Home राज्य 16 वर्षों से निगम पर काबिज भाजपा, कांग्रेस के विश्वनाथ दुबे थे...

16 वर्षों से निगम पर काबिज भाजपा, कांग्रेस के विश्वनाथ दुबे थे आखिरी महापौर, अब हुआ अनारक्षित

  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • BJP Has Been In Possession For 16 Years, Vishwanath Dubey Of Congress Was The Last Mayor, Many Contenders From Both Parties

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐप

जबलपुरएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

जबलपुर नगर निगम

प्रदेश के पहले नगर निगम का तमगा रखने वाले जबलपुर महापौर का पद अनारक्षित घोषित हुआ है। इसके साथ ही शहर का राजनीतिक तापमान भी बढ़ गया। भाजपा-कांग्रेस की ओर से महापौर पद के लिए दावेदारों की लंबी सूची है। सभी के अपने दावे और तर्क हैं। हालांकि पिछले 16 वर्षों से जबलपुर नगर निगम भाजपा का मजबूत गढ़ बना हुआ है। कांग्रेस के आखिरी महापौर विश्वनाथ दुबे थे। 2004 के लोकसभा चुनाव में हार के बाद उनके इस्तीफा देने के बाद फिर कोई दूसरा टक्कर नहीं दे पाया। नगर निगम सीमा के 79 वार्डों का आरक्षण पहले ही हो चुका है। इस बाद सदन में 40 महिला पार्षद दिखेंगी।

भाजपा का मजबूत गढ़
पिछले महापौर चुनाव में भाजपा की डॉ. स्वाति सदानंद गोडबोले ने रिकॉर्ड 85 हजार 491 मतों से जीत दर्ज की थी। कांग्रेस की गीता शरत तिवारी को मिले दो लाख 12 हजार 942 मतों की तुलना में भाजपा प्रत्याशी को दो लाख 98 हजार 433 मत मिले थे। वहीं, सदन में भी भाजपा को बहुमत मिला था। 79 वार्डों में भाजपा के 42 पार्षद चुने गए थे। कांग्रेस के 29, निर्दलीय 6 और शिवसेना के दो पार्षद चुने गए थे।

21वां महापौर चुनेंगे
जबलपुर नगर निगम प्रदेश की पहली नगर निगम है। इसकी स्थापना 1864 में हुई थी। मौजूदा नगर निगम भवन 1929 में 90 हजार की लागत से तैयार हुआ था। 1952 में हुए प्रथम नगर निगम चुनाव से अब तक 19 महापौर का कार्यकाल जनता देख चुकी है। इस बार 20वें महापौर का चुनाव होगा। पिछली बार जबलपुर की सीट सामान्य महिला के लिए आरक्षित हुई थी। इस बार अनारक्षित हुआ, तो दोनों ही पार्टी के दावेदार टिकट की जुगत में लग गए हैं।

भाजपा के दावेदार डॉ. जितेंद्र जामदार, सदानंद गोडबोले, प्रभात साहू, कमलेश अग्रवाल, श्रीराम शुक्ला, अभिलाष पांडे, डॉ. विनोद मिश्रा, जीएस ठाकुर

इसलिए है दावेदारी

प्रभात साहू पूर्व महापौर रह चुके हैं। संगठन में मजबूत पैठ रहा है। लोकसभा चुनाव के प्रभारी रह चुके हैं और वीडी शर्मा से लेकर सांसद के भी करीबी हैं। युवा चेहरे को तरजीह दी गई, तो अभिलाष पांडे, और कमलेश अग्रवाल मजबूत दावेदार होंगे। सदानंद गोडबोले और उनकी पत्नी स्वाति गोडबोले महापौर रह चुके हैं। सदानंद गोडबोले का संगठन के साथ नागपुर संघ मुख्यालय में भी अच्छी पैठ है। उनके नौ महीने के कार्यकाल के बाद से ही जबलपुर भाजपा का गढ़ा बना।

डाॅ. जितेंद्र जामदार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नर्मदा संकल्प यात्रा के प्रभारी रह चुके हैं। कई चुनावों में उन्हें आश्वासन देकर बैठा दिया गया था। संघ में मजबूत पैठ है, जबकि श्रीराम शुक्ला लगातार पार्षद चुने जा रहे हैं। एमआईसी सदस्य के तौर पर जल का प्रभार संभाल रहे हैं। वहीं, डॉ. विनोद मिश्रा जेडीए के अध्यक्ष थे। संगठन में मजबूत पकड़ के चलते वे भी दावेदार हैं। जीएस ठाकुर भाजपा के वर्तमान नगर अध्यक्ष हैं। भाजपा ने पार्षदों के लिए 45 की उम्र तय की है। महापौर के लिए भी उम्र की सीमा तय हुई, तो वह भी एक मापदंड होगा।

कांग्रेस के दावेदार गौरव भनोत, जगत बहादुर सिंह अन्नू, सौरभ नाटी शर्मा, राजेश सोनकर, संजय राठौर, बाबू विश्वमोहन, आलोक मिश्रा

इसलिए दावेदारी
गौरव भनोत युवा चेहरा और पूर्व वित्तमंत्री तरुण भनोत के भाई हैं। कमलनाथ के करीबी तरुण भाई को टिकट दिलवा सकते हैं। जगत बहादुर सिंह अन्नू भी मजबूत प्रत्याशी हैं। वे महापौर, विधानसभा में भी दावेदार थे, लेकिन उन्हें आश्वासन देकर चुप करा दिया गया था। सामाजिक गतिविधियों में उनकी सक्रियता बनी रहती है। सौरभ नाटी शर्मा जमीनी नेता हैं। विवेक तन्खा के करीबी हैं। विधानसभा चुनाव में उत्तर से टिकट मांगा था। अब महापौर के लिए दावा कर रहे।

राजेश साेनकर अभी नगर निगम में नेता प्रतिपक्ष थे। सभी गुटों में स्वीकार्यता उनकी सबसे बड़ी उपलब्धि है। संजय राठौर लगातार पार्षद रहे हैं। तेज तर्रार छवि व बेबाकी के लिए जाने जाते हैं। युवा पार्षदों में अच्छी पैठ है। आलोक मिश्रा विधानसभा चुनाव में केंट विधानसभा से प्रत्याशी थे। वहीं बाबू विश्वमोहन पिता की विरासत को आगे बढ़ा सकते हैं।

कांग्रेस के आखिरी महापौर विश्वनाथ दुबे
1999 में कांग्रेस के आखिरी महापौर विश्वनाथ दुबे चुने गए थे। उनके द्वारा बनवाया गया मॉडल रोड आज भी उदाहरण बना हुआ है। 60 वार्डों के उस चुनाव में 38 पार्षद भाजपा के चुने गए थे, जबकि कांग्रेस के 25 पार्षद थे। सदन में अल्पमत के चलते और 2004 के लोकसभा चुनाव में हार के बाद उन्होंने नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे दिया था।

अब तक के चुने गए महापौर
पंडित भवानी प्रसाद तिवारी प्रजा सोशलिस्ट पार्टी
रामेश्वर गुरु कांग्रेस
सवाई मल जैन कांग्रेस
मुलायम चंद जैन कांग्रेस
पन्ना लाल श्रीवास्तव नूर कांग्रेस
गुलाब चंद गुप्ता कांग्रेस
बाबूराव परांजपे जनसंघ
गंगा प्रसाद पटेल कांग्रेस
शिवनाथ साहू कांग्रेस
नारायण प्रसाद चौधरी कांग्रेस
इंदिरा शर्मा कांग्रेस
पंडित मुंदर शर्मा कांग्रेस
डॉ के एल दुबे कांग्रेस
एनपी दुबे कांग्रेस
कल्याणी पांडेय कांग्रेस
विश्वनाथ दुबे कांग्रेस
सदानंद गोडबोल भाजपा
सुशीला सिंह भाजपा
प्रभात साहू भाजपा
स्वाति गोडबोले भाजपा

79 वार्डों का पहले ही हो चुका है आरक्षण
नगर निगम के 79 वार्डों के आरक्षण की प्रक्रिया 30 सितंबर को पूरी हो चुकी है। दावेदार पहले से सक्रिय हो चुके हैं। इस बार 40 वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित हुई हैं। इसमें छह अनुसूचित महिला, दो अनुसूचित जनजाति महिला, 10 अन्य पिछड़ा वर्ग महिला और 22 सामान्य वर्ग की महिला के लिए आरक्षित किए गए हैं। कुल आरक्षण की बात करें तो 79 वार्ड में 35 वार्ड आरक्षित चुने गए हैं। इसमें अनुसूचित जाति के लिए 11, अनुसूचित जनजाति के लिए 04, अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए 20 वार्ड आरक्षित किए गए हैं।

ये है वार्ड आरक्षण की तस्वीर
आरक्षण श्रेणी कुल वार्ड वार्ड क्रमांक
ओबीसी महिला 10 36, 71, 10, 24, 17, 57, 1, 67, 20, 27
ओबीसी अनारक्षित 10 59, 37, 2, 3, 38, 74, 65, 5, 54, 28
सामान्य वार्ड महिला 22 4, 6, 7, 12, 15, 22, 25, 31, 41, 68, 79, 14,19, 33, 69,13, 21, 72, 76, 30, 50, 60
सामान्य वार्ड अनारक्षित 22 8, 11, 16, 32, 34, 35, 39, 40, 42, 51, 55, 56, 73, 49,18, 43, 46, 61, 23, 45, 47, 26
एससी अनारक्षित 05 44, 52, 78, 63, 63
एससी महिला 06 53, 58, 66, 48, 29, 9
एसटी महिला 02 75, 70
एसटी अनारक्षित 02 64, 77

चुनाव में ये मुद्दे गरमाएंगे

  • नगर का पिछड़ापन
  • प्रशासन का निरंकुश होना
  • नगर का स्वच्छता में बार-बार पिछड़ना
  • नर्मदा किनारे भी आए दिन जल संकट
  • रोजगार के अवसर न होना
  • स्मार्ट सिटी के विकास कार्यों की सुस्त चाल
  • महानगरों के लिए आवश्यक इंफ्रास्ट्रक्चर की कमी

Source link

Most Popular

घर में नहीं सड़ेगा कचरा, कलेक्शन गाड़ी नहीं आए ताे ड्राइवर काे माेबाइल लगाएं

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपनीमच17 दिन पहलेकॉपी लिंकड्राइवरों की मनमानी पर लगेगी लगाम, नगरपालिका 32...

सियासत न कर दे कोरोना की जंग को फीका, मौकापरस्त नेताओं के लिए भी लाओ कोई टीका

आज का राशिफलमेषमेष|Ariesपॉजिटिव- आज आप में काम करने की इच्छा शक्ति कम होगी, परंतु फिर भी जरूरी कामकाज आप समय पर पूरे कर लेंगे।...

स्लाटर हाऊस व गवली पलासिया में 4 काैओं व पांदा में 1 बत्तख की माैत

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपमहू17 दिन पहलेकॉपी लिंकपांदा में बत्तख के सैंपल लिए, अब तक...

जब पहली बार चांद की कक्षा में पहुंचा था इंसान, वहां से चांद और धरती की फोटो साथ में आई थी

Hindi NewsNationalToday History: Aaj Ka Itihas India World 24 December Update | 1968 Apollo 11 Moon Landing Images, Delhi Metro Start DateAds से है...