Home राज्य ठंडी हवा का कहर जारी, बढ़ाई ठिठुरन, दो दिन से तापमान 3.8...

ठंडी हवा का कहर जारी, बढ़ाई ठिठुरन, दो दिन से तापमान 3.8 डिग्री सेल्सियस पर अटका

  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Cold Air Continues To Wreak Havoc, Chills Increase, Temperature At 3.8 Degree Celsius For Two Days

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐप

ग्वालियर7 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

शहर में कड़ाके की ठंड जारी है, अलाव के सहारे बैठे लोग

  • -मंगलवार, बुधवार को एक सा रहा न्यूनतम तापमान -अधिकतम तापमान 20.7 डिग्री रहा था

बर्फीली हवा ने ग्वालियर सहित अंचल के अन्य शहरों में ठिठुरन वाली ठंड बढ़ा दी है। प्रदेश में दतिया और ग्वालियर के साथ भिंड, शिवपुरी में भी तापमान लगातार गिर रहा है। 8 से 10 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चली ठंडी हवा के कारण बुधवार को न्यूनतम तापमान 3.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ है। दो दिन से पारा इसी डिग्री पर अटका हुआ है, जबकि मंगलवार को अधिकतम तापमान 20.7 डिग्री रहा था। जिस कारण दिन में भी ठंड बढ़ गई है।

मौसम विभाग की माने तो अभी उत्तर भारत से बर्फीली हवा का कहर जारी है। पहाड़ों पर जमी बर्फ से टकराकर हवा पूरे उत्तर भारत के मैदानी इलाकों को प्रभावित कर रही है। इसी हवा के कारण प्रदेश के कई जिलों में तापमान 5 डिग्री से नीचे बना हुआ है। खासतौर पर ग्वालियर और उसके आसपास के शहरों दतिया, भिंड, शिवपुरी में भी कड़ाके की ठंड का दौर जारी है।

मौसम वैज्ञानिक सीके उपाध्याय ने बताया कि अभी कोई सिस्टम सक्रिय नहीं है। इस कारण पहाड़ों पर जमी बर्फ से टकराकर बर्फीली हवा जयपुर, दिल्ली, ग्वालियर होते हुए गुजरात की ओर जा रही है। हवा की रफ्तार 8 से 10 किलोमीटर प्रति घंटा होने से ये ज्यादा असर दिखा रही है। धूप जरा भी नहीं चुभ रही है। यही कारण है कि तापमान लगातार गिरता जा रहा है। बीते दो दिन से न्यूनतम तापमान 3.8 डिग्री पर अटका हुआ है।

सुबह धुंध, दिन में धूप से नहीं राहत

ठंडी हवा ने सब कुछ अस्त व्यस्त कर दिया है। सुबह सुबह धुंध आसमान में रहती है। साथ ही बर्फीली हवा के कारण धूप भी अपना असर नहीं दिखा रही है। इस कारण न्यूनतम के साथ अधिकतम तापमान भी काफी नीचे गिर गया है। आने वाले तीन से चार दिन मौसम ऐसा ही रहने वाला है।

बारिश की भी संभावना

मौसम विभाग की माने तो पुराने साल की विदा कड़ाके की ठंड के साथ ही होगी, लेकिन नए साल में 2 या 3 जनवरी को बादल आ सकते हैं और मावठ हो सकती है। जिससे रात के साथ दिन का तापमान भी तेजी से नीचे गिरेगा।

Source link

Most Popular

RBI के लिए महंगाई का दायरे वाला फ्लेक्सिबल टारगेट अपनाए रहना सही रहेगा

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐप18 दिन पहलेकॉपी लिंकफ्लेक्सिबल इनफ्लेशन टारगेटिंग यानी 4 पर्सेंट के पक्के...

जन जागरूकता के लिए 1 सप्ताह तक किए कार्यक्रम

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपखंडवा7 दिन पहलेकॉपी लिंकमातृशक्ति राम रथ यात्रा निकाली, सुंदर कांड और...