Home राज्य वन विभाग की टीम को नहीं मिले झील से गायब मृत पक्षियों...

वन विभाग की टीम को नहीं मिले झील से गायब मृत पक्षियों के शव, जिम्मेदारों को नहीं पता कौन ले गया?

  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Forest Department Team Did Not Find The Bodies Of Dead Birds Missing From The Lake, Who Did Not Know The Responsibilities?

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐप

सागर18 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

जांच करती वन विभाग की टीम

  • बुधवार दोपहर मौके पर जांच करने पहुंची वन विभाग की टीम
  • तालाब सफाई का काम कर रही अश्वथ इन्फ्राटेक के जिम्मेदार घटना से बन रहे अनजान

तालाब में पक्षियों के शिकार का खुलासा होने के बाद वन विभाग की टीम बुधवार को लाखा बंजारा झील में जांच करने पहुंची। लेकिन मौके पर टीम को एक भी मृत पक्षी की बॉडी नहीं मिली। टीम के पहुंचने के पहले ही शिकारी तत्वों ने सभी पक्षियों की बॉडी को हटा दिया।

तालाब की सफाई कर रही फर्म अश्वथ इन्फ्राटेक के जिम्मेदारों को भी पता नहीं चला कि मृत पक्षियों की बॉडी कौन ले गया? जबकि फर्म ने झील के चारों ओर प्रवेश के सभी रास्तों पर 42 गार्ड लगाकर रखे हुए हैं। इनमें से 20 गार्ड दिन में और 22 गार्ड रात में निगरानी करते हैं। इसके बाद भी तालाब से मृत पक्षी रातोंरात गायब हो गए।

टीम को पंखों के टुकड़े मिलें

दक्षिण वन मंडल के रेंजर लाखन सिंह ठाकुर बुधवार दोपहर करीब एक बजे टीम के साथ झील के उन स्थानों पर पहुंचे जहां मंगलवार को मृत पक्षियों के शव देखे गए थे।

पक्षियों के पंखों के कुछ टुकड़े जरूर वन विभाग की टीम को मौके से मिले हैं। रेंजर ने बताया कि यदि पक्षियों के शव मिलते तो उनकी मौत के कारणों की जांच कराई जाती। शव नहीं मिलने से जांच नहीं हो पाएगी। लेकिन टीम अब क्षेत्र में नजर रखेगी। जिससे इस तरह की गतिविधि में जो लोग लिप्त हैं, उन्हें पकड़ा जा सके।

तीन वर्ष की सजा का है प्रावधान

रेंजर लाखन सिंह ने बताया कि पक्षियों को अनुसूची-4 के खंड 22 में रखा गया है। यदि कोई इनका शिकार करता है तो संबंधित व्यक्ति पर वन्य प्राणी अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाती है। जिसमें तीन वर्ष तक की सजा का प्रावधान है। यदि पक्षियों के शवों को वहां से हटाया गया है। तो साक्ष्य को मिटाना भी अपराध की श्रेणी में ही आता है।

झील में कौन अंदर आया, दूर से नही‌ं दिखता

हमारे इन्वायरमेंट एक्सपर्ट व टीम के अन्य लोगों से हम इस मामले की छानबीन कराते है। झील इतनी बड़ी है, चारों ओर से खुला क्षेत्र है। कौन अंदर आ गया? दूर से नहीं दिखता है। काम का प्रेशर अभी ज्यादा है। हमारा मुख्य फोकस अभी झील की सफाई पर है। टीम से कहता हूं वह आगे से क्षेत्र में निगरानी रखेगी।

– शैलेष सिंह, प्रोजेक्ट मैनेजर, झील सफाई

Source link

Most Popular

12 हाई कोर्ट और जिला अदालतों में अभी भी नहीं शुरू हुआ काम

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपनई दिल्ली15 दिन पहलेलेखक: पवन कुमारकॉपी लिंककोरोनाकाल में 4633 लंबित केसों...

एसबीआई ने अपने ग्राहकों को दी राहत; फ्री में कर सकेंगे इनकम टैक्स रिटर्न फाइल

Hindi NewsBusinessSBI Gives Relief To Its Customers; Will Be Able To File Income Tax Return For FreeAds से है परेशान? बिना Ads खबरों के...

प्रोड्यूसर चार्ल्स रोवन ने कहा- 'वंडर वूमेन 1984' को ग्लोबल बनाना सबसे बड़ा मकसद

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपअंकिता तिवारी24 दिन पहलेकॉपी लिंकएक्ट्रेस गैल गदोत एक बार फिर वंडर...