Home राज्य होलकर कॉलेज में पहले ही दिन पढ़ाई का ऑनलाइन टेस्ट, क्लास में...

होलकर कॉलेज में पहले ही दिन पढ़ाई का ऑनलाइन टेस्ट, क्लास में टीचर ने जो पढ़ाया, उसका ऑनलाइन क्लास में लाइव टेलिकास्ट

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐप

इंदौर2 दिन पहले

होलकर साइंस कॉलेज में पहले दिन ही पढ़ाई का आनलाइन प्रयाेग कर बच्चों को क्लास से सीधे जोड़ा गया।

20 मार्च 2020 के बाद से कॉलेजों में बंद ऑफलाइन क्लासेस 295 दिन बाद सोमवार से फिर से शुरू हो गईं। हालांकि सभी सरकारी, अनुदान प्राप्त और निजी कॉलेजों में ऑफलाइन पढ़ाई की शुरुआत फाइनल ईयर के छात्रों के साथ हुई है। उच्च शिक्षा विभाग के 50 फीसदी विद्यार्थियों के साथ कॉलेज खोलने की अनुमति के बाद करीब 20 से 30 फीसदी छात्र सुबह कॉलेज पहुंचे। हालांकि कोरोना गाइडलाइन को देखते हुए होलकर साइंस कॉलेज में पहले ही दिन नया प्रयोग किया गया। इसके तहत क्लास रूम में टीचर ने जो कुछ भी छात्रों को पढ़ाया, उसी का लाइव प्रसारण ऑनलाइन क्लास में किया गया।

9 महीने बाद होलकर कॉलेज में ऑफलाइन पढ़ाई शुरू हुई है।

9 महीने बाद होलकर कॉलेज में ऑफलाइन पढ़ाई शुरू हुई है।

कॉलेज प्राचार्य डॉ. सुरेश सिलावट और प्रशासनिक अधिकारी डॉ. आरसी दीक्षित ने बताया, जब टीचर क्लास में पढ़ा रहे थे, तो उसी का लाइव प्रसारण ऑनलाइन क्लास के लिए भी किया जा रहा था। कॉलेज ने यूजी कोर्स यानी बीएससी फाइनल और पीजी कोर्स यानी एमएससी 3 सेमेस्टर की 30 क्लासेस के लिए मोबाइल स्टैंड भी खरीदे हैं। क्लास रूम में दोनों तरफ की टेबलों के बीच में स्टैंड पर मोबाइल ऑन कर इसका लाइव प्रसारण किया गया।

अन्य कॉलेजों से जब इस संबंध में बात की गई, तो उन्होंने भी इसी सप्ताह से इसी तरीके से पढ़ाई की शुरुआत करने की बात कही। ओल्ड जीडीसी के सीनियर प्रोफेसर डॉ. एमडी सोमानी की मानें, तो इसके लिए तैयारी हो गई है। दो दिन में यहां भी ऑफलाइन-ऑनलाइन पढ़ाई एक साथ होनी शुरू हो जाएगी।

क्लास में स्टैंड पर मोबाइल रख टीचर द्वारा जो भी पढ़ाया गया, उसका लाइव प्रसारण हुआ।

क्लास में स्टैंड पर मोबाइल रख टीचर द्वारा जो भी पढ़ाया गया, उसका लाइव प्रसारण हुआ।

इस तकनीक के दो फायदे

  • पहला : ऑनलाइन क्लास अटेंड करने वाले विद्यार्थी को ऑफलाइन जैसा महसूस होगा।
  • दूसरा : प्रोफेसरों के लिए ऑनलाइन क्लास के लिए अलग से तैयारी नहीं करनी पड़ेगी।
लंबे समय बाद होलकर कॉलेज परिसर में चहल-पहल देखने को मिली।

लंबे समय बाद होलकर कॉलेज परिसर में चहल-पहल देखने को मिली।

कोरोना के कारण 50 फीसदी विद्यार्थी को आने की अनुमति
शहर के 150 से ज्यादा कॉलेज कैंपस ऑफलाइन पढ़ाई करवा रहे हैं। शुरू के 10 दिन बीकॉम बीए और बीएससी फाइनल ईयर के छात्रों को कॉलेज में बुलाया गया है। 20 जनवरी से प्रथम और दूसरे वर्ष के छात्र भी कॉलेज आना शुरू करेंगे। सभी सरकारी, अनुदान प्राप्त और निजी कॉलेजों को 50 फीसदी उपस्थिति के साथ कॉलेज खोलने की अनुमति जारी की है। यह भी कहा है कि कोरोना गाइडलाइन का पालन करना होगा।

एक-दूसरे से लंबे समय बाद मिले छात्रों ने मस्ती की।

एक-दूसरे से लंबे समय बाद मिले छात्रों ने मस्ती की।

Source link

Most Popular

वाहन चालकों को हेड लाइट चालू कर निकालना पड़ा वाहन

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपखरगोन6 दिन पहलेकॉपी लिंकरविवार को नगर में सुबह से घना कोहरा...

2022 तक तैयार होगी नई संसद, जानें कैसा है 865 करोड़ की योजना का ले-आउट प्लान

Hindi NewsNationalGovernment Build New Parliament Building By 2022 Gujarat Architect Bimal Patel Design ItAds से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें...

कम उधारी की मांग और लोन रिकवरी में दिक्कत के कारण NBFC को हो सकता है भारी घाटा

Hindi NewsBusinessRBI Report Update; Non Banking Finance Companies NBFCs May Suffer Huge LossesAds से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल...

'अंदाज अपना अपना' और 'बॉर्डर' के सिनेमेटोग्राफर ईश्वर बिद्री का 87 साल की उम्र में निधन, दिल का दौरा पड़ने पर अस्पताल में कराया...

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐप19 दिन पहलेकॉपी लिंकबॉलीवुड के दिग्गज सिनेमेटोग्राफर ईश्वर बिद्री का रविवार...