Home हैप्पी लाइफ सिंगापुर में बिकेगा लैब में बना चिकन मीट, इसे बनाने में जानवरों...

सिंगापुर में बिकेगा लैब में बना चिकन मीट, इसे बनाने में जानवरों को मारने की जरूरत नहीं, दावा; यह सेफ है

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐप

एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
  • इसे तैयार करने वाले स्टार्टअप ईट जस्ट का दावा, 2050 तक 70% तक मीट की खपत बढ़ेगी
  • कहा- लैब में तैयार मीट एक सुरक्षित विकल्प साबित होगा और यह आसानी से उपलबध होगा

अब मीट के लिए जानवरों को मारने की जरूरत नहीं। सिंगापुर के रेस्तरां में जल्द ही लैब में तैयार हुआ चिकन मीट से तैयार डिशेज खाने का मौका मिलेगा। सिंगापुर की फूड एजेंसी ने लैब में तैयार इस मीट को सुरक्षित बताया और बाजार में उतारने की परमिशन दे दी है।

प्रीमियम कीमतों पर मिलेगा ‘चिकन मीट’

अमेरिकी स्टार्टअप ईट जस्ट ने लैब में सेल कल्चर की मदद से मीट को तैयार किया। ईट जस्ट के सीईओ जोश टैट्रिक का कहना है, जल्द ही सिंगापुर के रेस्तरां में हमारे मीट से तैयार प्रोडक्ट मिलेंगे। फिलहाल यह मीट प्रीमियम कीमतों पर मिलेगा लेकिन प्रोडक्शन बढ़ने पर इसकी कीमतों में गिरावट हो सकती है।

चीजों को इकोफेंडली बनाने की कोशिश
जोश टैट्रिक का कहना है, दुनियाभर में इकोफ्रेंडली चीजें तैयार हो रही है। हम बतौर फूड इंडस्ट्री खुद को भी इसी तरह विकसित कर रहे हैं। पहली बार सिंगापुर के रेस्तरां में कल्चर मीट से तैयार डिशेज उपलब्ध होंगी।

दावा- यह सेफ मीट का बेहतर विकल्प

जोश के मुताबिक, सामान्य मीट की खपत बढ़ाने पर इसका सीधा असर पर्यावरण पर पड़ता है। एक्सपर्ट्स भी चेतावनी दे रहे हैं। ग्राहकों की ओर से बढ़ते दबाव को देखते हुए मीट का दूसरा विकल्प उपलब्ध होना जरूरी है। 2050 तक 70 फीसदी तक मीट की खपत बढ़ जाएगी। ऐसे में लैब में तैयार मीट एक सुरक्षित विकल्प साबित होगा।

ये भी पढ़ें

बघेल लोग गुजरात से सतना आए, तो साथ लाए खान-पान की आदतें और खास रेसिपीज

पूरे गुजरात में फरसाण का मिलेगा अलग-अलग स्वाद, लहसुन, लाल मिर्च और नमक का तड़का बनाता है इसे खास

बाजार में मिलने वाले आम नमक से कम खारा होता है नागालैंड का खास मिनरल सॉल्ट

Source link

Most Popular

क्रिसमस डे पर चर्च पहुंचे पीएम मोदी? एक साल पुरानी फोटो गलत दावे से वायरल

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपएक महीने पहलेकॉपी लिंकक्या हो रहा है वायरल: सोशल मीडिया पर...

दतिया-शिवपुरी के बाद जौरा में भी मिले 2 मृत कबूतर, जांच के लिए भोपाल भेजा दोनों का बिसरा

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपमुरैना/जौरा13 दिन पहलेकॉपी लिंकजौरा में मृत मिले कबूतर।दतिया-शिवपुरी व श्योपुर के...

चंंबल वाटर प्रोजेक्ट, उसैद घाट पुल व आसन बैराज के लिए बजट नहीं, अप्रैल में मिला तो सितंबर में काम शुरू होगा

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें हलचल टुडे ऐपमुरैना13 दिन पहलेकॉपी लिंकचंबल नदी, जहां मुरैना तक पानी पहुंचाने बनाया...