Home यूटिलिटी रिटायरमेंट के बाद वित्तीय संकटों से निपटने के लिए महिलाएं को भी...

रिटायरमेंट के बाद वित्तीय संकटों से निपटने के लिए महिलाएं को भी लेनी चाहिए पेंशन स्कीम

हलचल टुडे

Mar 17, 2020, 02:54 PM IST

यूटिलिटी डेस्क. दुनिया भर में लाखों लोग रिटायरमेंट में वित्तीय असुरक्षा की संभावना का सामना करते हैं। यह विकसित और उभरते बाजारों में सरकारों के लिए तेजी से बढ़ती समस्या है। बहुत से लोग वर्तमान में पेंशन सिस्टम द्वारा कवर नहीं किए जाते हैं और जो लोग कवर होते हैं, उनके लिए बचत का स्तर आरामदायक रिटायरमेंट के लिए पर्याप्त नहीं होता है। एक्सपर्ट अजय केडिया (केडिया एडवाइजरी, मुंबई) बताते हैं कि भारत के बड़े अनौपचारिक कार्यबल के कारण, आठ में से केवल एक कर्मचारी किसी भी प्रकार का पेंशन लाभ अर्जित करता है। कई भारतीय अभी भी बुढ़ापे में अपने परिवार पर निर्भर रहते हैं। भारत की जनसंख्या का तेजी से बूढ़ा होना चुनौती को बढ़ा रहा है।

वित्तीय योजनाकारों का कहना है कि ज्यादातर भारतीय महिलाओं को वित्तीय संकट बचत की कमी के कारण होते हैं। कई भारतीय महिलाएं या तो बचत नहीं करती हैं या जीवन में बहुत बाद से बचत करना या निवेश करना शुरू करती हैं। उन्हें लगता है कि उनके पास बहुत समय है। बचत नहीं करने का एक और कारण है, जीवनसाथी पर निर्भरता और भविष्य की कमाई के बारे में उच्च आशावाद। कई भारतीय महिलाएं संकट में हैं क्योंकि उनके पास बचत करने के लिए कोई योजना नहीं है। हाल के एक सर्वे के अनुसार भारतीय गृहणियों और कई लोगों को रिटायरमेंट के बारे में सही से पता ही नहीं है। इसलिए आज हम आपको बता रहे हैं कि रिटायरमेंट प्लानिंग कैसे कर सकती हैं।

वैसे तो रिटायरमेंट प्लानिंग का अंतिम उद्देश्य पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए समान है- वित्तीय स्वतंत्रता और सुरक्षा, लेकिन महिलाओं को ज्यादा और अलग तरीके से बचत करना चाहिए। इसके कारण हैं – वेतन में अंतर, महिलाओं की लंबी जिंदगी और पुरुषों की तुलना में कम संख्या में काम करने वाली महिलाएं। महिलाओं के लिए अपनी रिटायरमेंट कॉर्पस बनाने के लिए पांच सुझाव दिए जा रहे हैं:
जल्दी शुरुआत करें: यदि आप काम करती हैं, तो आपको जल्दी सेविंग शुरू करने की जरूरत है क्योंकि आपको भी नहीं पता कि कब आपको परिवार के दायित्वों के कारण कॅरियर को बैकसीट पर लेना पड़ सकता है।

सुरक्षित स्वास्थ्य बीमा: आजकल बीमारियां बढ़ती जा रही हैं ऐसे में हेल्थ कवर खरीदना समझदारी है। ऐसा करने से आप मेडिकल इमरजेंसी के दौरान रिटायरमेंट कॉर्पस को छेड़ने से बचेंगे।

सहायक आश्रितों के लिए योजना: कई महिलाएं रिटायरमेंट प्लान इसलिए लेती हैं ताकि वो रिटायरमेंट के बाद भी अपने हिसाब से जीवन जी सकें। हालांकि, जब आश्रित की बात आती है तो आपको यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि उनके लिए पर्याप्त बचत है। यदि आपके परिवार में किसी को कोई बीमारी है, तो आपको अस्पताल में भर्ती होने या लंबे समय तक चिकित्सा देखभाल के खर्चों को ध्यान में रखना होगा।

वित्त की मूल बातें जानें: महिलाओं को वित्त को समझने की आवश्यकता है ताकि वे अपने पैसे को बेहतर तरीके से मैनेज कर सकें। उचित निवेश योजना की कुंजी कुशल टैक्स योजना है। टैक्स बचाने का मतलब है, आप न केवल टैक्समैन को कम भुगतान करते हैं, बल्कि आप स्मार्ट तरीके निवेश करके धन भी कमा सकती हैं।

सोच-समझकर निवेश करें: चाहे आप गृहिणी हों, या आप फुल-टाइम या पार्ट-टाइम काम करती हों, यह महत्वपूर्ण है कि आप रिटायरमेंट प्लानिंग में भाग लें और अपने वित्तीय लक्ष्यों के बारे में निश्चित रहें। आपको ऐसे वित्त की भी योजना बनाने की आवश्यकता है जो आपके सपनों या शौक को आगे बढ़ाने के लिए भी आवश्यक हैं। सुनिश्चित करें कि आप अपने लक्ष्य के लिए निवेश करें।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

एक फर्स्ट क्लास मैच खेलने वाले वरुण टीम इंडिया में शामिल, कहा- टीम को जिताने के लिए खेलूंगा

दुबई2 घंटे पहलेकॉपी लिंकवरुण को IPL में शानदार प्रदर्शन के लिए ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए टीम इंडिया के टी-20 टीम में शामिल किया गया।ऑस्ट्रेलिया...

वनप्लस ने 17300 रुपए में लॉन्च किया नया नॉर्ड N100 स्मार्टफोन, सस्ता 5G फोन भी उतारा

Hindi NewsTech autoOnePlus Launches Its Cheapest Phone Till Date And New Mid range Device: Details Hereनई दिल्ली10 घंटे पहलेकॉपी लिंकइन स्मार्टफोन को अभी यूरोप...

जिस देश में राजदूत ही नहीं, वहां से उसे वापस बुलाने की बात कर रहे विदेश मंत्री

Hindi NewsInternationalPakistan National Assembly In A Unanimous Resolution Has Asked The Government To Recall Its Ambassador To Franceइस्लामाबादएक घंटा पहलेकॉपी लिंकविदेश मंत्री शाह महमूद...

सितंबर तिमाही में अपैरल बिक्री कमजोर, औसत रेवेन्यू भी 45-55% नीचे फिसला

Hindi NewsBusinessFashion Retailers And Coronavirus (COVID 19) IMPACT; Average Revenue Also Slipped 45 55 Percentनई दिल्ली4 घंटे पहलेकॉपी लिंकऑनलाइन सेल में पेपे जींस की...