Home यूटिलिटी सेक्टर फंड्स में निवेश आपको दिला सकता है ज्यादा फायदा, लेकिन इसमें...

सेक्टर फंड्स में निवेश आपको दिला सकता है ज्यादा फायदा, लेकिन इसमें पैसा लगाना हो सकता है थोड़ा रिस्की

  • Hindi News
  • Utility
  • Mutual Fund ; Investment ; Investing In Sector Funds Can Give You More Profit, But Investing In It May Be A Bit Risky

नई दिल्ली38 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • जो ज्यादा रिटर्न के लिए ज्यादा रिस्क उठा सकता हैं वे म्यूचुअल फंड की सेक्टर फंड्स में निवेश कर सकते हैं
  • ये फंड्स ओपन एंडेड होते हैं और इनको किसी भी वर्किंग डे में सब्सक्राइब किया जा सकता है और रिडीम कराया जा सकता है

अच्‍छे रिटर्न के लिए म्यूचुअल फंड में निवेश करना सही विकल्प हो सकता है। जो ज्यादा रिटर्न के लिए ज्यादा रिस्क उठा सकता हैं वे म्यूचुअल फंड की सेक्टर फंड्स में निवेश कर सकते हैं। बड़े रिस्क उठा सकने वाले म्यूचुअल फंड्स में माहिर इक्विटी इन्वेस्टर्स किसी सेक्टर में तेजी की संभावना पर दांव लगाते हैं। ये फंड्स ओपन एंडेड होते हैं और इनको किसी भी वर्किंग डे में सब्सक्राइब किया जा सकता है और रिडीम कराया जा सकता है।

सेक्टर म्यूचुअल फंड क्या हैं
एक सेक्टर फंड एक प्रकार का म्यूचुअल फंड है जो अर्थव्यवस्था के विशिष्ट क्षेत्रों, जैसे बैंकिंग, दूरसंचार, एफएमसीजी, फार्मास्युटिकल, सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी), और बुनियादी ढांचे में निवेश करता है। दूसरे शब्दों में, सेक्टर फंड्स आपके निवेशित धन को केवल विशिष्ट उद्योग या सेक्टर तक सीमित कर देते हैं। इनमें ऊंचा रिटर्न मिलते की उम्मीद रहती है, लेकिन ये बंटे हुए इक्विटी फंड की तुलना में रिस्की होते हैं। लिहाजा निवेशकों को किसी उन सेक्टरों की परफॉमरेंस के बारे में पहले से जानकारी होनी जरूरी है।

उदाहरण के लिए, एक बैंकिंग सेक्टर फंड बैंकों में निवेश कर सकता है और एक फार्मा फंड केवल फार्मा कंपनियों के शेयरों में निवेश कर सकता है। इन फंडों के फंड मैनेजर उन कंपनियों के शेयरों में पैसा लगाते हैं जो बाजार में अच्छा प्रदर्शन कर रही हैं। इस तरह के निवेश का उद्देश्य उन क्षेत्रों में निवेश करना है जो भविष्य में ज्यादा रिटर्न दे सकते हैं।

इन फंड्स में किन्हें इनवेस्ट करना चाहिए?
एक्सपर्ट का मानना है कि सेक्टर फंड्स में डायवर्सिफाइड इक्विटी म्यूचुअल फंड्स से ज्यादा रिस्क होता है। इसलिए ये फंड्स उन इनवेस्टर्स के लिए सही माने जाते हैं, जो ज्यादा रिस्क लेने की क्षमता रखते हैं। इसके अलावा उन्हें म्यूचुअल फंड्स की अच्छी समझ होना भी जरूरी है। इसमें 3 से 5 साल के लिए इनवेस्टमेंट किया जा सकता है।

कितना निवेश करना रहेगा सही?
सेक्टर फंड्स में ज्यादा रिस्क होने के चलते एक्सपर्ट्स का मानना है कि इनवेस्टर्स किसी एक सेक्टर फंड में अपने पोर्टफोलियो का 5 से 10% तक ही इनवेस्ट करने के बारे में सोचना चाहिए। इससे इस कैटेगरी अगर आपको नुकसान होता भी है तो आप इस नुकसान को दूसरी जगह से कवर कर सकते हैं।

इन सेक्टर फंड्स ने दिया शानदार रिटर्न

फंड का नाम 3 महीने में रिटर्न (%) 6 महीने में रिटर्न (%) 2019 में रिटर्न (%)
IDBI इंफ्रास्ट्रक्चर फंड 5.3 21.4 -5.3
आदित्य बिड़ला सन लाइफ बैंकिंग एंड फाइनेंस सर्विस 4.4 28.8 14.9
फ्रेंकलिन बिल्ड इंडिया फंड 1.3 19.5 6

सुंदरम रूरल एंड कोन्सुम्प्शन फंड

3.5 20 2.7
DSP ब्लैक रॉक नेचुरल रिसॉर्स एंड एनर्जी फंड 3.2 27.8 4.4

सोर्स: फिनकैश

Source link

Most Popular

मैक्सवेल की ताबड़तोड़ फिफ्टी से बना 389 का स्कोर, फिर स्मिथ-हेनरिक्स के 2 सुपर कैच ने पलटा मैच

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपसिडनीएक घंटा पहलेकॉपी लिंकऑस्ट्रेलिया के मोइसेस हेनरिक्स ने श्रेयस अय्यर और...

प्रदूषण के नियमों का उल्लंघन किया तो रद्द होगा वाहन का रजिस्ट्रेशन, जनवरी 2021 से लागू हो सकता है नया नियम

Hindi NewsBusinessViolate Pollution Norms For Vehicles Can Lead To Seizure Of The Vehicles Registration CertificateAds से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल...

सना खान का नया वीडियो: एक-दूसरे को बुरी नजर से बचाने आयतुल कुर्सी पढ़ते दिखे न्यूली वेड कपल

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐप43 मिनट पहलेकॉपी लिंकसना खान अपनी शादी के बाद से ही...