Home राज्य हम्मालों ने कहा-हमने काम से इंकार नहीं किया, व्यापारी बोले- पहले दाम...

हम्मालों ने कहा-हमने काम से इंकार नहीं किया, व्यापारी बोले- पहले दाम तय करो

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐप

गंजबासौदा20 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • मंडी में नीलामी बंद, किसान उपज बेचने को परेशान, छनाई- बिनाई के रेट पर बना है अवरोध

हम्माल यूनियन के अध्यक्ष चेतन अहिरवार ने कहा है हमने अनाज एवं तिलहन व्यापारी संघ ने काम करने इंकार नहीं किया। हम काम करने तैयार हैं। नीलामी न करने का फैसला व्यापारी संघ का है। हम चर्चा करने तैयार है। लेकिन वह बात नहीं कर रहे।

इधर व्यापारी संघ के अध्यक्ष सतीश अग्रवाल का कहना है मजदूरी के अधिकांश रेट तय हो चुके है। फिलहाल छनाई बिनाई 0के रेट को लेकर गति अवरोध बना हुआ है। मामला मजदूर संघ की ओर से अटका है। हम चाहते है। सारी रेट अभी तय हों। चर्चा अधूरी रही तो सीजन में हम्माल फिर इसी पर विवाद खड़ा कर सकते हैं। कुल मिलाकर अनाज तिलहन व्यापारी संघ के बीच पिछले पांच दिनों से नए रेटों को लेकर चल रहा विवाद समाप्त नहीं हुआ। मंडी में नीलामी बंद है। किसान उपज बेचने परेशान है।

यह मामला
हम्माल मजदूर यूनियन और अनाज एवं तिलहन संघ के बीच पिछले दो सालों से एक साल के लिए 1 जनवरी से 31 दिसंबर तक मजदूरी के लिए रेट तय होते हैं। यह सभी रेट आयटम के आधार पर तय होते हैं। दोनों संघ के प्रतिनिधियों के बीच जो तय होता है। उसकी आधार पर साल भर कार्य काम के भुगतान होता है। इसी के कारण व्यापारी संघ चाहता है समय अनुसार मामला तय हो जाए। बाद की दिक्कत न रहे।

हर साल यही हालत
पिछले कई सालों से किसी न किसी मुद्दे पर अनाज व्यापारियों और हम्माल मजदूरों के बीच विवाद के हालात बनते हैं। इसी के चलते नीलामी प्रभावित होती है। इसे राजस्व हानी होती है। किसान परेशान होता है। हालात यह है कि अन्नदाताओं के कारण ही व्यापारी से लेकर मजदूर कमाई करता है। लेकिन इन हालातों में परेशान किसान ही होता है।
कहावत सच हो रहीं: छूरी चाहे तरबूज पर गिरे या तरबूज छूरी पर कटना तरबूज को ही है। यही कहावत मंडी में सच हो रही है। मजदूरी व्यापारी जेब से नहीं देता। जितनी मजदूरी बढ़गी। व्यापारी उसी खर्च मारजन के मान से किसान से अनाज खरीदेगा। आखिर किसान पर ही तो आर्थिक बोझ बढे़गा। यही परिस्थितियां सरकार नए कानून बनाने और किसान को आंदोलन को मजबूर कर रहीं है।

हम्माल यूनियन ने कहा
हम्माल यूनियन ने आज लिखित प्रेस विज्ञप्ति जारी की है। इसमें कहा है किसानों की असुविधा को देखते हुए। 1 मार्च तक पुरानी दरों पर की काम करने तैयार हैं। हमारी तरफ से वर्तमान में कोई विवाद नहीं है। इससे मंडी में नीलामी होती है। काम करने तैयार हैं। इससे किसानों सहित नगर में होने वाली समस्या न हो।

यह आशंका: अनाज संघ के प्रतिनिधियों का कहना है कि हम भी किसानों की परेशानी समझते है। इसी कारण चाहते है मार्च से सीजन प्रारंभ होगा। उस दौरान फिर मजदूरी को लेकर हम्माल मजदूर विवाद करेंगे। मंडी में नीलामी बंद होगी। इससे यह मामला अभी तय हो जाए। वर्तमान में अभी इतनी आवक नहीं है। हम विवाद नहीं चाहते। न हमारी तरफ से होता है।

तत्काल शुरू कर देंगे नीलामी
व्यापारी मंडी को लिखित पत्र दें। नीलामी तत्काल शुरू कर देंगे। हमारी तरफ से मंडी में नीलामी बंद नहीं है। हम चाहते है। नीलामी यथावत प्रारंभ रहे।
सुधीर शिवहरे, सचिव उपसंचालक कृषि मंडी गंजबासौदा।

Source link

Most Popular

नीतू कपूर ने पूरी की अपकमिंग फिल्म 'जुग जुग जियो' की शूटिंग, सोशल मीडिया पर शेयर की फनी पोस्ट

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपएक महीने पहलेनीतू कपूर ने अपनी अपकमिंग फिल्म 'जुग जुग जियो'...

आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश की होगी बजट में झलक, विभागों से 24 तक मांगे सुझाव

Hindi NewsLocalMpBhopalSelf reliant Madhya Pradesh Will Be Glimpsed In Budget, Demand For 24 Suggestions From DepartmentsAds से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए...

2020 में विनिवेश के जरिए फंड जुटाने में 37% की कमी, इस साल अब तक 42,871 करोड़ रुपए जुटाए गए

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपनई दिल्ली21 दिन पहलेकॉपी लिंक2020 में सरकार ने सेंट्रल पब्लिक सेक्टर...