Home यूटिलिटी 1 अप्रैल से सभी बीमा कंपनियां लाएंगी स्टैंडर्ड हेल्थ पॉलिसी 'आरोग्य संजीवनी',...

1 अप्रैल से सभी बीमा कंपनियां लाएंगी स्टैंडर्ड हेल्थ पॉलिसी 'आरोग्य संजीवनी', बुनियादी जरूरतें होंगी कवर

हलचल टुडे

Mar 22, 2020, 02:41 PM IST

यूटिलिटी डेस्क. देश के लोगों वित्तीय स्वास्थ्य सुरक्षा लिए इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (इरडा) ने स्टैंडर्ड इंडिविजुअल हेल्थ इंश्योरेंस के लिए दिशानिर्देश जारी किए थे। इसके तहत साधारण और स्वास्थ्य बीमा कंपनियों से बुनियादी स्वास्थ्य जरूरतों के लिए अधिकतम 5 लाख और न्यूनतम एक लाख रुपए वाला प्रोडक्ट अनिवार्य तौर पर ऑफर करने के लिए कहा गया है। इस प्रॉडक्ट का नाम सभी कंपनियों को ‘आरोग्य संजीवनी पॉलिसी’ रखने को कहा गया है। हालांकि इसके बाद कंपनी अपना नाम जोड़ सकेंगी। ये प्रॉडक्ट 1 अप्रैल 2020 से जारी होंगे।

बाजार में ज्यादा पॉलिसी रहने के कारण चुनने में रहती है परेशानी

  • इरडा के अनुसार बाजार में ज्यादा पॉलिसी होने के ग्राहक को बीमा पॉलिसी चुनने में परेशानी का सामना करना पड़ता है। इसलिए साधारण और स्वास्थ्य बीमा कंपनियों को एक मानक पॉलिसी लाने का निर्देश देने का फैसला किया गया। 
  • मानक उत्पाद में कुछ निश्चत कवर शामिल होंगे। कंपनियों निश्चित सुविधाओं में से जो कुछ पेशकश करेंगी, उसके आधार पर उत्पाद की कीमत तय कर सकेंगी। स्टैंडर्ड उत्पाद इंडेमनिटी के आधार पर पेश किए जाएंगे और यह पॉलिसी एक साल की होगी।

ये सुविधाएं

  • इस पॉलिसी के तहत अस्पताल में भर्ती का खर्च, कम सीमा के साथ मोतियाबिंद जैसे अन्य खर्च, दांतों का इलाज, बीमारी या दुर्घटना के कारण जरूरी होने वाली पलास्टिक सर्जरी, सभी प्रकार के डेकेयर इलाज, एंबुलेंस खर्च (प्रति हॉस्पिटलाइजेशन अधिकतम 2,000 रुपए) शामिल हैं।
  • आयुष के तहत इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती के खर्च, अस्पताल में भर्ती होने से 30 दिन पहले तक का खर्च और अस्पताल से छुट्‌टी देने के बाद 60 दिनों तक के खर्च को भी कवर किया जाएगा।
  • इरडा ने कहा कि प्रत्येक क्लेम फ्री पॉलिसी के साल के लिए सम इंश्योर्ड (बोनस को छोड़कर) को 5 प्रतिशत बढ़ाया जाएगा। इसके साथ शर्तें होंगी। बिना ब्रेक के पॉलिसी का नवीनीकरण होगा।
  • इस उत्पाद में किसी प्रकार के डिडक्टीबल्स की अनुमति नहीं है।
  • योजना को फैमिली फ्लोटर आधार पर भी पेश किया जाएगा। इसे गंभीर बीमारी कवर या लाभ आधारित कवर के साथ जोड़ा नहीं जाएगा।
  • इरडा ने पॉलिसी लेने के लिए न्यूनतम 18 साल और अधिकतम 65 साल की सीमा तय की है। पॉलिसी का पूरे जीवन नवीनीकरण हो सकेगा।
  • इस पॉलिसी पर पोर्टेबिलिटी से जुड़े नियम लागू होंगे। इसका प्रीमियम अखिलभारतीय स्तर पर तय होगा। कुछ शर्तों के साथ बिना किसी मंजूरी के इस पॉलिसी को लांच किया जा सकेगा।

क्या है फैमिली फ्लोटर प्लान?
फ्लोटर प्लान में आप अपने परिवार यानी पति या पत्नी, बच्चे, माता-पिता के साथ-साथ सास-ससुर यानी एक्सटेंडेड फैमिली कवर के रूप में ले सकते हैं। कई कंपनियां फ्लोटर प्लान में पहले से मौजूद माता-पिता की बीमारी को भी कवर करते हैं। हालांकि इसके लिए आपको प्रीमियम ज्यादा चुकाना पड़ेगा। कुल मिलाकर आप परिवार के 15 लोगों को फ्लोटर प्लान में कवर कर सकते हैं। इससे आपको परिवार के सदस्यों का अलग-अलग बीमा नहीं कराना पड़ता, इससे पैसों की भी बचत होगी।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

नेहा कक्कड़ ने रोहन प्रीत से शादी की, दिल्ली में फैमिली और चुनिंदा फ्रेंड्स की मौजूदगी में हुई सेरेमनी

31 मिनट पहलेसिंगर नेहा कक्कड़ और रोहन प्रीत सिंह ने शादी कर ली है। शनिवार को दिल्ली में उनकी पारंपरिक आनंद कारज सेरेमनी हुई।...

हैदराबाद ने पंजाब से टॉस जीतकर बॉलिंग चुनी; मयंक, नीशम और नदीम टीम से बाहर

Hindi NewsSportsCricketIpl 2020KXIP Vs SRH IPL 2020 Live Score Update; KL Rahul David Warner| Kings XI Punjab Vs Sunrisers Hyderabad Match 43rd Live Cricket...

चंद्रमा पर राहु-शनि की अशुभ छाया पड़ने से आज परेशान हो सकते हैं 7 राशि वाले लोग

14 घंटे पहलेकॉपी लिंकअशुभ ग्रह-स्थिति की वजह से कुछ लोगों को जॉब और बिजनेस में रहना होगा संभलकर24 अक्टूबर, शनिवार को चंद्रमा मकर राशि...