Home राज्य पीपल्याहाना फ्लायओवर के साथ इंटरनेशनल कार्गो टर्मिनल की देंगे सौगात, उद्योगपतियों से...

पीपल्याहाना फ्लायओवर के साथ इंटरनेशनल कार्गो टर्मिनल की देंगे सौगात, उद्योगपतियों से भी करेंगे बात

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐप

इंदौरएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

पीपल्याहाना फ्लायओवर सीएम के कार्यक्रम को लेकर तैयारियां शुरू हो गई हैं।

सीएम शिवराजसिंह चौहान बुधवार को इंदौरियों को पीपल्याहाना फ्लायओवर के साथ कार्गो टर्मिनल, इनक्यूबेशन सेंटर, गांधी हॉल, पांच एसटीपी, पानी की आठ टंकियों समेत कई सौगातें शहरवासियों को सौंपेंगे। इंटरनेशनल कार्गो की शुरुआत होने से इंदौर से अपना प्रोडक्ट भेजने में उद्योगपति-व्यापारियों को आसानी हो जाएगी। इंदौर, पीथमपुर से रोजाना करीब 25 टन माल की आवाजाही होती है जो वाया दिल्ली-मुंबई होकर आता-जाता है। अब यहां से व्यापारी अपना माल सीधे दुनिया में कही भी भेज सकेंगे। सबसे खास बात यह है कि यदि सीधी कार्गो फ्लाइट नहीं है तो व्यापारी यहां से कस्टम करवाकर बुक कर सकेंगे। उन्हें दिल्ली-मुंबई में दोबारा कस्टम नहीं करवाना होगा।

इनका होगा शुभारंभ

  • पीपल्याहाना फ्लायओवर : फ्लायओवर से ट्रैफिक शुरू होने से रिंग रोड और उससे जुड़ी सौ से ज्यादा कॉलोनियों को फायदा होगा। पीपल्याहाना चौराहे पर ट्रैफिक जाम से निजात मिलेगी। यहां से अलग-अलग रूट की 500 से ज्यादा यात्री बसें गुजरती हैं। सभी का कम से कम आधा घंटा बचेगा। डेढ़ से दो लाख वाहन चालकों को सीधे तौर पर राहत। रिंग रोड बायपास की अहम लिंक रोड है। इस पर सुगम ट्रैफिक का असर बायपास तक होगा।
  • इन्यूबेशन सेंटर : इंदौर स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत सिटी बस ऑफिस में तैयार नई बिल्डिंग में इनक्यूबेशन सेंटर का इन्फ्रास्ट्रक्चर तैयार हो चुका है। इसके संचालन के लिए स्मार्ट सिटी ने आईआईएम अहमदाबाद को चुना है और एग्रीमेंट प्रोसेस चल रही है। इससे इंदौर के युवाओं को स्टार्ट-अप शुरू करने के लिए आर्थिक और वैचारिक रूप से सपोर्ट मिलेगा।
  • इंटरनेशनल कार्गो टर्मिनल : उद्योगपति, कारोबारी अपना सामान देश और दुनिया में कहीं भी भेज सकेंगे। कस्टम क्लीयरेंस की सारी प्रक्रिया यहीं हो सकेगी। व्यापारियों को इसके लिए दिल्ली-मुंबई में अपना समय खर्च नहीं करना पड़ेगा। इंदौर से ही सीधे एक्सपोर्ट होने से व्यापारियों के 25 से 30 घंटे बचेंगे।
  • पांच एसटीपी : बिजलपुर, प्रतीक सेतु, नहर भंडारा, राधा स्वामी, आजादनगर एसटीपी से 67 एमएलडी पानी साफ हो सकेगा। नदी सफाई में इससे काफी सहयोग मिलेगा। पांचों एसपीटी की लागत 183 करोड़ रुपए है। ट्रीटेड वाटर का इस्तेमाल फैक्टरियों, बगीचों में हो सकेगा।
  • पानी की आठ टंकी : 23 करोड़ की लागत से तैयार पानी की आठ टंकियों से 11 हजार 960 परिवार लाभान्वित होंगे। ये टंकियां विधानसभा क्षेत्र क्रमांक में होंगी। इसके अलावा गांधी हॉल का लोकार्पण भी होगा। इसे स्मार्ट सिटी कंपनी द्वारा नए स्वरूप में तैयार किया गया है।

सीएम का ऐसा है कार्यक्रम

Source link

Most Popular

वाणिज्य मंत्रालय ने कार्बन ब्लैक पर एंटी डंपिंग ड्यूटी की अवधि 5 साल और बढ़ाने की सिफारिश की

Hindi NewsBusinessCommerce Min For Extension Of Anti dumping Duty On Carbon Black Used In Rubber IndustryAds से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए...

नहीं रहे 'राम जाने' जैसी फिल्मों के प्रोड्यूसर प्रवेश सी. मेहरा, एक महीने से कोविड-19 से जूझ रहे थे

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपएक महीने पहलेकॉपी लिंकशाहरुख खान स्टारर 'चमत्कार' (1992) और 'राम जाने'...

प्याज फसल के लिए जिले का चयन, पांच उद्योग लगेंगे

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपविदिशा9 दिन पहलेकॉपी लिंकप्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उन्नयन योजना के तहत एक...