Home रोजगार वर्क फ्रॉम होम के बीच आपको प्रॉडक्टिव बनाए रखेंगे ये टूल्स, वेब...

वर्क फ्रॉम होम के बीच आपको प्रॉडक्टिव बनाए रखेंगे ये टूल्स, वेब एप्स भी होंगे मददगार

हलचल टुडे

Apr 04, 2020, 11:07 AM IST

एजुकेशन डेस्क. कोविड-19 से बचाव के उपाय करते हुए अब पूरी दुनिया के छोटे-बड़े ऑफिसेज में वर्क-फ्रॉम होम को बड़े पैमाने पर तवज्जो दी जा रही है और कंपनीज इसके लिए सभी जरूरी कदम भी उठा रही हैं। लेकिन घर पर काम करते हुए ऑफिस जैसा शेड्यूल फॉलो करना एक चुनौती भरा टास्क हो सकता है। हालांकि टेक्नोलॉजी ने इसे काफी हद तक आसान बना दिया है। ऐसे में अगर आपको अपने ऑफिस के काम के दौरान कलीग्स के साथ कनेक्ट होने और काम को ट्रैक करने की जरूरत हो या जरूरी फाइल्स को अपने साथियों के साथ शेयर करना हो तो ऐसे कई कोलैबोरेशन ऐप्स हैं जो रिमोट वर्किंग के दौरान आपको अपनी प्रॉडक्टिविटी बनाए रखने और आसानी से काम पूरे करने में मदद कर सकते हैं।

ये ऐप्स कर सकते हैं खास मदद

स्लैक

कंपनीज का पसंदीदा है स्लैक
कंपनीज द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले सबसे लोकप्रिय कोलैबोरेशन ऐप्स में से एक है स्लैक। इसकी मदद से आप मैसेजिंग से लेकर वॉइस और वीडियो कॉल्स तक कर सकते हैं और यहां तक कि अपने डॉक्यूमेंट्स की शेयरिंग और एडिटिंग में भी मदद ले सकते हैं। इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसे आप कई प्रकार के डिवाइसेज में इस्तेमाल कर सकते हैं। कई कॉम्प्लेक्स सर्विसेज को इंटीग्रेट करने के लिए स्लैक में आपको एप्लिकेशन प्रोग्रामिंग इंटरफेस भी मिल जाता है। यह आईओएस, एंड्रॉइड और विंडोज के लिए फ्री और पेड वर्जन्स में उपलब्ध है।

बेसकैंप 3

प्रोजेक्ट मैनेज करें बेसकैंप 3 से
इस ऐप में आपको प्रोजेक्ट मैनेजमेंट के लिए मैसेज बोर्ड, टु-डू लिस्ट, शेड्यूल्स, डॉक्स, फाइल स्टोरेज, रियल टाइम ग्रुप चैट और ऑटोमैटिक चेक-इन क्वेशचंस जैसे कई महत्वपूर्ण फीचर्स मिलते हैं। यूजर्स चाहें तो इस ऐप में प्रोजेक्ट से जुड़े थर्ड पार्टी टूल्स जैसे कि टाइम ट्रैकर को भी एड कर सकते हैं। यह एंड्रॉइड, आईओएस, विंडोज और मैक के लिए फ्री और पेड वर्जन्स में उपलब्ध है।

जूम

बड़ी मीटिंग्स के लिए है जूम
जूम एक मीटिंग ऐप है जिसके जरिए आप 100 लोगों के साथ बेहतरीन क्वालिटी की स्क्रीन और फेस-टु-फेस वीडियो शेयर कर सकते हैं। साथ ही यह आपको इंस्टेंट मैसेजिंग की सुविधा भी देता है। संक्षेप में कहें तो यह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग, ऑनलाइन मीटिंग और ग्रुप मैसेजिंग को आसान एप्लिकेशन में उपलब्ध करवाता है। एंड्रॉइड, आईओएस और विंडोज के लिए यह फ्री में उपलब्ध है।

हैंगआउट

जी सूइट यूजर के लिए हैंगआउट
अगर आप जी सूइट इस्तेमाल करते हैं तो गूगल का हैंगआउट्स मीट आपके लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का एक बेहतरीन टूल साबित हो सकता है। यहां आप अपने लैपटॉप या मोबाइल एप के जरिए वेब लिंक से मीटिंग्स में शामिल हो सकते हैं। अगर आपकी कंपनी जी सूइट इस्तेमाल करती है तो आप गूगल कैलेंडर इनवाइट से सीधे लिंक क्रिएट कर सकते हैं। अगर आप जी सूइट के यूजर हैं तो यह आसान बिजनेस चैट्स के लिए एक अच्छा ऑप्शन है।

आईक्लाउड

फाइल्स की एक्सेस कहीं से भी
अगर आप अपने घर और ऑफिस के बीच अपनी फाइल्स को सिंक करने के लिए कोई ऐप इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं तो अब आपको ऐसा ऐप चुनना होगा जो आपके लिए कारगर हो। इसके कुछ बेहतरीन ऑप्शंस में ड्रॉपबॉक्स (2 जीबी फ्री स्पेस), गूगल ड्राइव (15 जीबी फ्री स्पेस), आईक्लाउड (5 जीबी फ्री स्पेस), वनड्राइव (5 जीबी फ्री स्पेस) और बॉक्स (10 जीबी फ्री स्पेस) जैसे नाम शामिल हैं। फ्री स्पेस काम लेने के बाद आप कुछ रुपए खर्च करके और ज्यादा स्पेस काम ले सकते हैं। ये ऐप्स आपकी फाइल्स को  ऑनलाइन स्टोर करने के अलावा उन सभी डिवाइसेज से सिंक भी करेंगे जहां आपके क्लाइंट एप्स इंस्टॉल्ड होंगे। जो बदलाव आप एक मशीन पर करेंगे वह बाकी सभी कनेक्टेड मशीन्स पर भी हो जाएगा। ऐप का चुनाव आप अपने प्लेटफॉर्म के आधार पर करें, जैसे मैक के लिए आईक्लाउड या विंडोज के लिए वनड्राइव। इन ऐप्स के इस्तेमाल के बाद आपको यूएसबी साथ रखने की जरूरत नहीं होगी। सबसे बड़ी बात यह कि इन्हें आप सफर के दौरान भी यूज कर सकते हैं।

गूगल डॉक्स

वेब एप्स भी मददगार
वर्क फ्रॉम होम के दौरान वेब ऐप्स आपके लिए काफी काम के साबित हो सकते हैं। उदाहरण के तौर पर माइक्रोसॉफ्ट वर्ड की तुलना में आप देखेंगे कि गूगल डॉक्स ब्राउजर में लोड होने में काफी कम समय लेता है। गूगल का ऑप्शन तेज, फ्री और वेब कनेक्शन वाले किसी भी कम्प्यूटर के लिए उपलब्ध है। ऑफिस में आप जो डेस्कटॉप एप्लिकेशंस काम लेते हैं उनके कुछ ऑनलाइन विकल्प भी मौजूद हैं। यहां तक कि माइक्रोसॉफ्ट ने भी वर्ड, एक्सेल और पावरपॉइंट के वेब वर्जन्स डेवलप किए हैं जिन्हें आप फ्री में काम ले सकते हैं। जहां कलीग्स के साथ संपर्क में रहने के लिए वर्कप्लेस चैट ऐप स्लैक और काम के दौरान खुद को एंटरटेन करने के लिए म्यूजिक प्लेटफॉर्म स्पॉटिफाई वेब पर उपलब्ध हैं, वहीं एप्पल, गूगल और माइक्रोसॉफ्ट के ऑफिस ऐप्स आपके लिए खास मददगार होंगे जो आपकी फाइल्स को ऑटोमैटिकली उपलब्ध करवा देंगे।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular