Home रोजगार 10वीं-12वीं की परीक्षा को लेकर बोर्ड ने जारी किया नोटिफिकेशन, पढ़े स्टूडेंट्स...

10वीं-12वीं की परीक्षा को लेकर बोर्ड ने जारी किया नोटिफिकेशन, पढ़े स्टूडेंट्स और पैरेंट्स के लिए जरूरी कुछ सवालों के जवाब

हलचल टुडे

Apr 07, 2020, 10:11 AM IST

देशभर में जारी कोरोना के खिलाफ जंग के मद्देनजर 21 का लॉकडाउन किया गया है।  इसके कारण पढ़ाई पर भी खासा असर पड़ रहा है। सीबीएसई,आईसीएसई समेत लगभग सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाएं भी स्थगित कर दी गई है। ऐसे में स्टूडेंट्स और पैरेंट्स परीक्षाओं और रिजल्ट को लेकर उलझन में है। मौजूदा हालात को देखते हुए सभी के मन में कई तरह के सवाल उठ रहे है। इसी सिलसिले में सीबीएसई ने अपनी ऑफिशियल वेबसाइट पर स्टूडेंट्स और पैरेंट्स के मन में उठ रहे सवालों के जवाब दिए हैं।

सवाल: मैं कक्षा ग्यारहवीं का छात्र हूं और मुझे मेरे खराब परफॉर्मेंस की वजह से मुझे 11वीं में ही रोक लिया गया है, जबकि मेरे अन्य दोस्तों को पुराने रिजल्ट के आधार पर अगली कक्षा में भेज दिया गया?

जवाब: सभी स्कूलों में 9वीं और 11वीं पढ़ रहे स्टूडेंट्स को स्कूल बेस्ड असेसमेंट, प्रोजेक्ट वर्क, टर्म टेस्ट आदि के आधार पर अगली कक्षा में भेजा जाए। साथ ही अगर कोई बच्चा इंटरनल असेसमेंट क्वालीफाई करने से चूक गया है तो स्कूल उसे दोबारा यह परीक्षा दिलाने की व्यवस्था करें। सीबीएसई के यह निर्देश भारत और विदेश स्थित सीबीएसई के सभी स्कूलों पर लागू होगा।

सवाल: 1 अप्रैल को सीबीएसई की तरफ से जारी किए गए प्रेस रिलीज के क्लॉज नंबर 5 के मुताबिक विदेश स्थित सीबीएसई स्कूलों में 10वीं और 12वीं की बाकी परीक्षाएं दोबारा आयोजित नहीं की जाएगी। ऐसे में विदेश के 250 स्कूलों में पढ़ रहे 12वीं के बच्चों के रिजल्ट पर इसका क्या प्रभाव पड़ेगा?

जवाब: जानकारी के मुताबिक मिडिल ईस्ट कंट्रीज में लंबे समय तक लिए सभी स्कूलों को बंद कर दिए गए हैं। जबकि कुवैत में 3 अगस्त तक के लिए स्कूल बंद है। इसी तरह ईरान, जापान, नाइजीरिया आदि में भी सभी स्कूल बंद है। ऐसे में परीक्षा में कई दिन लग सकते हैं, जिसकी वजह से कॉलेज में एडमिशन लेने वाले स्टूडेंट्स को काफी देर हो सकती है। इसीलिए विदेशों में स्थित सीबीएसई स्कूल के सभी स्टूडेंट्स के रिजल्ट एक तय क्राइटेरिया के आधार पर बनाया जाएगा इसके साथ ही सीबीएसई सभी स्टूडेंट्स को एक पासिंग डॉक्यूमेंट भी जारी करेगी, जो भविष्य में उनके काम आ सके।

सवाल: विदेश की सीबीएसई स्कूलों में पढ़ रहे कई एनआरआई स्टूडेंट्स उच्च शिक्षा के लिए भारत आने की योजना बना रहे हैं। ऐसे में मौजूदा हालात उनके कॉलेज एडमिशन पर किस तरह प्रभाव डाल सकता है? साथ ही साथी जेईई एग्जाम में भी क्वालीफाई करने के लिए न्यूनतम 75% मार्क्स जरूरी होते हैं, ऐसे में इस पर क्या असर होगा?

जवाब: प्रश्न के जवाब के लिए ऊपर दिए गए प्रश्न संख्या दो के जवाब को देखें। साथ ही सीबीएसई इन स्कूलों में पढ़ रहे स्टूडेंट्स के लिए जल्द ही बोर्ड रिजल्ट तैयार करके जानकारी देगा।

सवाल: एंट्रेंस एग्जाम दे रहे स्टूडेंट्स के लिए सेंटर के आवंटन से जुड़ी जानकारी के लिए एक पोर्टल खोला जाए क्योंकि अलग-अलग जगहों पर रह रहे स्टूडेंट्स को आवंटित किए गए एग्जाम सेंटर पर पहुंचने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है?

जवाब: ऐसी समस्याओं से जुड़े सवालों को नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के पास भेजा गया है। इससे जुड़ी किसी भी जानकारी के लिए एनटीए से सीधा संपर्क करें।

सवाल: मैं कक्षा 12वीं का छात्र हूं और मेरा परीक्षा केंद्र दिल्ली के नॉर्थ-ईस्ट इलाके में स्थित है। मैंने अपना इकोनॉमिक्स और पॉलिटिकल साइंस का पेपर पहले ही दे दिया है, लेकिन सीबीएसई की तरफ से जारी किए गए नोटिस के अनुसार यह दो परीक्षाएं दोबारा आयोजित की जाएगी। ऐसे में मुझे फिर से इन परीक्षा में उपस्थित होना है या नहीं?

जवाब: इन परीक्षाओं में एक बार शामिल हो चुके विद्यार्थियों को दोबारा परीक्षा में उपस्थित होने की आवश्यकता नहीं है। यह परीक्षा दोबारा ऐसे स्टूडेंट्स के लिए आयोजित की जा रही है, जो किसी वजह से इन परीक्षाओं को देने से वंचित रह गए थे।

सवाल: जैसा कि सीबीएससी 12वीं का मैथ्स का पेपर नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली में दोबारा आयोजित करवा रही है। क्या इसमें कुवैत के स्टूडेंट्स भी शामिल हो सकते है?

जवाब: जानकारी के अनुसार कुवैत में 3 अगस्त 2020 तक सभी स्कूल बंद है। इसी तरह मिडिल ईस्ट कंट्रीज में भी लंबे समय के लिए स्कूलों को बंद कर दिया गया है। ऐसे में 3 अगस्त के बाद आयोजित की गई परीक्षा में शामिल होने से स्टूडेंट्स को आगे संस्थानों में एडमिशन लेने काफी देरी हो सकती है।

सवाल: सीबीएसई की तरफ से जारी नोटिफिकेशन के मुताबिक पहली से आठवीं, नौवीं और 11वीं के स्टूडेंट्स को अगली क्लास में प्रमोट किया जाएगा? क्या यह रूल 2020 के बाद भी लागू रहेगा।

जवाब: मौजूदा समय में कोरोनावायरस के कारण दुनिया भर में बने हालात और देश में चल रहे लॉकडाउन के कारण यह निर्णय लिया गया है, जो केवल 2020 में ही मान्य रहेगा।

सवाल: सीबीएसई के दिशा निर्देश के मुताबिक पहली से आठवीं, 9वीं और 11वीं के बच्चों को अगली कक्षा में प्रोन्नत करने का आदेश किन स्कूलों पर लागू होगा?

जवाब: इन दिशा निर्देशों का पालन केंद्रीय विद्यालय, नवोदय विद्यालय, राज्य एवं केंद्र शासित राज्य के सरकारी/ प्राइवेट स्कूल और सीबीएसई से संबध्द देश और विदेश में स्थित स्कूलों को करना होगा।

सवाल: कक्षा पहली से आठवीं तक के बच्चों को किस पॉलिसी के तहत प्रमोट किया जाएगा?

जवाब: पहली से आठवीं तक के सभी बच्चों को अगली कक्षा में प्रमोट किया जाएगा। इसके लिए एनसीईआरटी के साथ विचार-विमर्श भी किया गया है।

सवाल: कक्षा 9वी से 11वीं के बच्चों के लिए किस प्रमोशन पॉलिसी का पालन किया जाएगा?

जवाब: सभी स्कूलों में 9वीं और 11वीं पढ़ रहे स्टूडेंट्स को स्कूल बेस्ड असेसमेंट, प्रोजेक्ट वर्क, टर्म टेस्ट आदि के आधार पर अगली कक्षा में भेजा जाएगा। साथ ही अगर कोई बच्चा इंटरनल असेसमेंट में क्वालीफाई करने से चूक गया है, तो स्कूल उसे दोबारा यह परीक्षा दिलाने की व्यवस्था करें। सीबीएसई के यह निर्देश भारत और विदेश स्थित सीबीएसई के सभी स्कूलों पर लागू होंगे।

सवाल: बाकी बचे विषयों की बोर्ड परीक्षाएं कब आयोजित की जाएंगी?

जवाब: मौजूदा हालात को देखते हुए फिलहाल 10वीं और 12वीं की बची हुई परीक्षाओं की तारीखों का ऐलान करना मुश्किल है। हालांकि इस बारे में किसी भी तरह का निर्णय लेने के बाद बोर्ड की तरफ से जानकारी साझा की जाएगी। बोर्ड एग्जाम शुरू होने से 10 दिन पहले ही इससे जुड़े सभी लोगों को नोटिस दे दिया जाएगा।

सवाल: 10वीं और 12वीं के बचे विषयों में से किन विषयों की परीक्षा कब आयोजित की जाएगी।

जवाब: सवाल पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

सवाल: क्या 10वीं में छठे विषय के तौर पर पढ़ाए जाने वाले लैंग्वेज सब्जेक्ट की परीक्षा दोबारा आयोजित की जाएगी, यदि उसकी वजह से अगली कक्षा के लिए होने वाला एडमिशन प्रोसेस प्रभावित हो रहा है?

जवाब: नहीं, ऐसे विषयों के लिए बोर्ड एग्जाम आयोजित नहीं करेगा। इन विषयों के लिए बोर्ड असेसमेंट के आधार पर रिजल्ट तैयार करेगा।

सवाल: जिन विषयों की परीक्षा दोबारा आयोजित नहीं की जाएगी क्या उनके मार्क्स मार्क्स शीट में जोड़े जाएंगे?

जवाब: जैसा कि बोर्ड ने नोटिस जारी कर जानकारी दी है कि केवल उन विषयों की ही परीक्षा ली जाएगी जो उच्च शिक्षण संस्थान में एडमिशन के लिए जरूरी होंगी। इसके अलावा बचे हुए विषयों के मार्क्स असेसमेंट के आधार पर बोर्ड की तरफ से जारी किए जाएंगे।

सवाल:  1 अप्रैल को जारी सीबीएसई के प्रेस रिलीज के मुताबिक भारत के बाहर स्थित सीबीएसई स्कूलों में दोबारा परीक्षा आयोजित नहीं की जाएगी। ऐसे में नीट और इंजीनियरिंग एग्जाम के लिए जरूरी 12वीं के नंबर के लिए सीबीएसई की तरफ से क्या समाधान किया जाएगा?

जवाब: जानकारी के मुताबिक मिडिल ईस्ट कंट्रीज में लंबे समय तक लिए सभी स्कूलों को बंद कर दिए गए हैं। जबकि कुवैत में 3 अगस्त तक के लिए स्कूल बंद है। इसी तरह ईरान, जापान, नाइजीरिया आदि में भी सभी स्कूल बंद है। ऐसे में परीक्षा में कई दिन लग सकते हैं, जिसकी वजह से कॉलेज में एडमिशन लेने वाले स्टूडेंट्स को काफी देर हो सकती है। इसीलिए विदेशों में स्थित सीबीएसई स्कूल के सभी स्टूडेंट्स के रिजल्ट एक तय क्राइटेरिया के आधार पर बनाया जाएगा इसके साथ ही सीबीएसई सभी स्टूडेंट्स को एक पासिंग डॉक्यूमेंट भी जारी करेगी, जो भविष्य में उनके काम आ सके।

सवाल: 29 विषयों की दोबारा परीक्षा के साथ ही लैंग्वेज सब्जेक्ट की भी परीक्षा आयोजित की जाएगी?

जवाब: नहीं, 29 मुख्य विषयों की परीक्षा के साथ लैंग्वेज सब्जेक्ट की परीक्षा आयोजित नहीं की जाएगी। बोर्ड ने यह निर्णय लिया है कि इन सब्जेक्ट की परीक्षा आयोजित नहीं होगी। इन विषयों के लिए रिजल्ट तैयार करने की पॉलिसी ऊपर पूछे गए प्रश्न में बताई जा चुकी है।

सवाल: 9वी और 12वीं के बहुत से स्टूडेंट्स सिर्फ फाइनल एग्जाम्स की तैयारी कर रहे थे, ऐसे में क्या पहली से आठवीं के स्टूडेंट्स की ही तरह 9वी और 11वीं के स्टूडेंट्स को भी प्रमोट किया जाएगा?

जवाब: लगभग सभी स्कूलों में 9वी और 11वीं के लिए कंटीन्यूअस एंड एसेसमेंट का सिस्टम बनाया गया है। इसके साथ ही स्कूलों की तरफ से टर्म एंड एग्जाम भी कराए जाते हैं, जिसके आधार पर स्टूडेंट्स का मूल्यांकन किया जाएगा।

सवाल:  सीडब्ल्यूएसएन स्टूडेंट्स जिन्होंने कंप्यूटर साइंस को पांचवें मुख्य विषय के तौर पर चुना है, ऐसे में इस विषय की परीक्षा दोबारा आयोजित ना होने की वजह से इन स्टूडेंट्स के लिए पासिंग क्राइटेरिया क्या होगा?

जवाब: जैसा कि पहले बताया जा चुका है ऐसे स्टूडेंट्स के लिए सीबीएसई की तरफ से स्टूडेंट के हितों को ध्यान में रखते हुए अलग से मूल्यांकन किया जाएगा।

ऑफिशियल नोटिफिकेशन पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

अमेरिका-भारत के बीच अगले हफ्ते सैटेलाइट डेटा को लेकर मिलिट्री डील संभव, दोनों देश 2+2 मीटिंग में कर सकते हैं घोषणा

Hindi NewsInternationalIndia, U.S. Set For Military Pact On Satellite Data For Better Accuracy Of Missiles And Dronesवॉशिंगटनएक घंटा पहलेकॉपी लिंकअगले हफ्ते नई दिल्ली में...

बिक्री की उम्मीद से कारोबारियों ने बनाया बफर स्टॉक, इस साल का स्टॉक लेवल बीते पांच सालों के उच्च स्तर पर

Hindi NewsBusinessBusinessmen Build Buffer Stock On Expectation Of Sales, This Year's Stock Level At Five year Highनई दिल्ली5 घंटे पहलेकॉपी लिंकअप्रैल से अब तक...

कभी भीख मांगकर गुजारा करने को मजबूर थे कादर खान, गरीबी के कारण हफ्ते में तीन दिन सोना पड़ता था खाली पेट

5 घंटे पहलेकॉपी लिंकचाहे कॉमेडी हो या विलेन का किरदार, बॉलीवुड की कई हिट फिल्मों में अपनी दमदार अदाकारी का जलवा बिखेरने वाले कादर...

कोरोना संक्रमण से कैदी की मौत, परिजनों का आरोप- अंतिम संस्कार के लिए निगम कर्मचारी को देने पड़े पैसे

Hindi NewsLocalMpJabalpurPrisoner Death Due To Corona Infection, Family Charges Money Paid To Corporation Employee For Funeralजबलपुर17 मिनट पहलेकॉपी लिंकपीडि़त परिवार ने आरोप लगाए कि...