Home यूटिलिटी कोरोनावायरस से जुड़ी फेक न्यूज़ से निपटने को Wikipedia की पहल, गलत...

कोरोनावायरस से जुड़ी फेक न्यूज़ से निपटने को Wikipedia की पहल, गलत सूचनाओं का प्रत्येक भाषा में मिलेगा जवाब

हलचल टुडे

Apr 05, 2020, 11:31 AM IST

नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। साथ ही बढ़ रही है। कोरोना वायरस से जुड़ी फेक न्यूज़। इस बीच कोरोना की सटीक जानकारी लोगों तक उनकी भाषा में पहुंचाने का काम कर रही है विकिपीडिया। उसकी ओर से अंग्रेजी और दस अन्य भारतीय भाषाओं में COVID-19 से जुड़ी सूचनाओं को देशभर में पहुंचा रहा है। साथ खबरों की समीक्षा करने और उन्हें बेहतर बनाने में लगा हुआ है।

ऑनलाइन सूचना पहुंचना जरूरी
विकीपीडीया और उससे जुड़ी परियोजनाएं किसी भी पक्षपात को रोकने के लिए एक निर्धारित स्वतंत्र संपादन नीति का पालन करती हैं। विकीपीडीया के वॉलंटियर एडिटर अभिषेक सूर्यवंशी ने कहा कि भारतीय भाषाओं में ऑनलाइन स्वास्थ्य सूचनाओं की बेहद कमी है। यह समस्या वैश्विक स्वास्थ्य संकट के दौरान और भी गंभीर हो जाती है जब लोगों को अपनी भाषा में सटीक, सही और सहज जानकारी मिलने की सख्त जरूरत होती है। सूर्यवंशी ने जोर देकर कहा कि उन्हें स्थानीय सहयोगियों से अधिक सहयोग की जरूरत है क्योंकि महामारी के दौरान स्थानीय समुदायों तक पहुंचना एक बढ़ती जरूरत बन जाती है।

35 हजार से अधिक चिकित्सा लेख मौजूद
विकीप्रोजेक्ट मेडिसिन ने विभिन्न भाषाओं में 35,000 से अधिक चिकित्सा लेखों को तैयार किया है, जिनकी समीक्षा 150 से अधिक संपादकों द्वारा की जाती है। विकीपीडीया को द न्यू यॉर्क टाइम्स ने इबोला के बारे में जानकारी देने के लिए विश्वसनीय इंटरनेट स्रोतों में से एक माना। विकीप्रोजेक्ट मेडिसिन के साथ SWASTHA की साझेदारी से कोरोनोवायरस पर दुनिया भर के विशेषज्ञों को भारतीय भाषाओं में विकीपीडीया पर अनुवाद करने में मदद मिलेगी।

कोरोना से जुड़ी 20 मिलियन प्रतिक्रियाएं
जनवरी 2020 से अंग्रेज़ी विकीपीडीया पर महामारी संबंधी प्रमुख लेख 20 मिलियन से अधिक प्रतिक्रियाओं के साथ कोरोनोवायरस के बारे में दुनिया भर का ध्यान आकर्षित कर रहे हैं। विकिमीडिया फ़ाउंडेशन, जो कि विकीपीडिया का संचालन करने वाला गैर-लाभकारी संगठन है, के मुख्य उत्पाद अधिकारी टोबी नेग्रिन ने हमें बताया कि SWASTHA जैसे स्वयंसेवी समूहों के प्रयासों से करोड़ों भारतीयों द्वारा बोली जाने वाली भाषाओं में महत्वपूर्ण स्वास्थ्य जानकारी प्राप्त करके कोरोनावायरस पर तत्काल समझ पैदा में मदद मिलेगी।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

पूर्व पीएम नवाज बोले- मुल्क में दो सरकारें चल रही हैं, इमरान के मंत्री ने कहा- आग से खेल रहा है विपक्ष

लंदन5 घंटे पहलेनवाज शरीफ कुछ महीने से लंदन में हैं। इमरान खान सरकार ने बुधवार को ब्रिटेन सरकार को फिर लेटर लिखा। इसमें शरीफ...

कैंपस के जरिए 12 हजार फ्रेशर्स की भर्ती करेगी एचसीएल, वित्त वर्ष 2022 के लिए होगी हायरिंग

नई दिल्ली15 मिनट पहलेकॉपी लिंकन्यू एज टेक्नोलॉजी और जेनेरिक स्किल्स की जरूरत को देखते हुए टेक्नोलॉजी कंपनियां लेटरल हायरिंग की भी योजना बना रही...

मैंने लीज़ चुकाकर सिर्फ इसका पजेशन वापस पाया था, दोबारा खरीदने की खबरें गलत, ये तो मेरे पास पहले से ही है

25 मिनट पहलेकॉपी लिंकसैफ अली खान का पटौदी पैलेस एक बार फिर चर्चा में है। पिछले दिनों सैफ का एक पुराना इंटरव्यू वायरल हुआ...

कोरोना के लिए निजी अस्पतालों ज्यादा भुगतान खिलाफ दायर याचिका कोर्ट ने खारिज की, एक लाख रुपए का जुर्माना भी लगया

Hindi NewsLocalMpJabalpurCourt Rejects Petition Filed Against Overpayment Of Private Hospitals For Corona, Fined One Lakh Rupeesजबलपुर15 मिनट पहलेकॉपी लिंककोर्ट ने तल्ख टिप्पणी करते हुए...