Home यूटिलिटी केंद्र सरकार नए वित्त वर्ष में छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरों...

केंद्र सरकार नए वित्त वर्ष में छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरों में कर सकती है कटौती, मार्च अंत तक हो सकता है ऐलान

हलचल टुडे

Mar 18, 2020, 07:43 PM IST

नई दिल्ली. केंद्र सरकार की ओर से छोटी बचत स्कीम जैसे पोस्ट ऑफिस डिपॉजिट, पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (पीपीएफ), नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट (एनएससी) और सीनियर सिटिजन सेविंग स्कीम पर मिलने वाले ब्याज दरों में कटौती की जा सकती है। आगामी वित्त वर्ष की पहली तिमाही (अप्रैल से जून) के लिए छोटी बचत स्कीम पर लगने वाले ब्याज दर का ऐलान इस माह के अंत तक किया जाएगा।

बैंकर्स की ब्याज दरों में कटौती की मांग
बता दें कि फाइनेंशिलय सिस्टम के लगभग सभी ब्याज दरों में बदलाव के बावूजद केंद्र सरकार ने जनवरी से मार्च तिमाही के लिए छोटी बचत स्कीम पर ब्याज दर को स्थिर रखा था। दरअसल बैंकर्स की लंबे वक्त से शिकायत रही है कि छोटी बचत स्कीम पर हाई इंटरेस्ट रेट लागू होने से बैंक तेजी से डिपॉडिट रेट में कटौती नहीं कर पाते हैं, जबकि दूसरी तरफ भारत के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने चालू तिमाही में फिक्सड डिपॉजिट दरों में आक्रामक रूप से कटौती की है। उदाहरण के लिए, मौजूदा वक्त में एसबीआई ने पांच साल की एसबीआई फिक्स्ड डिपॉजिट पर ब्याज दर 5.9 फीसदी रखी है। बता दें कि छोटी बचत स्कीम पर लगने वाली ब्याज दरों को तिमाही के हिसाब से निर्धारित किया जाता है।

ब्याज दरें निर्धारित करने के फॉमूले का सही से नहीं होता है पालन

अप्रैल 2016 से छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरों को तिमाही आधार पर संशोधित किया जा रहा है। लेकिन सरकारी सिक्योरिटी के आधार पर छोटी बचत दरों को तय करने का फॉर्मूला है, जिसे श्यामला गोपीनाथ समिति ने सुझाया था। लेकिन कुछ तिमाही में ब्याज दरों संशोधन के वक्त इसका सही से पालन नहीं किया जाता है। अगर सरकार की तरफ से गोपीनाथ के फॉर्मूल का कड़ाई से पालन किया जाता, तो मौजूदा वक्त की छोटी बचत स्कीम पर लगने वाली ब्याज दरें 80 से 160 बीपीएस कम होती। एसबीआई रिसर्च में कहा गया कि अगर सरकार फॉर्मूले को सही से लागू करती, इस तिमाही में पीपीएफ पर लगने वाली ब्याज दर 7 फीसदी के करीब रहती, जो कि मौजूद वक्त में 7.9 फीसदी से कम है।

मौजूदा स्कीम पर लगने वाली ब्याज दरें

स्कीम ब्याज दर
पीपीएफ, NSC Fetch 7.9 फीसदी
सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम (5 साल के लिए) 8.6 फीसदी
पोस्ट ऑफिस सेविंग 4 फीसदी
रिटेल डिपॉजिट     3 फीसदी
सुकन्या समृद्धि स्कीम 8.4 फीसदी (सालाना चक्रवृद्धि)

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

कोई चोरी-छिपे तो नहीं पढ़ रहा आपका वॉट्सऐप चैट, यह छोटी सी ट्रिक सामने ला देगी पूरी सच्चाई

Hindi NewsTech autoWhatsApp Trick| Is Some One Is Secretly Reading Your WhatsApp Chat, This Trick Will Reveal The Truthनई दिल्ली29 मिनट पहलेकॉपी लिंकइस ट्रिक...

सावधान इंडिया के डायरेक्टर को NCB ने फिर बुलाया; रिया के भाई की कस्टडी आज खत्म हो रही

Hindi NewsLocalMaharashtraDrugs Angle In Sushant Case: Dipesh Sawant Asked For Compensation Of 10 Lakh. Judicial Custody Of Shovik Endingमुंबई9 मिनट पहलेकॉपी लिंकसुशांत की मौत...

भोपाल के भेल दशहरा मैदान में नहीं होगा रावण दहन; समिति ने कहा- सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराना मुश्किल है

Hindi NewsLocalMpBhopalRavana Combustion Will Not Happen In BHEL Dussehra Ground; The Committee Said Social Distancing Is Difficult To Followभोपालएक घंटा पहलेकॉपी लिंकअन्य जगह... कहीं...

कॉफी के नुकसान और फायदे को लेकर क्या कहती हैं अलग-अलग स्टडी; कैसी और कितनी मात्रा में पियें कॉफी?

2 घंटे पहलेकॉपी लिंक2015 में पहली बार कॉफी को सेहत के लिए फायदेमंद बताया गया, 2017 में ब्रिटिश मेडिकल जर्नल ने पाया कि कॉफी...