनुराग कश्यप, अनिल बोले- अबे मेरी गाड़ी...

अनिल कपूर से भिड़ गए अनुराग कश्यप, अनिल बोले- अबे मेरी गाड़ी 40 साल तो चली, तेरी तो अभी तक गैरेज से ही नहीं निकली

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐप

24 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सोशल मीडिया पर सिर्फ ट्रोलर्स ही नहीं सेलेब्स भी एक-दूसरे को उकसाते हैं और टांग खींचते हैं। दिलजीत दोसांझ और कंगना रनोट के बाद ताजा मामला अनिल कपूर और अनुराग कश्यप से जुड़ा है। अनिल इन दिनों सेल्फ आइसोलेशन में हैं क्योंकि उनकी फिल्म जुग जुग जियो की शूटिंग को-स्टार्स के कोरोना पॉजिटिव होने के कारण रुकी हुई है और वे अपना समय सोशल मीडिया पर बिता रहे हैं।

अनिल-अनुराग की झड़प ऐसे शुरू हुई
अनिल रविवार को एक पोस्ट किया जिसमें उन्होंने दिल्ली क्राइम के एम्मी अवॉर्ड मिलने पर खुशी जाहिर की और लिखा- मैंने पहले भी एक बार कहा था और फिर से कहूंगा क्योंकि वे वाकई में ये डिजर्व करते हैं। बधाई हो टीम दिल्ली क्राइम। आखिरकार अपने लोगों को इंटरनेशनल पहचान मिलने पर अच्छा लगा। अनिल के इस पोस्ट पर अनुराग कश्यप ने लिखा- किसी डिजर्विंग इंसान को इंटरनेशनल पहचान मिलने पर अच्छा लग रहा है। वैसे आपका ऑस्कर किधर है? नहीं है? अच्छा… नॉमिनेशन?

अनिल को कहा हैंड मी डाउन फिल्मों का किंग
अनिल को अनुराग की यह बात पसंद नहीं आई और उन्होंने जवाब देते हुए लिखा- आप ऑस्कर के सबसे करीब आए हैं, स्लमडॉग मिलियनेयर को टीवी पर ऑस्कर जीतते हुए देख रहे हैं। तुमसे न हो पाएगा। इस पर भी अनुराग चुप नहीं हुए, इस पोस्ट को कोट करते हुए लिखा- हैंड मी डाउन फिल्मों के किंग क्या कहते हैं, क्या आप इस फिल्म के लिए भी दूसरी पसंद नहीं थे?

बाल पर अटक गई अनिल-अनुराग की बात
अनिल ने अनुराग को करारा जवाब देते हुए लिखा- हैंड-मी-डाउन या पिक-मी-अप, मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता। काम बस काम है। तुम्हारे जैसे काम ढूंढते वक्त बाल तो नहीं नोंचने पड़ते। एक्टर लाइफ। इस पर अनुराग ने अनिल पर तंज कसते हुए कहा- सर, आप बाल के बारे में न कहिए। आपको तो अपने बाल के दम पे रोल्स मिलते हैं।

अनिल ने अगली पोस्ट में लिखा- बेटा, तुमको मेरा जैसा कॅरियर पाने के लिए सीरियस स्किल्स चाहिए हैं। ऐसे ही नहीं चल रही है हमारी गाड़ी 40 साल से। इस पर अनुराग ने उनकी कुछ पिछली फिल्मों के पोस्टर्स के साथ लिखा- सर हर 40 साल पुरानी गाड़ी को विंटेज नहीं कहते। कुछ को खटारा भी कहते हैं। रिटायरमेंट बुला रहा है।

अनिल ने भी पीछा नहीं छोड़ा
अनिल ने भी अनुराग का पीछा नहीं छोड़ा लगातार किए पोस्ट में अनिल लिखते हैं- अबे मेरी गाड़ी 40 साल चली तो चली, तेरी तो अभी तक गैरेज से ही नहीं निकली है। अपने लास्ट पोस्ट में एक फोटो के साथ लिखते हैं- सिर्फ एक ही कारण है कि मैं रो रहा हूं क्योंकि मैंने तुम्हारे साथ ये फिल्में करने की बात की। लेकिन चिंता मत करो। ये मेरी आखिरी हंसी है।

Source link

Most Popular

नगर इकाई गठन में भाजपा एक व्यक्ति एक पद सूत्र अपनाएगी

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपउज्जैन16 दिन पहलेकॉपी लिंकफाइल फोटोयानी महापौर व पार्षद के लिए दावेदारी...

उज्जैन में रात का तापमान औसत से 3.470 ज्यादा, आज मौसम रहेगा साफ

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपउज्जैन16 दिन पहलेकॉपी लिंकदो दिन से रात से सुबह तक कोहरा...