Home राज्य मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलें तेज; राज्यपाल आज आ रहीं भोपाल, CM से...

मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलें तेज; राज्यपाल आज आ रहीं भोपाल, CM से मिल सकते हैं प्रदेशाध्यक्ष

  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Speculations Of Cabinet Intensify; Governor Can Meet Bhopal, Shivraj Suddenly Coming Tomorrow Afternoon, BJP State President Can Meet In The Morning

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐप

भोपाल.24 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

कल दोपहर राज्यपाल आनंदी बेन पटेल भोपाल आ रही हैं, जबकि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान दोपहर 3 बजे तक राजनीतिक बैठकें करेंगे।

  • मुख्यमंत्री ने सुबह से दोपहर तक राजनीतिक मुद्दों पर बैठक करेंगे
  • सरकारी कामकाज दोपहर बाद शुरू करेंगे

प्रदेश में एक-दो दिन में बड़ा सियासी फैसला हो सकता है। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल वे 4 दिसंबर की दोपहर सवा तीन बजे लखनऊ से विशेष विमान से भोपाल आएंगी। एयरपोर्ट से सीधे वे राजभवन पहुंचेंगी। इसी बीच खबर है कि मुख्यमंत्री शिवराजसिंह ने भी राज्यपाल के आने के पहले राजनीतिक बैठकों के लिए समय रिजर्व रखा है। सूत्रों का दावा है कि शुक्रवार की सुबह साढ़े 10 बजे से दोपहर तीन बजे तक शिवराज इसी सिलसिले में बैठकें और मुलाकातें कर सकते हैं।

सुबह साढ़े 10 बजे भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष बीडी शर्मा सीएम हाउस में मुख्यमंत्री से मुलाकात करेंगे। इसके अलावा, प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत भी सीएम हाउस जा सकते हैं। उपचुनाव के नतीजों के 24 दिन बाद हो रही यह मुलाकात मंत्रिमंडल और भाजपा संगठन के विस्तार को लेकर अहम मानी जा रही है। इसमें इस्तीफा देने वाले दोनों पूर्व मंत्रियों तुलसी सिलावट, गोविंद राजपूत के अलावा चुनाव हारे तीन मंत्रियों इमरती देवी, गिर्राज दंडोतिया और एदलसिंह कंसाना को सरकार या निगम मंडलों में जगह देने पर विचार हो सकता है।

राज्यपाल के अचानक भोपाल प्रवास को भी इसी राजनीतिक सरगर्मी से जोड़कर देखा जा रहा है। राजभवन ने राज्यपाल के भोपाल आगमन के कार्यक्रम की पुष्टि कर दी है।

सरकारी बैठकें तीन बजे बाद ही लेंगे सीएम

मुख्यमंत्री ने सुबह से दोपहर तक राजनीतिक बैठकों के लिए समय रिजर्व किया है। निगम, मंडलों में नियुक्ति के अलावा भाजपा प्रदेशाध्यक्ष के साथ संगठन की प्रदेश कार्यकारिणी पर अंतिम मोहर लगाई जा सकती है। हालांकि शिवराज कह रहे हैं कि अभी मंत्रीमंडल विस्तार का इरादा नहीं है। जब करेंगे, तो अटकलें बंद हो जाएंगी, लेकिन सिंधिया के दोनों पूर्व मंत्रियों (सिलावट-राजपूत) को प्राथमिकता से कैबिनेट का दर्जा फिर से देने का दबाव भी है। इस सिलसिले में शिवराज-सिंधिया की औपचारिक मुलाकात हो चुकी है।

Source link

Most Popular

आम लोगों के लिए अहमदाबाद में मकान खरीदना सबसे किफायती, पुणे और चेन्नई भी बेहतर

Hindi NewsBusinessAhmedabad Is The Most Affordable Residential Market, Pune And Chennai Come NextAds से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल...

मीना कुमारी, परवीन बाबी से लेकर दिव्या भारती की मौत तक, ट्रेजेडी से भरी रही इन फिल्मी सितारों की जिंदगी

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐप21 दिन पहलेकॉपी लिंकबॉलीवुड इंडस्ट्री बाहर से जितनी खूबसूरत नजर आती...

कचरा घर की जिस जमीन को अपना बताया वह दस्तावेज में नजूल की है

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपखंडवा6 दिन पहलेकॉपी लिंक100 साल पुराना है कचरा घर, इसी भूमि...

उस शख्सियत का जन्म, जिसकी वजह से नेत्रहीनों का पढ़ना-लिखना संभव हो पाया

Hindi NewsNationalToday History: Aaj Ka Itihas India World 4 January Update | Louis Braille Facts And Braille Script Invention Date, 1990 Pakistan Train AccidentAds...