Home यूटिलिटी इससे बचाव के लिए इम्यूनिटी बढ़ाने वाले फूड्स का करें इस्तेमाल, डेली...

इससे बचाव के लिए इम्यूनिटी बढ़ाने वाले फूड्स का करें इस्तेमाल, डेली लाइफस्टाइल, फिजिकल ऐक्टिविटी और खानपान का पूरा रखें ध्यान

हलचल टुडे

Mar 27, 2020, 02:11 PM IST

नई दिल्ली. कोरोनावायरस की रोकथाम के लिए शहर को पूरी तरह लॉकडाउन कर दिया गया है। इस दौरान लोग अपने घरों में बंद हैं। इस जानलेवा वायरस से बचने का इलाज अब तक खोजा नहीं जा सका है। ऐसे में डॉक्टर्स और एक्सपर्ट्स भी यही मानते हैं कि इस बीमारी से बचना ही सबसे बेहतर बचाव है। इस दौरान अपनी डेली लाइफस्टाइल, फिजिकल ऐक्टिविटी और खानपान का पूरा ध्यान रखें। अपनी डेली डायट में ऐसी चीजों को शामिल करें जिसमें ऐंटी-वायरल प्रॉपर्टीज हो ताकि आपकी इम्यूनिटी स्ट्रॉन्ग बने और आपका शरीर हर तरह की बीमारी से बचा रहें। स्वास्थ्य विशेषज्ञों की सलाह है कि इस घातक महामारी से बचने के लिए अपने खाने-पीने की चीजों का बारीकी से ध्यान रखने की जरूरत है। बता दें कि चीन के वैज्ञानिकों ने कुछ दिन पहले ही बताया था कि ये वायरस कमजोर या बुजुर्ग लोगों को जल्दी अपना शिकार बनाता है। इससे बचने के लिए हाई एंटी वायरल फूड को अपनी डाइट में शामिल करना बहुत जरूरी है। ये चीजें इम्यूनिटी सिस्टम को बूस्ट करेंगी और वायरस से आपकी सुरक्षा करेंगी।

खाने की हैबिट्स में करें चेंज
हेल्थ प्रोफेशनल्स का कहना है कि अभी इम्यून सिस्टम बढ़िया करने के लिए सिर्फ मल्टीविटामिन की टेबलेट ही काफी नहीं, बल्कि खाने में सुधार करना होगा। एम्स, दिल्ली की डॉक्टर रीना मित्तल के मुताबिक, कोरोनावायरस दूसरे वायरस की तरह ये भी मजबूत इम्युनिटी वालों का कुछ नहीं बिगाड़ पाता। इम्युनिटी यानी शरीर की बीमारियों से लड़ने की क्षमता के लिए जरूरी है कि हम हाई-प्रोटीन डायट लें। आमतौर पर हमारे रोजमर्रा के खाने में प्रोटीन लगभग 15% तक रहता है। लेकिन अब हमें इसे ‘रिलेटिवली हाई’ रखने की जरूरत है यानी लगभग 25 तक कार्बोहाइडेड की मात्रा लगभग 50 प्रतिशत तक हो। इसके अलावा ज्यादा से ज्यादा ऐसी चीजें खानी चाहिए जिसमें आयरन की मात्रा ज्यादा हो। सूखे मेवों में रात को भिगोए हुए बादाम इम्युनिटी बढ़ाते हैं। साथ ही अखरोट और किशमिश खाना भी शरीर को मजबूती देता है।

विटामिन-सी
सीएनएन की एक रिपोर्ट के मुताबिक, एंटी-एक्सीडेंट से भरपूर विटामिन सी भी इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाने का काम करता है। इसके लिए आपको अपनी डेली डाइट में आंवला, लाल या पीली शिमला मिर्च, संतरा, अमरूद और पपीता जैसी चीजों को शामिल करना चाहिए। विटामिन सी एंटीबॉडी के रक्त स्तर को बढ़ाता है और लिम्फोसाइटों (श्वेत रक्त कोशिकाओं) को अलग करने में मदद करता है, जिससे शरीर को यह पता लगाने में मदद मिलती है कि किस तरह की सुरक्षा की जरूरत है। वहीं कुछ शोध के मुताबिक, विटामिन सी के उच्च स्तर (कम से कम 200 मिलीग्राम) ठंड के लक्षणों की अवधि को थोड़ा कम कर सकते हैं। इन दिनों आप संतरे, अंगूर, कीवी, स्ट्रॉबेरी, ब्रसेल्स स्प्राउट्स, लाल और हरी मिर्च, ब्रोकोली, पका हुआ गोभी और फूलगोभी जैसे फूड को अपने खाने में शामिल कर सकते हैं। यह काफी लाभदायक होगा।

तुलसी और शहद खाएं
ऐंटी-वायरल और ऐंटी-इन्फ्लेमेट्री प्रॉपर्टी से भरपूर तुलसी का रोजाना सेवन करें, इससे आपकी रोगों से लड़ने की ताकत मजबूत बनेगी। लेकिन बेहद जरूरी है कि आप तुलसी का सेवन सुबह के समय खाली पेट में करें। रोजाना तुलसी की 5 पत्तियों को 1 चम्मच शहद और 3-4 काली मिर्च के दानों के साथ खाएं, इम्यूनिटी मजबूत बनेगी। वहीं, हल्दी और अदरक में पाया जाने वाला ऐंटिऑक्सिडेंट और ऐंटी-इंफ्लेमिट्री कंपाउंड ऐलर्जी से लड़ता है। इसका सेवन भी काफी लाभदायक है। ऐंटी-वायरल और जिंजरॉ से भरपूर अदरक और कर्क्युमिन से भरपूर हल्दी दोनों ही आपकी इम्यूनिटी को स्ट्रॉन्ग बनाने में मदद करते हैं। एक छोटा चम्मच हल्दी पाउडर को गरम दूध में डालकर पिएं और अदरक की चाय का सेवन करें या फिर आप अदरक को शहद के साथ खा सकते हैं।

बाहर से फूड या सब्जी मंगा रहे हैं?
लॉकडाउन के दौरान अकेले रहने वाले ज्यादातर बाहर से खाना मंगवाना पसंद कर रहे हैं। ऐसे में खास ध्यान रखें, जैसे कि खाना फ्रेश हो और खाना पूरी तरह पकी हो, क्योंकि कम पका हुआ और बासी खाना इस समय नुकसानदायक हो सकता है। हालांकि स्विगी- जोमैटो समेत आॅनलाइन फूड डिलीवरी करने वाली कंपनियां कोरोना को रोकने के लिए तमाम कोशिश कर रही हैं ताकि उनके ग्राहकों तक ‘कोरोना -फ्री’ डिलिवरी पहुंच सके। फूड डिलिवरी कंपनी SMS के जरिए WHO की गाइलाइन्स को ब्रॉडकास्ट कर रही है। वहीं, वे अपने एम्प्लॉयीज को सेल्फ-क्वारंटाइन होने के बारे में जानकारी दी है ताकि कोई लक्षण दिखने पर वे खुद को पूरी तरह से आइसोलेट कर लें। इसके अलावा, बार-बार हाथ धोने और उसके सही तरीके के बारे में भी एम्प्लॉयीज को बताया जा रहा है। वहीं, अगर आप बाहर से फल, सब्जी आदि मंगा रहे हैं तो उन्हें पहले अच्छी तरह से धो लें। उसके बाद ही सेवन करें। फल आदि धोने के बाद अपने हाथों को साबुन से ठीक ढंग से साफ करें।

होटल से या कैंटिन से खाना ले जाना कितना सुरक्षित है ?
फोर्ब्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, रेस्तरां, ऑफिस कैटिंन या फिर हाॅस्पिटल कैंटिन से खाना घर ले जाने से वायरस नहीं फैलता है। रिपोर्ट के मुताबिक, अब तक इसका कोई प्रमाण नहीं है। फूड को हमेशा हाई तापमान में तैयार किया जाता है जिससे कि वायरस का खतरा नहीं होता है।

फ्रिज में ज्यादा न भरें खाने का सामान वरना बिगड़ेगी सेहत
इन दिनों लोग भारी तादात में खाने-पीने का सामान खरीदकर घरों में रख रहे हैं। फ्रिज में रखने लायक सामान है तो उसे फ्रिज में भरे जा रहे हैं। वह सोच रहे हैं कि कभी न कभी तो काम आएंगी लेकिन यह आदत घातक साबित हो सकती है। इस लापरवाही से आप दूसरी बीमारियों का शिकार बन सकते हैं। इसलिए हम आपको बता रहें कि आप किस चीज को अपने फ्रिज में कितनी देर तक रखें ताकि वह खराब न होने पाए और आप भी स्वस्थ बने रहें। फ्रिज में रखा खाना खाना बनाने के कुछ देर बाद से उसमें बैक्टीरिया पनपने लगते हैं। हालांकि, फ्रिज में खाना रखने से यह खाना देर में खराब होता है लेकिन यह क्रिया रुकती नहीं है। मक्खन को आप फ्रिज में दो सप्ताह तक रख सकते हैं। प्लास्टिक में लपेट कर नौ माह तक फ्रीज में रखें। बचे हुए सामान के लिए बचे हुए सामान को हवा बंद डिब्बे में रख कर फ्रिज में रख सकते हैं ताकि उसमें बैक्टीरिया जन्म न लें। पेय पदार्थ जैसे दूध को इस्तेमाल से पहले उबाल लें। बैक्टीरिया के खतरे से बचाएं बेंगलुरु स्थित न्यूट्रिशनिस्ट, डॉ. अंजू सूद कहती हैं कि खाद्य पदार्थों को तुरंत फ्रिज में रखने से उन पर बैक्टीरिया की मात्रा बढ़ सकती है। इसलिए फ्रिज में रखने से पहले सामान को कमरे के तापमान पर ही ठंडा कर लें। फ्रिज का तापमान चार डिग्री सेल्सियस पर रखना चाहिए व फ्रीजर 0 डिग्री से नीचे। इस तापमान में सूक्ष्मजीव जन्म नहीं लेते, जो सामान खराब होने से बचाते हैं।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

घोटालेबाजों से लेना चाहिए पैसा, तीन कंपनियों ने किया है 82,000 करोड़ देने का ऑफर

Hindi NewsBusinessLoan Repayment: Kapil Wadhawan DHFL Finance And Other Three Companies Offers Rs 82,000 Croresमुंबई2 घंटे पहलेलेखक: अजीत सिंहकॉपी लिंकडीएचएफएल ने 43 हजार करोड़...

पैदल 15 किमी. का जंगल पार कर पढ़ने जाती हैं लड़कियां, सोनू सूद का ऐलान- हर लड़की तक साइकिल पहुंच रही है

10 घंटे पहलेकॉपी लिंकलॉकडाउन में हजारों प्रवासी मजदूरों के लिए बसों का अरेंजमेंट करने वाले सोनू सूद अब लड़कियों को साइकिल बांटने जा रहे...

मंत्री उषा ठाकुर को थमाया नोटिस, मदरसे वाले बयान पर मांगा जवाब, ठाकुर ने कहा था सारा कट्टरवाद, सारे आतंकवादी मदरसे में पले-बढ़े

इंदौर6 घंटे पहलेकॉपी लिंकचुनाव प्रचार के दौरान नेताओं द्वारा बोले जा रहे शब्दों को लेकर भारत निर्वाचन आयोग ने एक बार फिर संज्ञान लिया...