Home यूटिलिटी क्रेडिट स्कोर और इंटरेस्ट प्लान सहित इन 5 बातों पर निर्भर करती...

क्रेडिट स्कोर और इंटरेस्ट प्लान सहित इन 5 बातों पर निर्भर करती है आपके होम लोन की ब्याज दर

हलचल टुडे

Apr 05, 2020, 03:11 PM IST

यूटिलिटी डेस्क. ज्‍यादातर लोग घर खरीदने के लिए होम लोन लेते हैं। बैंक किसी भी व्यक्ति को होम लोन देने से पहले कई बातों पर ध्यान देता है। इन बातों के आधार पर ही लोन की रकम और उस पर लगने वाली ब्याज दर निर्भर करती है। होम लोन की ब्‍याज दरें- क्रेडिट अमाउंट, क्रेडिट स्कोर और ईएमआई आदि जैसे कारकों पर काफी हद तक निर्भर करती हैं। अगर आप होम लोन लेने की प्लानिंग कर रहे हैं तो उससे पहले आपको कुछ बातों पर गौर करना चाहिए। यहां हम आपको उन 5 कारकों के बारे में बता रहे हैं जो होम लोन की ब्याज दर को प्रभावित करते हैं।

 लोन की रकम
SBI बैंक में होन लोन की 3 लिमिट है, 30 लाख तक के लोन पर  7.90, 30 से 75 लाख तक का लोन 8.15 और  75 लाख से उपर की राशि का लोन लेने पर आपको 8.25 प्रतिशत सालाना ब्याज दर के हिसाब से ब्याज चुकाना होता है।

प्रोफेशन
होम लोन की ब्याज दरों पर इस बात से भी फर्क पड़ता है कि होम लोन लेने वाला व्यक्ति को सैलरी मिलती है या नहीं।  ज्यादातर केस में नॉन सैलरी वाले लोगों के लिए होम लोन की ब्याज दरें 15 बेसिस प्वॉइंट महंगी होती है। 

क्रेडिट स्कोर
किसी भी व्यक्ति का क्रेडिट स्कोर बहुत हद तक उसकी होम लोन एलिजिबिलिटी को प्रभावित करता है। क्रेडिट स्कोर कई खास क्रेडिट प्रोफाइलिंग कंपनियों की तरफ से तय किया जाता है। इसमें यह देखा जाता है कि आपने पहले लोन लिया है या क्रेडिट कार्ड आदि का इस्‍तेमाल किस प्रकार किया है। किसी भी व्यक्ति का क्रेडिट स्कोर रीपेमेंट इतिहास, क्रेडिट इस्तेमाल का अनुपात, मौजूदा लोन और बिलों के समय पर पेमेंट से पता चलता है।

महिला कर्जदार
अगर होम लोन किसी महिला द्वारा लिया जाता है तो उन्हें पुरूषों के मुकाबले सस्ता होम लोन। महिलाओं को 5 बेसिस प्वॉइंट सस्ता होम लोन मिलता है, इसलिए कोशिश कीजिए की होम लोन लेते वक्त पहली एप्लीकेंट महिला हों।

इंटरेस्ट प्लान
बैंक तीन तरह के इंटरेस्ट प्लान ऑफर करता है। यह तीन प्लान फिक्स्ड इंटरेस्ट, फ्लोटिंग इंटरेस्ट और फ्लेक्सी इंटरेस्ट प्लान होते हैं। यह भी आपकी ब्याज दर पर असर डालती हैं। फिक्स्ड होम लोन प्लान में बैंक फिक्स्ड इंटरेस्ट चार्ज करते हैं। मसलन आपको बैंक से एक तय रेट पर होम लोन मिलता है। फ्लोटिंग होम लोन प्लान में ब्याज बैंक के बेस रेट से लिंक्ड होता है। इस कारण बेस रेट में बदलाव होने से ब्याज दर घट या बढ़ जाती है। फ्लेक्सी होम लोन प्लान फ्लोटिंग और फिक्स्ड प्लान का मिला जुला रूप है। इस प्लान को हाइब्रिड होम लोन प्लान भी कहा जाता है। इसमें सबसे खास बात यह है कि ग्राहक अपनी जरूरत अनुसार लोन अवधि के बीच में अपना प्लान फिक्ड्रू या फ्लोटिंग में बदलवा सकता है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

चंद्रमा पर राहु-शनि की अशुभ छाया पड़ने से आज परेशान हो सकते हैं 7 राशि वाले लोग

14 घंटे पहलेकॉपी लिंकअशुभ ग्रह-स्थिति की वजह से कुछ लोगों को जॉब और बिजनेस में रहना होगा संभलकर24 अक्टूबर, शनिवार को चंद्रमा मकर राशि...

ढाकेश्वरी देवी शक्तिपीठ, जहां मां की प्रतिमा की सीध में 4 शिव मंदिर, आईना दिखाकर किया जाता है विसर्जन

Hindi NewsInternationalShaktipeeth Dhakeswari, Where 4 Shiva Temples Lined Up In Front Of The Idol Of The Mother, Are Immersed In A Mirror.12 घंटे पहलेयहां...

दूसरी तिमाही में आईटी कंपनियों ने दिए शानदार नतीजे, इन शेयरों पर एक्सपर्ट दे रहे हैं निवेश की सलाह

Hindi NewsBusinessHCL Infosys TCS Wipro Share Price: India's Top IT Firms Quarterly Result And Share Market Returnsमुंबई20 मिनट पहलेकॉपी लिंकबीते छह महीने में निफ्टी...

7 साल छोटे रोहनप्रीत को नेहा कक्कड़ ने बनाया हमसफर, इन सेलेब जोड़ियों के बीच भी है 25 से 14 साल तक का एज...

9 मिनट पहलेकॉपी लिंकप्लेबैक सिंगर नेहा कक्कड़ ने सिंगर रोहनप्रीत से दिल्ली में शादी कर ली है। पिछले काफी समय से दोनों शादी की...