Home यूटिलिटी आयकर विभाग ने चालू वित्त वर्ष में अब तक 39 लाख करदाताओं...

आयकर विभाग ने चालू वित्त वर्ष में अब तक 39 लाख करदाताओं को जारी किया 1.26 लाख करोड़ रु. का रिफंड

  • Hindi News
  • Utility
  • Income Tax ; Tax ; Income Tax Refund ; Income Tax Return ; The Income Tax Department Has Released Rs 1.26 Lakh Crore To 39 Lakh Taxpayers So Far In The Current Financial Year. Refund Of

नई दिल्लीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

विभाग ने एक अप्रैल से 27 अक्टूबर तक ये रिफंड जारी किया है

  • 37.21 लाख से ज्यादा पर्सनल इनकम टैक्सपेयर्स को 34,532 करोड़ रुपए का रिफंड दिया गया
  • 1.92 लाख से ज्यादा करदाताओं को 92,376 करोड़ रुपए का कॉरपोरेट टैक्स रिफंड जारी किया

आयकर विभाग ने बुधवार को एक ट्वीट के जरिए बताया कि विभाग ने एक अप्रैल से 27 अक्टूबर तक 39 लाख से ज्यादा टैक्सपेयर्स को 1.26 लाख करोड़ रुपए का रिफंड जारी किया है। इस दौरान 34,532 करोड़ रुपए का पर्सनल इनकम टैक्स रिफंड (पीआईटी) और 92,376 करोड़ रुपए का कंपनी टैक्स रिफंड किया गया है।

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने बताया कि उसने 39.14 लाख से अधिक करदाताओं को इस वित्त वर्ष में 27 अक्टूबर तक 1,26,909 करोड़ रुपए से ज्यादा का रिफंड जारी किया है। इस दौरान 37.21 लाख टैक्सपेयर्स को 34,532 करोड़ रुपए का पर्सनल इनकम टैक्स रिफंड (पीआईटी) और 1.92 लाख टैक्सपेयर्स को 92,376 करोड़ रुपए का कंपनी टैक्स रिफंड किया गया था।

इस तरह चेक कर सकते हैं अपने रिफंड का स्टेटस

  • करदाता https://tin.tin.nsdl.com/oltas/refundstatuslogin.html पर जा सकते हैं।
  • रिफंड स्टेटस पता लगाने के लिए यहां दो जानकारी भरने की जरूरत है – पैन नंबर और जिस साल का रिफंड बाकी है वह साल भरिए।
  • अब आपको नीचे दिए गए कैप्चा कोड को भरना होगा।
  • इसके बाद Proceed पर क्लिक करते ही स्टेटस आ जाएगा।
  • इसके अलावा टैक्सपेयर इनकम टैक्स पोर्टल में अपने इनकम टैक्स खाते में लॉग इन करें।
  • लॉग इन करने के बाद माय अकाउंट्स> रिफंड/डिमांड स्टेटस पर क्लिक करें।
  • इसके बाद वह असेसमेंट ईयर भरें जिसका आपको रिफंड स्टेट चेक करना है।

क्या होता है रिफंड?
कंपनी अपने कर्मचारियों को सालभर वेतन देने के दौरान उसके वेतन में से टैक्स का अनुमानित हिस्सा काटकर पहले ही सरकार के खाते में जमा कर देती है। कर्मचारी साल के आखिर में इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करते हैं, जिसमें वे बताते हैं कि टैक्स के रूप में उनकी तरफ से कितनी देनदारी है। यदि वास्तविक देनदारी पहले काट लिए गए टैक्स की रकम से कम है, तो शेष राशि रिफंड के रूप में कर्मचारी को मिलती है।

वित्त वर्ष 2019-20 के लिए 31 दिसंबर तक दाखिल कर सकते हैं आईटीआर
कोरोना महामारी को देखते हुए आयकर विभाग ने रिटर्न भरने की आखिरी तारीख को एक बार फिर आगे बढ़ाया है। जिन लोगों को अपने रिटर्न के साथ ऑडिट रिपोर्ट नहीं लगानी पड़ती, वे 2019-20 के लिए अपना रिटर्न 31 दिसंबर तक जमा कर सकते हैं। पहले इसके लिए अंतिम तारीख 30 नवंबर 2020 तय की गई थी। इससे पहले सरकार ने करदाताओं को राहत देते हुए वित्त वर्ष 2018-19 के लिए आयकर रिटर्न भरने की डेडलाइन को 30 नवंबर तक बढ़ाया था।



Source link

Most Popular

ग्लेनमार्क के कई दवा ब्रांड का अधिग्रहण करेगी डॉ. रेड्डीज लैबोरेट्रीज, दोनों कंपनियों में हुआ समझौता

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपनई दिल्ली10 घंटे पहलेकॉपी लिंकइन नए ब्रांड्स के अधिग्रहण से रूस,...

शेखर सुमन ने सुशांत की मौत की जांच पर कहा- सबूतों के अभाव के चलते CBI, NCB और ED असहाय हैं

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐप44 मिनट पहलेकॉपी लिंकसुशांत सिंह राजपूत की मौत की जांच को...

पति के साथ रोज-रोज के झगड़े से तंग आकर पत्नी ने लगाई फांसी

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपसागर10 मिनट पहलेकॉपी लिंकपुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर...

हर तरह के टेक्सचर वाले बालों के लिए परफेक्ट चॉकलेट हेयर मास्क, इसे 15 दिन में एक बार ही लगाएं

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐप2 घंटे पहलेकॉपी लिंकचॉकलेट मास्क लगाने के बाद बाल ज्यादा ब्राइट...