Home राष्ट्रीय 81 साल की उम्र, शुगर, बीपी हाई, हार्ट अटैक और ऊपर से...

81 साल की उम्र, शुगर, बीपी हाई, हार्ट अटैक और ऊपर से कोरोना, सबको दी कुलविंत निर्मल ने मात

  • ठीक हो चुके पंजाब के 14 लोगों सबसे ज्यादा उम्र की महिला, डॉक्टरों और नर्सों को कहा-थैंक यू
  • लोगों से संक्रमण से बचने के लिए घर में रहने का आग्रह किया, सीएम ने खुद शेयर किया वीडियो

हलचल टुडे

Apr 09, 2020, 08:58 PM IST

जालंधर/मोहाली. वर्षीय महिला गुरुवार को लोगों से खुद को संक्रमण से बचाने के लिए घर में रहने का आग्रह करती नजर आई। इससे पहले की कहानी कुछ इस तरह है कि शुगर, हाई ब्लड प्रेशर, हृदयरोग और ऊपर से कोरोना का संक्रमण। इन सबके बावजूद बुजुर्ग कुलवंत निर्मल ने हौसला दिखाया। पंजाब में संक्रमण के खौफ से निकलने वाली इतनी बड़ी उम्र की पहली महिला हैं। उनके इस हौसले को सलाम करते हुए खुद मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपने ट्विटर पर वीडियो शेयर किया है।

टाईसिटी की पहली संक्रमित युवती की सहेली इसी मकान में रहती है
डिस्चार्ज हो चुकी कुलवंत निर्मल इंग्लैंड से लौटी ट्राईसिटी की पहली कोरोना संक्रमित युवती के साथ अप्रत्यक्ष संपर्क में आने के चलते संक्रमित हुईं थी। दरअसल, उसकी एक सहेली इनके फ्लैट में किरायेदार थी, जिससे उन्हें कोरोना हुआ। बेटे गुरमिंदर सिंह का कहना है, ‘हम घर पर क्वारैंटाइन थे और मां मोहाली के मैक्स सुपरस्पेशलियटी अस्पताल में। आपस में मिलने का कोई साधन नहीं था। अस्पताल के डॉक्टर दीपक भसीन लगातार हमें उनके बारे में अच्छे तरीक़े से अपडेट देते थे। वैसे तो उनकी मां शुरू से ही पाजिटिव मूड में थीं, पर जब हम सबका टेस्ट निगेटिव आया तो मां मनोबल और भी बढ़ गया’।

वहीं डॉक्टर दीपक भसीन का कहना है कि वह काफी पॉजिटिव थीं। उन्हें भरोसा था कि वह ठीक हो जाएंगी। इलाज करने वाली टीम में भी अपनी जिंदादिली से जोश भर देती थीं। इसी का नतीजा है कि वह सकुशल होकर घर लौटी हैं। डॉक्टर ने उनके इलाज से जुड़े कई पहलू भी शेयर किए।

40 साल स्टाफ नर्स के रूप में काम किया

डॉ. भसीन ने बताया कि कुलवंत कौर ने चालीस साल स्टाफ नर्स के रूप में काम किया है। वह चंडीगढ़ के सरकारी अस्पताल से रिटायर हुई थीं। उनके घर कोई विदेश से आया था। उसी के संपर्क में आने से वह कोरोना की शिकार हुई थीं। हालांकि जब यह अस्पताल पहुंची तो यह अस्पताल के लिए काफी संवेदनशील मरीज थीं, क्योंकि वह पहले ही हार्ट डिजीज, हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज से यह पीड़ित थीं। उम्र भी 81 साल है। कोविड के सबसे घातक लक्षण उनमें थे। रिस्क काफी था, लेकिन खुद पर भरोसे और जिंदादिली के कारण दो हफ्ते के बाद वह आखिर स्वस्थ होकर घर लौट गईं। 

शुगर कंट्रोल करने में आई थोड़ी दिक्कत

डॉ. भसीन के मुताबिक कुलवंत निर्मल के इलाज की शुरुआत में शुगर कंट्रोल करने से लेकर अन्य दिक्कतों पर काबू किया। इसके बाद इलाज में उन्हें कोई दिक्कत नहीं आई। वह अस्पताल में बड़े प्यार से रहीं। उनकी टीम ने दो टेस्ट किए, जो निगेटिव आए। इसके बाद अब सकुशल होकर लौटी थी।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

ग्रेटर नोएडा के पास स्थित बिसरख गांव में हुआ था रावण का जन्म, यहां के लोग रावण को मानते हैं गांव का बेटा

Hindi NewsJeevan mantraDharmBirth Place Of Ravana, Bisarakh Villages And Facts, Bisarakh Villages Neas Noida, Ravana Was Born In Bisarkh Villageएक घंटा पहलेबिसरख गांव में...

2 नवंबर को ग्लोबली लॉन्च होगी रियलमी वॉच एस, जानिए फीचर्स और स्पेसिफिकेशन

Hindi NewsTech autoRealme Watch S With Blood Oxygen Monitor And A 15 Day Battery Life To Launch On November 2नई दिल्ली7 मिनट पहलेकॉपी लिंकवॉच...

इस बार चुनाव के 9 दिन पहले ही 5.9 करोड़ वोट पड़े, 2016 में कुल प्री पोल बैलट्स 5.7 करोड़ थे

वाॅशिंगटन2 घंटे पहलेकॉपी लिंकअमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शनिवार को फ्लोरिडा में वोट डाला था। यहां एक लाइब्रेरी को वोटिंग बूथ बनाया गया था।...

लेनोवो और रियलमी जैसी कंपनियों को टक्कर दे रही अर्बन प्रो स्मार्टवॉच, इसका लुक चीनी वॉच पर भारी

Hindi NewsTech autoInbase Urban Pro Smartwatch Water resistant With Smart Touch Features First Opinionनई दिल्ली15 मिनट पहलेकॉपी लिंकखुद को फिट रखने के लिए और...