Home राज्य पॉजिटिव मरीज की ट्रैवल हिस्ट्री नहीं; युवक के पिता 24 मार्च को...

पॉजिटिव मरीज की ट्रैवल हिस्ट्री नहीं; युवक के पिता 24 मार्च को बाइक से गए थे जबलपुर, 26 को लौटे, तब से बेटे के साथ, दोस्त भी मिलते रहे

  • पॉजिटिव मिलने से स्वास्थ्य विभाग की चिंताएं बढ़ गई है, विभाग का अनुमान है कि यह वायरस करियर स्टेज पहुंच सकता है
  • जिसमें वायरस से पीड़ित व्यक्ति में कोरोना के लक्षण तो नहीं दिखे, लेकिन वह इस वायरस को कई लोगों में फैला सकता है

हलचल टुडे

Apr 11, 2020, 05:40 PM IST

सागर. सागर शहर के सबसे घनी आबादी वाले क्षेत्र कृष्णगंज वार्ड में कोरोना का पहला पॉजिटिव केस मिलने के बाद सनसनी फैल गई। प्रशासन ने तीन किलोमीटर के एरिया को सैनिटाइज करने के बाद पांच वार्डों को सील कर दिया है। इस केस में बड़ा सवाल यह है कि पॉजिटिव पाए गए युवक में वायरस कहां से आया। उसकी ट्रेवल हिस्ट्री सामने नहीं आई है। युवक के पिता ने बताया कि वह 24 मार्च को बाइक से जबलपुर गए थे। प्रशासन ने युवक के परिजनों और दोस्तों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेज दिए हैं।

अब सवाल ये उठता है कि जब युवक के परिवार और अन्य रिश्तेदार सहित किसी अन्य में कोरोना के लक्षण नहीं दिख रहे हैं तो युवक संक्रमित कैसे हुआ। पॉजिटिव मिलने से स्वास्थ्य विभाग की चिंताएं बढ़ गई है। विभाग का अनुमान है कि यह वायरस करियर स्टेज पहुंच सकता है, जिसमें वायरस से पीड़ित व्यक्ति में कोरोना के लक्षण तो नहीं दिखे, लेकिन वह इस वायरस को कई लोगों में फैला सकता है। यदि ऐसा हुआ तो आने वाले समय में बड़ी तादात में मरीज मिलेंगे। समीर का केस भी कुछ ऐसा ही जान पड़ता है। एक अंदाजा ये भी लगाया जा रहा है कि पिछले सप्ताह सागर में जमात के कुछ लोग निजामुद्दीन की मरकज से आए थे। समीर इन्ही में से किसी के संपर्क में आया हो।

पिता ने स्वासथ्य विभाग को बताई पूरी ट्रैवल हिस्ट्री

युवक के पॉजिटिव होने की खबर के बाद उसके पिता मुबीन खान ने बताया कि वह 26 मार्च को बाइक से जबलपुर से लौटे थे। 24 मार्च को पत्नी को बाइक पर लेकर जबलपुर गया था। वहां अपने समधी के साथ करीब 36 घंटे रहा। इस दौरान में एल्गिन अस्पताल गया, जहां बेटी की डिलीवरी हुई। बीच में समधी के घर भी गया। इसके बाद मैं बाइक से 26 मार्च को सुबह लौट आया। सुबह 10 बजे मैं बहेरिया तिराहा स्थित पुलिस की चेक पोस्ट पर रुका। यहां मैंने अपनी यात्रा का ब्योरा दिया, जिसके बाद जिला अस्पताल में मेरा मेडिकल हुअा और मुझे घर जाने दिया गया।

पिता गोहलपुर थाना क्षेत्र के अमन नगर में रुके थे

पीड़ित युवक के पिता का कहना है कि, मैं 24 मार्च को जबलपुर पहुंचने के बाद सबसे पहले वहां के जनाना अस्पताल पहुंचा। इसके बाद बेटी की अमन नगर थाना गोहलपुर पहुंचा। चूंकि वहां भी लॉकडाउन की स्थिति थी, इसलिए अधिकांश समय समधी अय्यूब खान उर्फ बाबा के घर में रुका रहा। इसके बाद मैं पत्नी को वहीं छोड़कर, सागर लौट आया। मुबीन के अनुसार मेरा बेटा समीर भले ही कोरोना पॉजिटिव आया है लेकिन वह काफी दिनों से घर से बाहर नहीं आया है। यहां तक कि लॉक डाउन के काफी पहले से ठेकेदार ने उसे काम पर बुलाना बंद कर दिया था।

लॉक डाउन के दौरान फ्री में सब्जी बांटी

युवक ने पूछताछ में बीते कुछ दिनों में अपने कुछ दोस्त व पड़ोसियों से मिलना बताया है। इन सभी को मेडिकल अॉब्जर्वेशन में ले लिया गया है। इनमें से एक युवक काजी मुहाल का रहने वाला है और सब्जी बेचता है। वह पिछले कुछ दिनों सस्ती सब्जियां खरीदकर अपने आसपास के इलाकों के गरीब परिवारों को फ्री बांट रहा था। पूछताछ में इस युवक ने बताया मैं तो करीब महीने भर से समीर से नहीं मिला। अन्य लोगों ने भी इसी तरह का दावा किया है लेकिन उनका कहना है कि हमें टेस्ट कराने में कोई परेशानी नहीं है। हम भी नहीं चाहते कि हमारा परिवार कोई परेशानी में पड़े।

पहले प्राइवेट डॉक्टर की क्लीनिक पहुंचा था समीर

समीर को 6 अप्रैल की रात से तेज बुखार आना शुरू हुआ था, जिसके बाद 7 अप्रैल को वह शुक्रवारी वार्ड स्थित एक महिला डॉक्टर की क्लीनिक पर इलाज के पहुंचा। यहां डॉक्टर ने जैसे ही उसके लक्षण पूछे, उन्होंने तुरंत उसे टीबी अस्पताल भेज दिया। टीबी अस्पताल में समीर को भर्ती कर लिया गया। इस दौरान समीर का दोस्त जुनैद पूरे समय उसके साथ रहा।

सभी लोग दिव्यांग पुर्नवास केंद्र में क्वारैंटाइन

कोरोना पॉजिटिव पाए गए युवक के संपर्क में आए पिता, पत्नी, 17 माह की बेटी और अन्य रिश्तेदारों तथा दोस्तों के सैंपल जांच के लिए भोपाल भेज दिए गए हैं। कुल 27 लोगों को टीबी अस्पताल के पास स्थित दिव्यांग पुर्नवास केंद्र के नए भवन में क्वारेंटाइन किया गया है। समीर के रिश्तेदार में मामा, मामा के बेटे और बेटी, नाना-नानी, वहीं ससुराल पक्ष से मामा, उनकी बेटी, नानी आदि शामिल हैं। अन्य दोस्तों व पड़ोसियों के भी सैंपल लिए हैं। देर रात तक सभी 27 लोगों की सैंपलिंग कर जांच के लिए गाड़ी भोपाल रवाना कर दी गई। समीर की मां पिछले एक माह से जबलपुर में बहन के पास है। समीर बिजली फिटिंग का काम करता है। वहीं पिता बीड़ी कंपनी में मुनीम हैं। वे 26 मार्च को लॉकडाउन के दौरान ही जबलपुर से बाइक से सागर लौटे थे।

टीबी अस्पताल की टीम को होटल में किया गया क्वारेंटाइन
समीर 7 अप्रैल से टीबी अस्पताल में भर्ती था। संपर्क में रहे नर्सिंग और डॉक्टर स्टाफ को सिविल स्थित एक होटल में क्वारेंटाइन कर दिया गया है। अब यह स्टाफ 14 दिन तक अपने घर नहीं जाएगा। बल्कि एक दिन छोड़कर टीबी अस्पताल में ड्यूटी करता रहेगा। वहीं 14 दिन पूरे होने के बाद स्टाफ को 14 दिन के लिए फिर से क्वारेंटाइन पीरियड पूरा करना पड़ेगा।

पिता पर दर्ज हो सकता है लॉकडाउन तोड़ने का केस
इस पूरे घटनाक्रम में पीड़ित के पिता मुबीन पर लॉक डाउन का केस बनता दिख रहा है। दरअसल 24 को जब मुबीन घर से निकला तब केंद्र सरकार ने पूरे देश में लॉक डाउन कर दिया था। कोई भी व्यक्ति बिना अनुमति के एक शहर से दूसरे शहर नहीं जा सकता था। लेकिन मुबीन अनुमति की औपचारिकता से बचने के लिए 24 मार्च की अलसुबह 5 बजे जबलपुर के लिए निकल गया। इसी तरह वहां से भी वह 26 की सुबह 5 बजे बिना अनुमति सागर आ गया। हालांकि यहां आते-आते सुबह 10 बज चुके थे। पुलिस सक्रिय थी, सो उसका मेडिकल हो गया।

घर के आसपास का तीन किलोमीटर का एरिया सील

युवक के घर के आसपास का पूरा तीन किमी का एरिया कंटेनमेंट किया गया है। गऊघाट से गर्ल्स डिग्री कॉलेज चौराहा तक के इलाके को सील किया गया है। गली-कूचों में लोगों की आवाजाही प्रतिबंधित की गई है। ड्रोन से पूरे इलाके की निगरानी की जा रही है। पूरे इलाके का नगर निगम द्वारा सेनेटाइजेशन कराया जा रहा है। पॉजिटिव मरीज के मिलने पर तयशुदा प्रोटोकॉल के तहत पीड़ित के परिजन, उसके करीबी रिश्तेदार, रोज के मिलने-जुलने वालों का स्वाथ्य परीक्षण कराया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग की 200 आशा कार्यकर्ताओं को बुला लिया गया है। वे पूरे तीन किमी एरिया की स्क्रीनिंग कराएंगे।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

रिपब्लिकन्स ने पोलिंग बूथ हटाए, न्यूयॉर्क में एक लाख लोगों को गलत मतपत्र मिले

वॉशिंगटन3 घंटे पहलेकॉपी लिंकफोटो न्यूयॉर्क की है। कोरोना की वजह से लोगों को वोट डालने में दिक्कतें आ रही हैं। उन्हें लंबी कतारों में...

रिपोर्ट में दावा- रजनी ने सेहत का हवाला देकर अभी पॉलिटिक्स से दूर रहने का फैसला किया

23 मिनट पहलेकॉपी लिंकरजनीकांत ने इसी साल मार्च में उन्होंने ऐलान किया था कि वे अगले साल पोंगल पर अपनी राजनीतिक पार्टी का ऐलान...

अब दिग्विजयसिंह का सौदेबाजी का ऑडियो वायरल; सपा प्रत्याशी रोशन मिर्जा ने कहा- मुझे नाम वापस लेने के लिए कांग्रेस ने लालच दिया

Hindi NewsLocalMpBhopalDigvijay Singh SP Candidate Roshan Mirza Audio Viral; Madhya Pradesh By Election 2020 Latest Updateभोपाल7 मिनट पहलेपूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का ग्वालियर के...