Home राष्ट्रीय एक्सपर्ट पैनल ने सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक से वैक्सीन के ट्रायल...

एक्सपर्ट पैनल ने सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक से वैक्सीन के ट्रायल का और डेटा मांगा

  • Hindi News
  • National
  • Vaccine Updates |DCGI Expert Panel Asks SII, Bharat Biotech To Provide More Safety, Efficacy Data For COVID 19 Vaccines

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐप

नई दिल्ली7 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

अलग-अलग देशाें के डिप्लोमेट्स बुधवार को भारत बायोटेक के प्लांट में वैक्सीन की तैयारी देखने पहुंचे।

देश में कोरोना की किसी वैक्सीन के इमरजेंसी यूज को आज अप्रूवल नहीं मिल सका। फार्मा कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट, भारत बायोटेक और फाइजर ने इसके लिए एप्लीकेशन दी है। इस पर जनरल ड्रग्स स्टेंडर्ड कंट्रोल ऑर्गेनाइजेशन (CDSCO) के एक्सपर्ट पैनल ने बुधवार को सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक से उनकी कोरोना वैक्सीन का और डेटा मांगा।

यह डेटा ट्रायल के दौरान वैक्सीन की सेफ्टी और एफिकेसी से जुड़ा है। सूत्रों ने न्यूज एजेंसी PTI को बताया कि अमेरिकी कंपनी फाइजर की भारतीय इकाई की ओर से किए गए आवेदन पर बुधवार को विचार नहीं किया गया, क्योंकि उसने कमेटी के सामने प्रजेंटेशन के लिए और समय मांगा है।

एप्लीकेशन रिजेक्ट होने की खबरों को मिनिस्ट्री ने गलत बताया

भारत बायोटेक और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया दोनों के एप्लीकेशन पर अभी कोई फैसला नहीं लिया गया है। इस बीच ऐसी भी खबरें आईं कि ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक का इमरजेंसी यूज के लिए अप्रूवल का एप्लीकेशन रिजेक्ट कर दिया है। हालांकि कुछ देर बाद ही मिनिस्ट्री ऑफ हेल्थ एंड फैमिली वेलफेयर ने इन खबरों को गलत बता दिया।

फेज-2 और फेज-3 ट्रायल का डेटा मांगा

सीरम इंस्टीट्यूट के एप्लीकेशन पर विचार करते समय एक्सपर्ट पैनल ने देश में हुए फेज-2 और फेज -3 के क्लिनिकल ट्रायल का डेटा देने के लिए कहा। इसके अलावा ब्रिटेन के मेडिसिन एंड हेल्थकेयर प्रोडक्ट रेगुलेटरी एजेंसी के मूल्यांकन के नतीजों के साथ दोनों देशों में हुए ट्रायल का इम्युनोजेनेसिटी डेटा भी मांगा गया है।

हैदराबाद बेस्ड भारत बायोटेक के लिए पैनल ने सिफारिश की है कि कंपनी को देश में चल रहे फेज -3 के क्लीनिकल ट्रायल का सेफ्टी और एफिकेसी डेटा देना चाहिए।

चार दिन में तीनों कंपनियों ने एप्लाई किया

भारत बायोटेक ने ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) को सात दिसंबर को स्वदेशी वैक्सीन कोवैक्सिन के इमरजेंसी यूज के लिए आवेदन किया था। वहीं, पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट ने एक दिन पहले छह दिसंबर को ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन कोवीशील्ड के लिए सहमति मांगी थी। अमेरिकी कंपनी फाइजर ने चार दिसंबर को आवेदन किया था।



Source link

Most Popular

अक्टूबर में ESIC से 11.75 लाख नए सदस्य जुड़े, EPFO से जुड़ने वालों में कमी आई

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपनई दिल्लीएक महीने पहलेकॉपी लिंकNSO की रिपोर्ट ESIC, एंप्लॉयीज प्रॉविडेंट फंड...

NCB ने फॉरेंसिक जांच के लिए भेजे 85 गैजेट्स, इनमें दीपिका, सारा, श्रद्धा जैसे बॉलीवुड सेलेब्स के गैजेट्स भी शामिल

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपएक महीने पहलेसुशांत सिंह राजपूत डेथ केस से जुड़े ड्रग्स मामले...

3 माह में 300 मरीजों को चढ़ाया था प्लाज्मा, अब 30 दिन में सिर्फ 1 को

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपग्वालियर11 दिन पहलेकॉपी लिंकप्रतिकात्मक फोटोकारोबारी की मौत के बाद प्लाज्मा चढ़ाना...

अगर किसान संगठनों में आपसी टूट बढ़ी तो सरकार बची हुई दो मांगों पर नहीं झुकेगी

Hindi NewsNationalFarmers Protest: Kisan Andolan Delhi Burari Update | Haryana Punjab Farmers Delhi Chalo March Latest News Today 30 DecemberAds से है परेशान? बिना...