Home राष्ट्रीय मुंबई के ताज होटल के 6 कर्मचारी पॉजिटिव; सरकार ने मरीजों की...

मुंबई के ताज होटल के 6 कर्मचारी पॉजिटिव; सरकार ने मरीजों की संख्या के आधार पर राज्य को तीन जोन में बांटा

  • ताज होटल ने कोरोना संक्रमण से लड़ रहे स्वास्थ्य कर्मियों और चिकित्सकों को ठहरने की व्यवस्था की 
  • इसके बाद होटल प्रबंधन ने 500 कर्मचारियों की जांच कराई, 6 कर्मचारियों के संक्रमित होने की बात सामने आई
  • सरकार ने 15 से ज्यादा मरीजों वाले जिलों को रेड जोन, इससे कम वाले को ऑरेज और जहां एक भी मरीज नहीं उन्हें ग्रीन जोन में रखा

हलचल टुडे

Apr 12, 2020, 05:02 PM IST

मुंबई. महाराष्ट्र कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य है। यहां एक हजार 778 मामले सामने आ चुके हैं और मौतों की संख्या 127 तक पहुंच गई। संक्रमितों की तादाद में लगातार इजाफा होता जा रहा है। दक्षिण मुंबई में होटल ताज महल पैलेस के कम से कम छह कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। ताज होटल का संचालन करने वाली इंडियन होटल्स कंपनी (आईएचसी) ने कर्मचारियों में संक्रमण की पुष्टि की है। हालांकि, संख्या के बारे में स्पष्ट नहीं किया है। दरअसल, होटल ने कोरोना संक्रमण से लड़ रहे स्वास्थ्य कर्मियों और चिकित्सकों को ठहरने की व्यवस्था की है। इसके बाद उसने अपने 500 कर्मचारियों की जांच कराई थी। इनमें से शनिवार को 6 में संक्रमण की बात सामने आई है।

रविवार को 17 नए केस आए हैं। इसे मिलाकर राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या 1778 पर पहुंच गई है। इस बीच, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने संकेत दिए हैं कि लॉकडाउन पार्ट-2 अब और ज्यादा सख्त होगा। संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए राज्य को तीन जोन में बांटा गया है।

महाराष्ट्र को तीन जोन में बांटा गया:

संक्रमण से निपटने के लिए राज्य सरकार ने 15 से ज्यादा मरीजों वाले जिलों को रेड जोन में रखा है। इससे कम वालों को ऑरेंज जोन और जहां एक भी मरीज नहीं है उसे ग्रीन जोन में रखा गया है। माना जा रहा है कि इसी के आधार पर अगले लॉकडाउन का एक्शन प्लान तैयार किया जाएगा। 

रेड जोन: मुंबई, ठाणे, पालघर, पुणे, नागपुर, रायगढ़, सांगली और औरंगाबाद।

ऑरेंज जोन: रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग, सातारा, कोल्हापुर, नाशिक, अहमदनगर, जलगांव, उस्मानाबाद, बीड, जालना, हिंगोली, लातूर, अमरावती, अकोला, यवतमाल, बुलढाणा, वाशिम और गोंदिया।

ग्रीन जोन: धुले, नंदुरबार, सोलापुर, परभणी, नांदेड़, वर्धा, चंद्रपुर, भंडारा और गढ़चिरौली शामिल हैं।

यह तस्वीर नागपुर की है। यहां लॉकडाउन का नियम तोड़ने वालों को रोकने के लिए आरएसएस के कार्यकर्ता भी सड़कों पर उतर गए हैं।

कोरोना अपडेट्स:

  • मुंबई के धारावी में रविवार को 15 नए केस सामने आए हैं। इसी के साथ यहां कुल मरीजों की संख्या बढ़कर 43 हो गई है। अब तक यहां संक्रमण से चार लोगों की मौत भी हो चुकी है। इसमें दो तब्लीगी जमात से जुड़े हुए थे। शनिवार से यहां घर-घर स्क्रीनिंग की जा रही है। पूरे इलाके की ड्रोन से निगरानी की जा रही है।
  • मुंबई के दादर में दो नए मरीज मिले हैं। यहां कुल संक्रमितों की संख्या 13 पहुंच गई है। इसके आलवा नासिक से सटे मालेगांव में पांच नए मरीज मिले हैं , इसके साथ यहां कुल मरीजों की संख्या 16 हो गई है।
  • राज्य सरकार के मुताबिक, मुंबई में 3 फरवरी से लोगों की जांच शुरू की गई। 10 अप्रैल तक यहां 19 हजार 541 लोगों की जांच हो चुकी थी। मुंबई में प्रति 10 लाख पर 1499 लोगों की अब तक जांच हुई है। यह औसत देश में सर्वाधिक है। देश सबसे पहला कोरोना मरीज केरल में मिला था, वहां अब तक 13 हजार लोगों की जांच हुई है। यहां प्रति 10 लाख में जांच का औसत 398 है। यह राज्य जांच के मामले में देश में दूसरे नंबर पर है। इसके बाद दिल्ली का नंबर आता है।
  • शनिवार को महाराष्ट्र में संक्रमण से 17 लोगों की मौत हुई। इसमें मुंबई में 12, पुणे में तीन और धुले और मालेगांव में एक-एक की जान गई। मृतकों में 11 पुरुष और 6 महिलाएं थीं। इनमें छह मृतकों की उम्र 60 साल से अधिक थी। आठ की उम्र 40 से 60 साल के बीच जबकि तीन की उम्र 40 से कम है।
  •  शनिवार शाम तक राज्य में कुल 127 संक्रमितों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा, महाराष्ट्र में शनिवार को संक्रमण के 187 नए केस सामने आए थे।
नागपुर में लॉकडाउन को प्रभावी बनाने के लिए कई मोहल्लों को पूरी तरह से सील कर दिया गया है।
यह तस्वीर मुंबई के बांद्रा-वर्ली सी लिंक की है।

जनता के रुख पर तय होगा 30 अप्रैल के बाद लॉकडाउन
30 अप्रैल के बाद भी क्या लॉकडाउन जारी रहेगा। इस पर शनिवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि यह जनता पर निर्भर करता है। फिलहाल उस वक्त के हालात देखकर सरकार निर्णय लेगी। उधर, लॉकडाउन के चलते ईस्टर के मौके के बावजूद मुंबई के सभी गिरिजाघरों को बंद रखा गया है। इनमें माहिम स्थित सेंट माइकल चर्च भी शामिल है। यह पहली बार है जब इस चर्च में ईस्टर की सामूहिक प्रार्थना नहीं होगी। इसके बाद कुछ लोग चर्च के बाहर ही प्रार्थना करते नजर आए। ऐसा ही हाल पुणे, नागपुर और नासिक के चर्चों में भी देखने को मिले हैं।

मुंबई में ईस्टर के मौके पर लोगों ने चर्च के बाहर गेट से ही प्रार्थना की। 
बांद्रा के कलानगर इलाके को सील कर दिया गया है और यहां पुलिस बल तैनात किया गया है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

प्रधानमंत्री आज शाम 6 बजे देश के नाम संदेश देंगे, कोरोनाकाल में ये उनका 7वां संबोधन होगा

Hindi NewsNationalPrime Minister Narendra Modi Will Deliver The Name Of The Country At 6 Pm Today, PMO Tweetedनई दिल्ली3 मिनट पहलेकॉपी लिंककोरोनाकाल में यह...

नेशनल कैम्प छोड़कर 10 दिन पहले लंदन पहुंचीं सिंधु बोलीं- मेरा परिवार या अपने कोच से कोई विवाद नहीं, ट्रेनिंग के लिए लंदन आई

Hindi NewsSportsPV Sindhu In London News Update; Father PV Ramana Speaks On Her Daughter Practice In Hyderabadनई दिल्ली18 मिनट पहलेकॉपी लिंकपीवी सिंधु हैदराबाद में...